क्लबहाउस चैट: 7500 करोड़ है नेट वर्थ वेल्यू, ऐसे कर सकते हैं ज्वाइन इस एप्प को

Last Updated: सोमवार, 14 जून 2021 (12:28 IST)
हाउस चैट एक बार फिर से सुर्खियों में है। हाल ही में कांग्रेस के बड़े नेता दिग्विजय सिंह की चैट से खूब बवाल मचा जिसमें वह पाकिस्तानी पत्रकारों से अनुच्छेद 370 पर पुनर्विचार करने की बात कर रहे हैं बशर्ते पार्टी सत्ता में आए तो।

पिछले कुछ महीनों से बहुत चर्चा का विषय बना हुआ है। आइए जानते हैं कि इस एप्प में ऐसा क्या खास है जो युवा पीढ़ी इससे जुड़ने को तैयार है।

पॉल डेविडसन और रोहन सेठ द्वारा बनाई गई क्लब हाउस एक चैट आधारित एप्प है जो पिछले साल मार्च 2020 में लॉंच हुई थी। पहले इसको सिर्फ एप्पल फोन में डाउनलोड किया जा सकता था लेकिन अब इसको गूगल प्ले स्टोर की मदद से एंड्रॉयड फोन पर भी डाउनलोड किया जा सकता है।

विषय पर आधारित होते हैं क्लब

ऑडियो आधारित इस एप्प में लोग अपनी पसंद के हिसाब से चर्चा करने के लिए विभिन्न क्लब में शामिल हो सकते हैं। लेकिन किसी भी क्लब में आप तब शामिल हो सकते हैं जब मॉडरेटर आपको इनविटेशन भेजे। यह क्लब दरअसल होते हैं जिमसे अलग-अलग विषय पर लोग चर्चा करते हुए पाए जाते हैं। मसलन राजनीति, खेल, बॉलीवुड या फिर प्रेम प्रंसग।

जैसे ही आप एप्प को ओपन करके होम पेज पर जाएंगे आपको अपने मनपसंद क्लब का चयन करना पड़ेगा। जैसे एक डिबेट को नियंत्रित करने के लिए न्यूज एंकर होता है वैसे ही इस क्लब में एक मॉडरेटर होता है जो ऑडियो चैट को नियंत्रित करता है। वह इस चैट को अपनी मर्जी से आगे बढ़ाता है। यह निर्णय भी मॉडरेटर को लेना होता है कि किसे बात सुननी है और किसे बोलना है।

मसलन अगर चर्चा के वक्त किसी व्यक्ति को अपनी राय रखनी है तो जैसे ऑफिस मीटिंग या किसी परिचर्चा में लोग हाथ उठा कर अपना सवाल पूछते हैं वैसे ही एक हैंड रेस फीचर का इस्तेमाल कर कोई भी यूजर अपना सवाल या अपनी राय चैट में रख सकता है।

ऐसे जुड़ सकते हैं इस एप्प से

अगर कोई यूजर क्लब हाउस एप्प से जुड़ना चाहता है तो वह आत्मनिर्भर तरीके से एप्प डाउनलोड करके यह नहीं कर सकता। उसके लिए उसे एक इन्वाइट की जरूरत होती है जो किसी ऐसे यूजर द्वारा भेजा जाना चाहिए जो पहले से इस क्लब हाउस चैट का सदस्य हो।

इन्वाइट आने के बाद इसमें लॉग इन किया जा सकता है। इसके बाद आप अपनी प्रोफाइल बना सकते हैं जिसमें नाम उम्र जैसी तमाम मूलभूत जानकारियों मांगी जाती है, फोटो अपलोड करने का विकल्प भी मौजूद रहता है। खासबात यह है कि इसमें आप अपना ट्विटर अकाउंट भी लिंक करन सकते हैं।

वॉट्सअप्प और अन्य एप्प से है अलग

क्योंकि यह एक ऑडियो आधारिक चैट है इस कारण यूजर अन्य एप्स की तरह फोटो, वीडियो या टेक्सट फॉर्वर्ड नहीं कर सकता। इसमें कैमरे के इस्तमाल की भी आवश्यकता नहीं है। मसलन अगर आप क्लबहाउस चैट का हिस्सा हैं तो आप वक्ता की शक्ल नहीं देख सकते उसकी सिर्फ आवाज सुन सकते हैं।

इस एप्प की लोकप्रियता का अंदाजा इस ही बात से लगाया जा सकता है कि मौजूदा समय में कुल 20 लाख लोग डाउललोड कर चुके हैं। जिससे इस एप्प की नेट वर्थ वेल्यू 7500 करोड़ हो चुकी है।

क्लबहाउस चैट लीक से आई सुर्खियों में

सिर्फ दिग्विजय सिंह का हालिया बयान ही नहीं इससे पहले राजनीति के अखाड़े में क्लबहाउस चैट लीक ने कई दिनों तक बंगाल की राजनीति को गर्माया। दरअसल एक क्लब हाउस ग्रुप ब्राइट विंग में ममता बनर्जी के राजनीतिक सलाहकार कई पत्रकारों से चर्चा कर रहे थे जिसमें रविश कुमार, गार्गी रावत, आर्फा खानुम शेरवानी, रोहिनी सिंह जैसे तमाम लोग मौजूद दे थे।

उस चैट में प्रशांत किशोर ने कई ऐसी बातें कही जो कई दिनों तक मीडिया की हेडलाइन रही जैसे , प्रधानमंत्री मोदी बंगाल की जनता में लोकप्रिय हो चुके हैं। उन्होंने हिंदुओं के मन में यह बात बैठाई है कि दोयम दर्ज के नागरिक रहने की आवश्यकता नहीं है। तमाम ऐसी बातें लीक हुई या लीक की गई।
राजनीति से इतर एक बड़ा मामला हाल ही में सामने आया जब एक ग्रुप कॉलेज गोइंग ग्रुप में डेटिंग के बारे में एक लड़की ने एक लड़के से सवाल किया तो उसका जवाब था कि वह एक विचारधारा विशेष लड़कियों पर हिंसक शारिरिक संबंध आजमाता है। यह चैट ट्विटर पर काफी वायरल हुआ और इसकी शिकायत महिला बाल विकास आयोग तक को हुई।
सूत्रों के मुताबिक जिस लड़के ने इस क्लब में यह विवादित बात कही थी वह गुजरात का निवासी है। हालांकि इस मामले में कार्यवाही की कोई भी खबर अब तक नहीं आयी है। (वेबदुनिया डेस्क)



और भी पढ़ें :