Weather Update : मध्यप्रदेश, गुजरात और बंगाल में भारी बारिश के आसार

Last Updated: मंगलवार, 17 सितम्बर 2019 (11:00 IST)
पुणे। एक तरफ लोग जहां से परेशान हैं, वहीं मौसम विभाग ने मध्यप्रदेश, और में भारी बारिश का अनुमान व्यक्त किया है।

पश्चिम बंगाल में पर्वतीय इलाके, सिक्किम, असम और मेघालय में अलग-अलग स्थानों में अगले 24 घंटे के दौरान तेज से बहुत तेज और अतिवृष्टि हो सकती है, जबकि पश्चिम मध्यप्रदेश, अंडमान निकोबार द्वीप समूह और अरुणाचल प्रदेश में पृथक स्थानों पर भारी से बहुत भारी वर्षा होने के आसार हैं।

मौसम विभाग के मुताबिक पूर्वी उत्तर प्रदेश, पूर्वी मध्यप्रदेश, विदर्भ, दक्षिण छत्तीसगढ़, बिहार, नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा, गुजरात , मध्य महाराष्ट्र, कोंकण, गोवा, तटीय आंध्रप्रदेश, तेलंगाना, रायलसीमा, तटीय कर्नाटक, तमिलनाडु, पुडुचेरी और कराईकल में तेज बारिश होने का अनुमान है।
अंडमान निकोबार में चलेंगी तेज हवाएं : अंडमान निकोबार द्वीप समूह में 50-60 किमी प्रति घंटा के हिसाब से तेज गति की हवा चल सकती है और गरज के साथ बारिश भी सकती है। बिहार, झारखंड, पश्चिम बंगाल, सिक्किम, ओडिशा, अरुणाचल प्रदेश, असम, मेघालय, नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा में कड़कती बिजली के साथ बारिश होने के आसार हैं।
पश्चिम मध्य और दक्षिण-पश्चिमी अरब सागर के पश्चिमी भागों में 40-50 किमी प्रति घंटे की तेज गति हवा चल सकती है। अंडमान सागर, कोमोरिन-मालदीव के इलाकों और इससे सटे हुए हिंद महासागर में मौसम के खराब रहने का अनुमान है इसलिए मछुआरों को अगले 24 घंटों के दौरान इन क्षेत्रों में काम नहीं करने की सलाह दी गई है।
दक्षिण पश्चिम मानसून रायलसीमा और तटीय कर्नाटक में अति सक्रिय रहा, जबकि मध्य प्रदेश, कोंकण, गोवा और तमिलनाडु में मानसून सक्रिय रहा। पश्चिम बंगाल में गंगा के तटीय क्षेत्र, झारखंड, पश्चिम उत्तर प्रदेश, हरियाणा, जम्मू और कश्मीर, पश्चिम राजस्थान, पूर्वी मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में मानसून कमजोर रहा।
जम्मू कश्मीर, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, पूर्वी उत्तर प्रदेश और तटीय तमिलनाडु में रविवार रात 20.30 बजे से सोमवार सुबह 8.30 बजे तक गरज के साथ बारिश हुई।
बांध के गेट खोलने की मांग को लेकर मेधा पाटकर की रैली : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी मंगलवार को अपने 69 वें जन्मदिन के मौके पर गुजरात में सरदार सरोवर बांध पर पवित्र नर्मदा नदी की पूजा करने की खबरों के बीच नर्मदा बचाओ आंदोलन की नेता मेधा पाटकर ने कहा है कि सरदार सरोवर बांध का गेट खोलने की मांग को लेकर इससे प्रभावित होने वाले लोग के बड़वानी जिले में एक रैली निकालेंगे
178 गांवों में बाढ़ : नर्मदा बचाओ आंदोलन की नेता मेधा पाटकर ने बताया कि मोदी जी वहां जन्मदिन मनाएंगे और हम यहां बड़वानी में विरोध प्रदर्शन करेंगे। दूसरी ओर नेशनल एलायंस फॉर पीपुल्स मूवमेंट की कार्यकर्ता हिमशी सिंह ने कहा, 'हम एक बड़ी रैली करने जा रहे हैं, हमारी मांग है कि बांध के गेट तुरंत खोले जाएं, क्योंकि इसके बैकवॉटर से मध्यप्रदेश के 178 गांवों में आंशिक रूप से या फिर पूरी तरह से बाढ़ आ गई है।

मध्यप्रदेश के कई गांवों में बाढ़ की स्थिति : हिमशी सिंह कहा कि मध्यप्रदेश और गुजरात की सीमा पर नर्मदा नदी में सरदार सरोवर बांध बना है और इसके जलाशय का स्तर बढ़ने के कारण इसके बैकवॉटर से मध्यप्रदेश के कई गांवों में बाढ़ की स्थिति बनी हुई है, इसलिए एनबीए डूब प्रभावितों को राहत देने के लिए इसके गेट खोलकर जलाशय में पानी का स्तर कम करने की मांग कर रहा है।



और भी पढ़ें :