शुक्रवार, 3 फ़रवरी 2023
  1. खबर-संसार
  2. समाचार
  3. राष्ट्रीय
  4. currency ban : Countries affected
Written By
Last Updated: गुरुवार, 17 नवंबर 2016 (18:00 IST)

संसद से सड़क तक नोटबंदी का शोर, कहां-कैसा है असर...

नई दिल्ली। केंद्र सरकार के 500 और 1000 के नोट बंद करने के फैसले से चारों ओर त्राहि-त्राहि मची हुई है। लोगों को पुराने नोट बदलने के लिए घंटों लाइन में लगकर इंतजाम करना पड़ रहा है। देश का कोई भी बैंक ऐसा नहीं है, जहां लोगों की लंबी लाइनें न हों। लोगों को जिस तरह से परेशानी हो रही है, उससे ऐसी आशंकाएं होने लगी हैं कि कहीं मोदी सरकार को नोटबंदी का यह दांव कहीं उल्टा न पड़ जाए। देशभर में अब तक नोटबंदी से जुड़े विभिन्न मामलों में 30 से ज्यादा लोगों के मरने की खबर है। आइए जानते हैं नोटबंदी का कहां क्या असर हो रहा है....

*

* दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी दिल्ली स्थित भारतीय रिजर्व बैंक के बाहर धरने पर बैठे।

* नोट बंदी के खिलाफ अरविंद केजरीवाल और ममता बनर्जी ने मिलकर आज दिल्ली में रैली निकाली, प्रधानमंत्री ने 3 दिन में फैसला वापस लेने की चेतावनी दी अन्यथा देश में अराजकता फैलाने का डर फैलाया। क्या कहा केजरीवाल ने आगे क्लिक करें.... आजाद भारत का सबसे बड़ा घोटाला

* नोटबंदी के मुद्दे पर प्रधानमंत्री को राज्यसभा में बुलाने को लेकर विपक्ष का हंगामा, सदन की कार्यवाही 03:00 बजे तक स्थगित।

* नोटबंदी के चलते संसद के दोनों सदनों में लगातार हंगामा जारी है। लोकसभा की कार्यवाही दिनभर के लिए स्थगित।

* बिहार कांग्रेस विधानमंडल दल के नेता सदानंद सिंह ने केंद्र सरकार के नोटबंदी के फैसले की निंदा करते हुए गुरुवार को कहा कि इससे केवल बिहार में कारोबार को दो से ढाई हजार करोड़ रुपए तक का नुकसान हुआ है। उन्होंने कहा कि नोट बदलने और नए नोटों के इंतजार में सीवान, मोतिहारी, दरभंगा, औरंगाबाद, गया में अब तक पांच लोगों की मौत हो चुकी हैं। इस नोटबंदी का बहुत बुरा प्रभाव जनता पर पड़ रहा है।
 
* राजस्थान के बैंकों में रिजर्व बैंक से नये नोटों की आपूर्ति नहीं होने के कारण लोगों को गुरुवार को भी समस्या का सामना करना पड़ा। नोट बदलवाने और जमा कराने वाले ग्राहकों के हाथ पर स्याही से निशान लगाने के निर्देशों के बाद भी कई बैंकों में इसकी पालना नहीं हो रही, लेकिन इससे बैंकों में लाइनें कम जरूर हुई हैं। 
* देश के विभिन्न हिस्सों में नोटबंदी के खिलाफ दायर याचिकाओं की सुनवाई पर रोक लगाने को लेकर अटार्नी जनरल मुकुल रोहतगी ने सुप्रीम कोर्ट में मामले का विशेष उल्लेख किया।
 
* अब पुराने नोटों के बदले बैंकों से एक बार में सिर्फ 2000 रुपए ही बदले जा सकेंगे, अर्थात बैंकों के बाहर भीड़ छंटने में अभी काफी दिन लगने वाले हैं। 
 
* किसान हर सप्ताह अपने खाते से निकाल पाएंगे 25 हजार रुपए। 
 
* लोगों की लंबी लाइनों से बेखबर सरकार ने केन्द्र सरकार के ग्रुप सी तक के कर्मचारी 10 हजार रुपए तक अग्रिम वेतन देने की घोषणा की है। 
 
150 साल पुराना मेला निरस्त : 500 और 1000 रूपये नोट पर पाबंदी के कारण करेंसी की समस्या खडी होने से उत्तर प्रदेश के महोबा में करीब 150 साल पुराने विख्यात गोवर्धन नाथ मेले को निरस्त करने का फैसला लिया गया है। जिले के चरखारी क्षेत्र में मेला जमने से पहले ही उखड़ने की कवायद शुरू हो गई है।

* नोटबंदी के कारण बैंकों में अव्यवस्था के कारण भी लोगों को मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। प्रत्यक्षदर्शियों के  अनुसार एटीएम से एक व्यक्ति को एक दिन में 2500 रुपए तक निकालने की पात्रता है, लेकिन कुछ व्यक्ति तीन चार एटीएम कार्ड के साथ घुस जाते हैं, ‍जिससे पीछे खड़े लोगों को लंबा इंतजार करना पड़ता है। 
 
एक करोड़ 22 लाख के पुराने नोट लेकर गायब : उत्तर प्रदेश के हरदोई से एक चौंकाने वाली खबर सामने आई है, जहां पर एटीएम में नोटों को भरने वाली एक आउटसोर्सिंग एजेंसी के दो कर्मचारी एक करोड़ 22 लाख से अधिक के पुराने बड़े नोटों के साथ लापता हो गए हैं।  सीएमएस इनफ़ोसिस लिमिटेड नामक एजेंसी अपनी कैश वैन से आईसीआईसीआई बैंक, एक्सिस बैंक, कारपोरेशन बैंक, इलाहाबाद बैंक और यूनियन बैंको की एटीएम में कैश भरने का काम करती है। 
 
कोलकाता में दो गिरफ्तार : पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में पुलिस ने 82 लाख रुपए मूल्य के 500 और 1000 रुपए के पुराने नोटों के साथ दो लोगों को हिरासत में लिया है। वहीं एक अन्य घटना में पुलिस ने 24 हजार रुपए के जाली नोट जमा करने के आरोप में दो भाइयों को हिरासत में लिया है। दोनों की पहचान संतोषसिंह और लोकनाथसिंह के रूप में हुई है। 
 
शादी वाले परिवारों को राहत : सरकार ने 500 और 1000 रुपये की नोटबंदी के मद्देनजर किसानों और शादी ब्याह वाले परिवारों को राहत देने की घोषणा की है। जिनकी शादी है उनके माता या पिता केवाईसी को पूरा करते हुए ढाई लाख रुपए अपने बैंक खाते से निकाल सकेंगे। 
 
* नोटबंदी के एक सप्ताह बाद छत्तीसगढ़ के धमतरी जिले के बैंकों में दो हजार रुपए के नए नोट तथा बड़ी संख्या में सौ के पुराने नोट पहुंचने से अब यहां नोटों की उपलब्धता बढ़ जाएगी। इससे अब यहां लंबी लंबी कतारों में लगे लोगों को राहत मिलने की उम्मीद है।