1. समाचार
  2. मुख्य ख़बरें
  3. राष्ट्रीय
  4. BJP may face a setback in MCD elections
Written By
Last Updated: सोमवार, 5 दिसंबर 2022 (23:47 IST)

MCD Election Exit Poll 2022 : एमसीडी चुनाव में जमकर चली झाड़ू, दूसरे नंबर पर BJP

नई दिल्ली। दिल्ली नगर निगम (MCD) चुनाव के लिए हुए 3 एग्जिट पोल (Exit Poll) में सोमवार को आम आदमी पार्टी (AAP) को साफतौर पर जीत मिलने और नगर निकाय में भारतीय जनता पार्टी (BJP) के 15 साल के शासन के खत्मनौ  होने का अनुमान जताया गया है।
 
एमसीडी चुनाव के नतीजों की घोषणा 7 दिसंबर को की जाएगी। रविवार को एमसीडी के कुल 250 वार्ड के लिए हुए चुनाव में 1.45 करोड़ मतदाताओं में से 50 फीसदी से अधिक ने मताधिकार का प्रयोग किया।
 
‘आजतक-एक्सिस माय इंडिया’ के सर्वेक्षण में दिखाया गया है कि आप को नगर निगम की 149-171 सीटें मिलने जा रही है जबकि भाजपा 69-91 सीटें जीतेगी। सर्वेक्षण में कांग्रेस को तीन से सात सीटें और पांच से नौ सीटें अन्य को मिलने का अनुमान जताया गया है।
 
‘टाइम्स नाउ-ईटीजी’ के सर्वेक्षण में आप को 146-156 सीटें मिलने का अनुमान जताया गया है जबकि भाजपा को 84-94, कांग्रेस को 6-10 और अन्य को चार सीटें मिल सकती हैं।
 
‘द न्यूज एक्स’ के एग्जिट पोल में आम आदमी पार्टी को 150-175 वार्ड और भाजपा को 70-92 वार्ड जबकि कांग्रेस को चार से सात वार्ड दिए गए हैं।
 
एमसीडी में 2007 से भाजपा का शासन है। उसने 2017 के नगर निगम चुनाव में कुल 270 वार्ड में से 181 पर जीत दर्ज की थी। आप ने 48 और कांग्रेस ने 30 वार्ड जीते थे।
 
इस साल की शुरुआत में केंद्र सरकार ने दिल्ली के तीनों नगर निगमों का एकीकरण कर दिया था जिसके बाद वार्ड की संख्या 250 हो गयी थी।
 
आप और भाजपा दोनों ने एमसीडी चुनाव में 250-250 उम्मीदवार खड़े किए जबकि कांग्रेस ने 247 और 382 निर्दलीय उम्मीदवार खड़े हुए।
 
बहुजन समाज पार्टी (बसपा) ने 132 वार्ड, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) ने 26, जनता दल (यूनाइटेड) ने 22 और एआईएमआईएम ने 15 वार्ड पर चुनाव लड़ा।
पोल एजेंसी भाजपा कांग्रेस आप अन्य
इंडिया टुडे ग्रुप-एक्सिस माय इंडिया  69-91 3-7 149-171 5-9
ETG-TNN 84-94 6-10 146-156 4
 जन की बात 70 से 92 4 से 7 159 से 175   
         
         
         
         
         
         
         
         
         
ये भी पढ़ें
India-Germany Talk: आतंकवाद के रहते पाक से कोई बात नहीं, जयशंकर बोले- जर्मन विदेश मंत्री ने भी मानी यह बात