गुरुवार, 25 जुलाई 2024
  • Webdunia Deals
  1. समाचार
  2. मुख्य ख़बरें
  3. राष्ट्रीय
  4. Dedication of building constructed at a cost of 353 crores at Jollygrant Airport in Dehradun
Last Updated : शुक्रवार, 8 अक्टूबर 2021 (23:25 IST)

देहरादून के जोलीग्रांट एयरपोर्ट में 353 करोड़ की लागत से बनी बिल्डिंग का लोकार्पण, कई रूटों पर हवाई सेवा हुई शुरू

देहरादून के जोलीग्रांट एयरपोर्ट में 353 करोड़ की लागत से बनी बिल्डिंग का लोकार्पण, कई रूटों पर हवाई सेवा हुई शुरू - Dedication of building constructed at a cost of 353 crores at Jollygrant Airport in Dehradun
देहरादून। केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा है कि उत्तराखंड को भारत का केवल एयरोस्पोर्ट्स ही नहीं, बल्कि ड्रोन स्पोर्ट्स का भी केंद्र बनना चाहिए।ज्योतिरादित्य सिंधिया ने केंद्रीय नागरिक उड्डयन राज्यमंत्री बीके सिंह के साथ जौलीग्रांट में 353 करोड़ की लागत से बनकर तैयार हुई एयरपोर्ट की फेस वन बिल्डिंग का लोकार्पण किया।

ये नई टर्मिनल बिल्डिंग पुरानी बिल्डिंग से 10 गुना बड़ी है, जिसमें 1800 यात्रियों के समा सकने की क्षमता है।इसमें 11 चेकिंग काउंटर की जगह 36 चेकिंग काउंटर बनाए गए हैं। इस दौरान केंद्रीय मंत्री ने उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की मौजूदगी में उड़ान योजना के तहत उत्तराखंड के कई रूटों पर हेली सेवा भी शुरुआत की।

उड़ान योजना के तहत हेरिटेज कंपनी की ओर से सहस्त्रधारा से गौचर और चिन्यालीसौड़ के लिए सीधी हवाई सेवा शुरू की गई।पवन हंस की ओर से जौलीग्रांट से श्रीनगर और गौचर के लिए सीधी हवाई सेवा शुरू किए जाने की बात कही गई। पवन हंस की ओर से दून से हल्द्वानी, पंतनगर-पिथौरागढ़, देहरादून-पिथौरागढ़ व्‍हाया हल्द्वानी हेली सेवा शुरू की गई।

एयरपोर्ट निदेशक प्रभाकर मिश्रा ने बताया कि नई टर्मिनल बिल्डिंग के साथ ही पार्किंग की कैपेसिटी भी बढ़ाई गई है। अब 10 एयरबस और 10 एटीआर की कैपेसिटी इस हवाई अड्डे की हो गई है।सीधे जहाज में बैठने की सुविधा देने के लिए स्केरेटर और लिफ्ट की सुविधा दी गई है।

नया टर्मिनल भवन पर्यावरण के अनुरूप बनाया गया है, जिसमें बारिश के पानी को संरक्षित करने की सुविधा है, आर्टिफिशियल लाइटों को कम करके स्काई लाइट लगाई गई हैं, जिसमें सूर्य की रोशनी को उपयोग में लाया गया है।

नागरिक उड्डयन सचिव दिलीप जावलकर ने बताया कि हेली व्यवसाय को उछाल देने और स्थानीय लोगों को हेली सेवाओं की सुविधा का लाभ पहुंचाने के लिए उड़ान योजना के तहत कुछ हेली सेवाएं पहले शुरू की गई थीं। इसी उड़ान योजना के दूसरे चरण के तहत प्रदेश के कुछ और क्षेत्रों में हेली सेवाओं का विस्तार आज से किया जा रहा है।

उत्तराखंड राज्य के लिए एक बड़ा अचीवमेंट है क्योंकि धीरे-धीरे प्रदेश के सुदूरवर्ती क्षेत्र हेली सेवाओं के माध्यम से कनेक्ट होते जा रहे हैं।हेली सेवाओं के लिए जो किराया तय हुआ है उसके अनुसार देहरादून से हल्द्वानी के लिए किराया 5683 रुपया तय किया गया है।पंतनगर से पिथौरागढ़ के लिए किराया 4625 रुपया तय किया गया है।देहरादून से पिथौरागढ़ के लिए किराया 7999 रुपए तय किया गया है।

जौलीग्रांट से गौचर के लिए किराया 4625 रुपए तय किया गया है।सहस्त्रधारा से चिन्यालीसौड़ के लिए किराया 2500 रुपए तय किया गया है।सहस्त्रधारा से गौचर के लिए किराया 3000 रुपए तय किया गया है।जौलीग्रांट से श्रीनगर के लिए किराया 3581 रुपए तय किया गया है।
ये भी पढ़ें
लखीमपुर खीरी में फिर से इंटरनेट सेवा बंद, पूछताछ के लिए पेश नहीं हुआ मंत्री पुत्र