राजनीतिक दलों की फंडिग पर IT विभाग का शिकंजा, देशभर में 100 से ज्यादा स्थानों पर रेड

पुनः संशोधित बुधवार, 7 सितम्बर 2022 (10:55 IST)
हमें फॉलो करें
नई दिल्ली। ने बुधवार को पंजीकृत गैर-मान्यता प्राप्त राजनीतिक दलों और उनकी संदिग्ध ‘फंडिंग’ के खिलाफ कर चोरी की जांच के तहत 20 से ज्यादा स्थानों पर छापेमारी की। गुजरात, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, हरियाणा और कुछ अन्य राज्यों में छापेमारी की जा रही है।

आयकर विभाग ने RUPP, उनसे जुड़ी संस्थाओं, संचालकों और अन्य के खिलाफ एक समन्वित कार्रवाई शुरू की है। ऐसा माना जाता है कि निर्वाचन आयोग की सिफारिश पर विभाग द्वारा अचानक यह कार्रवाई की गई। आयोग ने हाल ही में भौतिक सत्यापन के बाद 87 संस्थाओं को की सूची से हटा दिया था।

निर्वाचन आयोग ने घोषणा की थी कि वह 2,100 से अधिक पंजीकृत गैर-मान्यता प्राप्त राजनीतिक दलों के खिलाफ कार्रवाई कर रहा है, जो नियमों और चुनाव संबंधी कानूनों का उल्लंघन कर रहे हैं।
इसमें कोष संबंधी जानकारी ना देना, आर्थिक योगदान देने वालों के पते और पदाधिकारियों के नाम को जारी ना करना शामिल है। कुछ दल गंभीर वित्तीय गड़बड़ी में भी संलिप्त पाए गए हैं।

इस बीच सीबीआई की टीम ने पश्चिम बंगाल में 5 ठिकानों पर छापेमारी की है। इसमें से 4 लोकेशन कोलकाता व एक आसनसोल की है। बताया जा रहा है कि सभी ठिकाने कानून मंत्री मलय घटक से जुड़े हुए हैं।



और भी पढ़ें :