जांबाजी को सलाम, असम में सेना ने बचाई बाढ़ में फंसे 150 लोगों की जान

Last Updated: गुरुवार, 25 जुलाई 2019 (08:52 IST)
गुवाहाटी। सेना ने असम के नलबाड़ी जिले के एक गांव में अचानक आई बाढ़ में फंसे बच्चों और महिलाओं समेत करीब 150 लागों को मंगलवार रात सुरक्षित बाहर निकाला।
क्षेत्र में लगातार बारिश होने से पगलादिया नदी में जल का स्तर बढ़ गया जिसके बाद मंगलवार को नलबाड़ी के बलीतारा गांव में अचानक बाढ़ आ गई। बाढ़ आने के बाद भारतीय सेना के एक उच्च प्रशिक्षित बाढ़ राहत दल ने गांव पहुंचकर मानवीय सहायता एवं आपदा राहत अभियान चलाया।
सेना ने भारी बारिश के बीच बाढ़ में फंसे 60 महिलाओं और बच्चों समेत 150 लोगों को कड़ी मशक्कत कर क्षेत्र से सुरक्षित बाहर निकाला।

स्थानीय लोगों ने सेना के जवानों के इस प्रयास की बहुत सराहना की है। राज्य में बाढ़ से अब तक 75 से अधिक लोगों की मौत हो गई है।

बिहार में बाढ़ से 123 लोगों की मौत : बिहार के 12 जिलों में आई बाढ़ से अब तक 123 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 81 लाख 57 हजार 700 आबादी प्रभावित हुई है।
आपदा प्रबंधन विभाग ने बुधवार को बताया कि बिहार के 12 जिलों शिवहर, सीतामढी, मुजफ्फरपुर, पूर्वी चंपारण, मधुबनी, दरभंगा, सहरसा, सुपौल, किशनगंज, अररिया, पूर्णिया एवं कटिहार में बाढ़ से अब तक 123 लोगों की मौत हुई है जबकि 81 लाख 57 हजार 700 लोग प्रभावित हुए हैं।

बिहार में बाढ़ से मरने वाले 123 लोगों में सीतामढी के 37, मधुबनी के 30, अररिया के 12, शिवहर एवं दरभंगा के 10—10, पूर्णिया के 9, किशनगंज के 5, मुजफ्फरपुर के 4, सुपौल के 3, पूर्वी चंपारण के 2 और सहरसा का एक व्यक्ति शामिल है।



और भी पढ़ें :