उद्धव को एक और झटका, स्पीकर ने लोकसभा में शिंदे गुट के राहुल शेवाले को शिवसेना नेता के रूप में दी मान्यता, दुबई की महिला ने लगाए रेप के आरोप

Last Updated: बुधवार, 20 जुलाई 2022 (00:49 IST)
हमें फॉलो करें

नई दिल्ली। महाराष्ट्र विधानसभा के बाद उद्धव ठाकरे नीत शिवसेना को मंगलवार को एक और झटका लगा जब उसके 19 लोकसभा सदस्यों में से 12 ने मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे के प्रति निष्ठा दिखाई और राहुल शेवाले को निचले सदन में अपना नेता घोषित कर दिया।
लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने शिवसेना के बागी सांसद राहुल शिवले को संसद के निचले सदन में पार्टी का नेता नियुक्त किया है। लोकसभा सचिवालय से देर रात जारी सर्कुलर में इस फैसले को अधिसूचित किया गया।

शिवसेना के बागी गुट के नेता शेवाले ने दावा किया कि उन्होंने ठाकरे की इच्छा के अनुसार भाजपा के साथ गठबंधन किया है, जो खुद पिछले साल जून में इसी तरह के प्रयास कर रहे थे लेकिन बाद में पीछे हट गए थे। हालांकि, शिवसेना के ठाकरे धड़े ने शेवाले के दावों को खारिज किया। 12 लोकसभा सदस्यों ने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला को भी पत्र लिखकर दो बार सांसद रहे शेवाले को अपना नेता घोषित करते हुए विनायक राउत पर अविश्वास व्यक्त किया और पांच बार की सदस्य भावना गवली को मुख्य सचेतक के रूप में बनाए रखा।

यह पत्र ठाकरे खेमे द्वारा अध्यक्ष को पत्र लिखे जाने के एक दिन बाद आया जिसमें कहा गया था कि विनायक राउत लोकसभा में पार्टी के नेता हैं और राजन विचारे मुख्य सचेतक हैं। इसने अध्यक्ष से प्रतिद्वंद्वी गुट के किसी भी निवेदन पर विचार नहीं करने का भी आग्रह किया था।

शिंदे ने 12 लोकसभा सदस्यों के साथ एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए दावा किया कि लोकसभा अध्यक्ष ने निचले सदन में शेवाले को शिवसेना नेता के रूप में मान्यता दे दी है। हालांकि इस संबंध में लोकसभा अध्यक्ष कार्यालय की ओर से कोई पुष्टि नहीं की गई।

शिंदे ने जोर देकर कहा कि 12 लोकसभा सदस्य बालासाहेब ठाकरे के आदर्शों का पालन कर रहे हैं और वे असली शिवसेना हैं। यह भी पता चला है कि गुट ने संसद में संसदीय दल के कार्यालय पर भी दावा पेश किया है। शिंदे ने कहा कि शिवसेना के 12 लोकसभा सदस्यों द्वारा हमें समर्थन देने के लिए उठाए गए कदम का मैं स्वागत करता हूं। हमारे रुख (भाजपा के साथ गठबंधन के) को 50 विधायकों ने समर्थन दिया। हमें पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ-साथ राज्य के लोगों का भी समर्थन मिला।

मुंबई दक्षिण मध्य से दो बार सांसद रहे शेवाले ने कहा कि शिवसेना के सांसदों ने पिछले साल जून में ठाकरे को भाजपा के साथ इस आधार पर फिर से जुड़ने के लिए कहा था कि अगर कांग्रेस और राकांपा के साथ गठबंधन जारी रहा तो उनके लिए 2024 का संसदीय चुनाव जीतना मुश्किल होगा।

शेवाले ने दावा किया कि ठाकरे ने शिवसेना के सांसदों से कहा था कि वह भी भाजपा के साथ फिर से जुड़ने के इच्छुक हैं और पिछले साल उस दिशा में काफी प्रयास किए थे। हालांकि, पिछले साल जुलाई में महाराष्ट्र विधानसभा से 12 भाजपा विधायकों को एक साल के लिए निलंबित किए जाने के फैसले ने भाजपा के साथ गठबंधन को बहाल करने की शिवसेना की इच्छा की ईमानदारी के बारे में भाजपा में संदेह पैदा कर दिया।

उन्होंने कहा कि ठाकरे ने सांसदों को तीन विकल्प दिए थे - भाजपा के साथ गठबंधन, अकेले जाना और कांग्रेस तथा राकांपा के साथ महाराष्ट्र विकास अघाड़ी गठबंधन जारी रखना। शेवाले ने कहा कि हमने ठाकरे द्वारा सुझाए गए पहले विकल्प को ही चुना है। शिवसेना के ठाकरे गुट ने इस दावे को खारिज किया।

पार्टी की राज्यसभा सदस्य प्रियंका चतुर्वेदी ने कहा कि सांसदों की बैठक में श्री उद्धव जी के पिछले गठबंधन में वापस लौटने की कोई बात नहीं थी, इसलिए यह छल को सही ठहराने के लिए आक्षेप है। लोकसभा में शिवसेना के 19 सदस्य हैं, जिनमें दादरा और नगर हवेली से एक और राज्यसभा में इसके तीन सदस्य हैं। शिंदे को समर्थन देने वाले सदस्यों में शेवाले, भावना गवली, सदाशिव लोखंडे, हेमंत गोडसे, हेमंत पाटिल, राजेंद्र गावित, संजय मंडलिक, श्रीकांत शिंदे, श्रीरंग बार्ने, प्रतापराव जाधव, धैर्यशील माने और कृपाल तुमाने शामिल हैं।

ठाकरे के साथ लोकसभा सदस्य विनायक राउत, राजन विचारे, ओमराजे निंबालकर, संजय जाधव, गजानन कीर्तिकर, अरविंद सावंत और कलाबेन डेलकर हैं। राज्यसभा सदस्य संजय राउत, अनिल देसाई और चतुर्वेदी ठाकरे के साथ हैं। इस बीच, महाराष्ट्र में पुलिस ने शिवसेना सांसद कृपाल तुमाने और कुछ अन्य शिवसेना सांसदों के कार्यालय की सुरक्षा कड़ी कर दी है।

दुबई की महिला ने लगाया रेप का आरोप : दुबई निवासी 33 वर्षीय एक महिला ने शिवसेना सांसद राहुल शेवाले के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज किए जाने का आग्रह किया है और आरोप लगाया है कि उन्होंने शादी का झांसा देकर उसके साथ बलात्कार किया। महिला ने अपनी शिकायत महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे को ट्वीट की।

वहीं, शेवाले की पत्नी कामिनी ने अपने पति पर महिला द्वारा लगाए गए आरोप को खारिज किया और कहा कि यह 25 साल से अधिक समय से सामाजिक और राजनीतिक जीवन में सक्रिय उनके सांसद पति की छवि खराब करने के लिए "जानबूझकर की जा रही साजिश" है। कपड़ा व्यवसाय से जुड़ी महिला ने अपनी शिकायत में आरोप लगाया है कि मुंबई पुलिस ने पूर्व में उसका बयान दर्ज करने के बावजूद प्राथमिकी दर्ज नहीं की थी।

मुंबई पुलिस के एक अधिकारी ने मंगलवार को कहा कि महिला ने आरोप लगाया है कि शेवाले 2020 से "भावनात्मक और मानसिक रूप से उसका शोषण" तथा उसके साथ बलात्कार करते रहे हैं। महिला ने आरोप लगाया कि शेवाले ने यह कहकर उसके साथ शारीरिक संबंध बनाए कि उनके अपनी पत्नी के साथ संबंध तनावपूर्ण हैं। शिकायत में महिला ने आरोप लगाया कि शिंद ने उससे कहा कि उनका अपनी पत्नी से जल्द ही तलाक हो जाएगा और इसके बाद वह उससे (शिकायतकर्ता) शादी कर लेंगे।

महिला ने पीटीआई को फोन पर कहा कि
"जब भी मैं दुबई से आती थी, सांसद मुझे दिल्ली के एमपी हाउस में रात के खाने के लिए आमंत्रित करते थे। अक्टूबर 2021 में, मैंने इंस्टाग्राम पर अपना और शेवाले का एक वीडियो एवं फोटो पोस्ट किया था, जिसके बाद उन्होंने शारजाह में मेरे खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई और मुझे गिरफ्तार कर लिया गया। मैंने 78 दिन जेल में बिताए लेकिन बाद में मुझे बरी कर दिया गया।"

मुंबई दौरे पर आई महिला ने दावा किया कि उसने इस साल अप्रैल में साकीनाका थाने में शेवाले के खिलाफ बलात्कार की शिकायत दर्ज कराई थी लेकिन आगे कोई कार्रवाई नहीं की गई। महिला ने कहा, "मुझे पता चला कि साकीनाका पुलिस ने शेवाले की शिकायत पर मेरे खिलाफ जबरन वसूली और भादंसं की अन्य धाराओं के तहत प्राथमिकी दर्ज की है। मैंने पुलिस को सभी सबूत प्रदान किए और राष्ट्रीय महिला आयोग से भी संपर्क किया। मैं मुख्यमंत्री से अनुरोध करती हूं कि शेवाले के खिलाफ कार्रवाई करें और पुलिस को उनके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने का निर्देश दें।"साकीनाका पुलिस ने 11 जुलाई को शेवाले द्वारा दायर आवेदन पर अंधेरी मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट की अदालत के निर्देश पर वसूली, धोखाधड़ी और मानहानि के आरोप में महिला के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की थी।

सांसद ने अपनी शिकायत में कहा था कि महिला ने अपने व्यवसाय के लिए वित्तीय सहायता मांगने के बहाने उनसे संपर्क किया था, लेकिन अंततः उन्हें बदनाम करने की धमकी देकर पैसे की उगाही करने लगी। उन्होंने कहा था कि महिला उन पर यह दबाव बनाने लगी कि वह अपनी पत्नी को तलाक देकर उससे शादी कर लें। शेवाले ने यह भी कहा कि वह फरवरी 2020 में एक करीबी दोस्त के जरिए महिला से मिले थे।

सांसद की पत्नी कामिनी शेवाले ने अपने बयान में महिला के खिलाफ मुंबई के साकीनाका थाने में दर्ज प्राथमिकी का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि महिला पिछले कुछ महीनों से मुझे और मेरे परिवार के सदस्यों को जान से मारने की धमकी दे रही थी। उसके खिलाफ कुछ महीने पहले शारजाह में एक गणमान्य व्यक्ति को बदनाम करने के इरादे से डराने-धमकाने का मामला भी दर्ज किया गया था और उसे लगभग 80 दिन के लिए जेल भी हुई थी। महिला की आपराधिक पारिवारिक पृष्ठभूमि है। उसका भाई दिल्ली की जेल में एक महिला से बलात्कार और हत्या के मामले में सजा काट रहा है। यह सांसद राहुल शेवाले की राजनीतिक और सामाजिक प्रतिष्ठा को धूमिल करने की जानबूझकर की जा रही साजिश है।
(इनपुट भाषा)



और भी पढ़ें :