जम्मू कश्मीर के किश्तवाड़ में बादल फटने से तबाही, 7 की मौत, 17 को बचाया

सुरेश एस डुग्गर| Last Updated: बुधवार, 28 जुलाई 2021 (13:12 IST)
मुख्‍य बिंदु
  • के किश्तवाड़ में बादल फटे
  • गुलाबगढ़ चशौती और हंजंर इलाकों में भयानक तबाही
  • 7 शव बरामद, 40 से 50 लोग लापता
जम्मू। जम्मू संभाग के किश्तवाड़ के गुलाबगढ़ चशौती और हंजंर इलाकों में बादल फटने से भयानक तबाही हुई है। हंजंर में आज तड़के बादल फटा जिसकी चपेट में आने से 12 घर मिट्टी में दफन हो गए। इस दर्दनाक हादसे में 7 लोगों की मौत हो गई जबकि 17 लोगों को बचा लिया गया है। बताया जा रहा है कि इन घरों में रहने वाले परिवारों के करीब 40 से 50 सदस्य अभी भी लापता हैं।

डीसी किश्तवाड़ ने इस बात की जानकारी देते हुए कहा कि हंजंर गांव पहाड़ी इलाका है जो करीब 20 किलोमीटर लंबा है। दुर्गम माने वाले इस इलाके में वाहन जाने की कोई सुविधा नहीं है। बचाव दल मदद के लिए निकल गया है परंतु उसे पहुंचने में अभी समय लग सकता है। इसीलिए वहां की वास्तविक स्थिति के बारे में कुछ नहीं कहा जा सकता।

आसपास के इलाकों से यही सूचना मिली है कि हंजंर में 12 घरों वाला यह कस्बा बाढ़ की चपेट में आकर पूरी तरह बह गया है। ये 4 शव भी बचाव दल को रास्ते में मिले हैं। अभी तक स्थानीय लोगों ने ही बचाव कार्य जारी रखा हुआ है। जल्द ही सेना के जवान व बचाव दल मौके पर पहुंच जाएगा।
अमित शाह का ट्वीट : केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने जम्मू-कश्मीर के किश्तवाड़ में बादल फटने की घटना के बाद उप राज्यपाल और पुलिस महानिदेशक से बात कर स्थिति की जानकारी ली है।
शाह ने ट्वीट कर कहा, 'किश्तवाड़ में बादल फटने के संबंध में मैंने जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल और पुलिस महानिदेशक से बात की है। SDRF, सेना और स्थानीय प्रशासन बचाव कार्य में लगा हुआ है, NDRF भी वहां पहुंच रही है। अधिक से अधिक लोगों की जान बचाना हमारी प्राथमिकता है। शोकाकुल परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त करता हूं।'




और भी पढ़ें :