दिग्विजय ने नरेंद्र मोदी से मांगा माता-पिता का जन्म प्रमाण पत्र

Last Updated: बुधवार, 15 जनवरी 2020 (17:04 IST)
इंदौर। संभावित राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) के खिलाफ पर हमला करते हुए वरिष्ठ नेता ने बुधवार को कहा कि अगर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने माता-पिता का दिखा देते हैं, तो देशवासी सरकार को अपने बारे में सारे दस्तावेज मुहैया कराने को तैयार है।
दिग्विजय ने कहा, हम तो कहते हैं कि मोदी अपने पिता और माता का जन्म प्रमाण पत्र हमें बता दें, (इसके बाद) हम सब कागज दे देंगे। 72 वर्षीय राज्यसभा सदस्य से एनआरसी विरोधी प्रदर्शनकारियों की इस घोषणा पर प्रतिक्रिया मांगी गई थी कि अगर देश में राष्ट्रीय नागरिक पंजी बनाने की प्रक्रिया शुरू होती है, तो वे संबंधित सरकारी अधिकारियों को अपने बारे में कोई भी दस्तावेज नहीं दिखाएंगे। आतंकवाद जैसे गंभीर आरोपों में वांछित विवादास्पद इस्लामी प्रचारक जाकिर नाइक के एक अप्रमाणित दावे को लेकर भी दिग्विजय ने मोदी सरकार पर निशाना साधा।

भगोड़े प्रचारक के दावे को लेकर बुधवार को ही कई ट्वीट करने वाले वरिष्ठ कांग्रेस नेता ने कहा, नाइक ने वीडियो के जरिए बयान दिया है कि सितंबर 2019 में उनके पास मोदी और (गृहमंत्री) अमित शाह का एक दूत भेजा गया था, जिसने उनसे कहा था कि अगर वे जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के भारत सरकार के कदम का समर्थन करते हैं, तो सरकार उनके खिलाफ दर्ज मामले वापस ले लेगी और वे भारत लौट सकते हैं।

दिग्विजय ने कहा, जिस जाकिर नाइक को मोदी और शाह ने देशद्रोही करार दिया है, अगर वही शख्स इस तरह का बयान दे रहा है तो उन्हें इसका खंडन करना चाहिए। मेरा प्रश्न है कि प्रधानमंत्री और गृहमंत्री की ओर से नाइक के इस बयान का आज तक खंडन क्यों नहीं किया गया?

इस बीच, नाइक के दावे को लेकर मोदी सरकार के खिलाफ दिग्विजय के हमले पर भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने पलटवार किया। विजयवर्गीय ने कहा, मैं मोदी और शाह की टीम का आदमी हूं, लेकिन मुझे इसकी (नाइक के संबंधित दावे की) कोई जानकारी नहीं है। दिग्विजय जबरन अफवाह फैलाकर देश का वातावरण प्रदूषित कर रहे हैं।

विज्ञापन
Traveling to UK? Check MOT of car before you buy or Lease with checkmot.com®
 

और भी पढ़ें :