Special Report: लोकतंत्र में नरेंद्र मोदी ‘सरकार’ के 20 साल...

सत्ता में रहते हुए नरेंद्र मोदी के 20 ऐतिहासिक फैसले

विकास सिंह| Last Updated: बुधवार, 7 अक्टूबर 2020 (13:48 IST)


लोकतंत्र में सत्ता के सर्वोच्च पद ‘सरकार’ पर लगातार से बने रहने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए आज का दिन बेहद खास है। 20 साल पहले 7 अक्टूबर 2001 को पहली बार गुजरात के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने वाले नरेंद्र मोदी लगातार 20 साल से सत्ता के केंद्र में है। दो दशक से सत्ता की धुरी में रहने वाले नरेंद्र मोदी 13 साल तक गुजरात के मुख्यमंत्री रहे वहीं उसके बाद लगातार सात साल से विश्व के सबसे बड़े लोकतंत्र का नेतृत्व कर रहे है।

1-राममंदिर का भूमिपूजन - प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 5 अगस्त 2020 को अयोध्या में राममंदिर का भूमिपूजन कर इस तारीख को देश के इतिहास में दर्ज कर दिया। देश के सबसे बड़े और पुराने और जटिल अयोध्या विवाद का हल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दो दशक की सबसे बड़ी उपलब्धिन माना जा रहा है।

2-कोरोना महामारी और लॉकडाउन- कोरोना महामारी को रोकने और उसका मुकाबला करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने फैसलों से देश का जनमानस तैयार किया है। कोरोना को रोकने के लिए लॉकडाउन जैसा बड़ा कदम भी उनकी राजनीतिक व्यक्तित्त्व की परिपक्वता को दर्शाता है।

3-जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाया- 2019 के आम चुनाव में लगातार दूसरी बार प्रचंड बहुमत से प्रधानमंत्री बनने वाले नरेंद्र मोदी ने जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाकर अपना नाम इतिहास में दर्ज करा लिया है। देश की आजादी के बाद जम्मू कश्मीर में 70 साल से चल रहे विशेष कानून को मोदी ने एक झटके में खत्म कर जम्मू कश्मीर में नया इतिहास लिखा दिया है।

4-ट्रिपल तलाक से आजादी-तीन तलाक को खत्म कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुस्लिम महिलाओं को सदियों पुरानी काली प्रथा से आजादी दिला दी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इस निर्णय से मुस्लिम बहनों को सैकड़ों साल पुरानी कुप्रथा से
मुक्ति मिल गई।
5-NRC और नागरिकता संसोधन कानून– प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार ने नागरिकता संशोधन कानून बनाकर लाखों लोगों की भारत की नागरिकता मिलने का रास्ता साफ कर दिया है।

6-बैंकों का मर्जर-प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल के आर्थिक सुधारों में सबसे बड़ा फैसला बैंकों का मर्जर है। सरकार ने देश के 10 बड़े बैंको का 4 बैंकों में मर्जर कर दिया।

7-एक देश-एक कानून GST- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अगुवाई वाली NDA सरकार ने अपने पहले कार्यकाल में देश ने नया कर कानून जीएसटी बनाया। जीएसटी को आजादी के बाद देश का सबसे बड़ा टैक्स सुधार माना गया संसद से जीएसटी बिल पास होने के बाद देश में एक समान टैक्स कानून लागू हो गया।

8-5 ट्रिलियन डॉलर इकोनॉमी बनाने का लक्ष्य- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने दूसरे कार्यकाल में भारत को आर्थिक महाशक्ति बनाने के लिए देश के सामने 5 ट्रिलियन डॉलर अर्थव्यवस्था का रोडमैप भी रखा है।

9-सुरक्षित सफर के लिए नया कानून- देश में हर साल करीब 1.5 लाख लोग सड़क हादसों में अपनी जान गवां देते है। मोदी 2.0 सरकार ने अपने कार्यकाल के पहले 100 दिन में देश में नया मोटर व्हीकल एक्ट कानून को मंजूरी दी है।

10-किसानों को पेंशन की सौगात-2019 में सत्ता में आते ही पीएम मोदी ने किसानों को पेंशन देने के लिए किसान सम्मान योजना को मंजूरी दी। इस योजना के तरह देश के 15 करोड़ से अधिक किसानों हर साल 6000 हजार रुपए दिए जा रहे ।

11-छोटे व्यापारियों को पेंशन - मोदी 2.0 सरकार ने अपनी पहली कैबिनेट के बैठक में छोटे व्यापरियों के लिए पेंशन योजना को मंजूरी दी। इस योजना के देश के करीब 3 करोड़ खुदरा व्यापारियों को 60 साल की उम्र के बाद 3000 हजार रुपए हर महीने पेंशन मिलेगी।

12-पॉलिथीन मुक्त बनाने का फैसला-प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के पॉलिथीन मुक्त बनाने का फैसला किया। पीएम मोदी ने
लोगों से प्लास्टिक बैग का इस्तेमाल नहीं करने और इससे दूर रहने का आग्रह किया है।

13-स्वच्छता मिशन की शुरुआत– देश में स्वच्छता मिशन की शुरुआत कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महात्मा गांधी के सपने को पूरा करने के लिए एक जनअभियान की शुरुआत की।

14-जनधन योजना की शुरुआत-
देश में हर किसी का अपना बैंक खाता हो इसके लिए पीएम मोदी ने 2014 में जनधन योजना की शुरुआत की। योजना के तहत अब देश में 40 करोड़ से अधिक बैंक खाते खोले जा चुके है।

15-नोटबंदी का फैसला– देश में काले धन को खत्म करने और भष्टाचार को जड़ से उखाड़ने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2016 में नोटबंदी जैसा बड़ा और साससिक फैसला किया। पीएम मोदी के इस फैसले की विपक्ष ने तीखी आलोचना भी की थी।


16-न्यू इंडिया डिजिटल इंडिया कैंपेन- न्यू इंडिया की तस्वीर बनाने के लिए नरेंद्र मोदी ने 2016 से डिजिटल इंडिया मुहिम की शुरुआत की। इसके तहत भीम एप को लॉन्च किया।


17-आयुष्मान योजना की शुरुआत- हर किसी को बेहतर और मुफ्त इलाज मिल सके इसके लिए पीएम मोदी 2018 में आयुष्मान भारत योजना लेकर आए। योजना के तहत गंभीर बीमारी से पीड़ित व्यक्ति का इलाज मुफ्त में होता है। कोरोना महामारी के यह योजना लोगों के लिए एक वारदान साबित हुई है।

18-जल जीवन मिशन की शुरुआत-मोदी सरकार ने अपने दूसरे कार्यकाल में देश के सभी लोगों को पीने का साफ पानी उपलब्ध कराने के लिए जल जीवन मिशन की शुरुआत की। योजना के तहत 2024 तक देश के हर घर तक पानी का साफ पानी पहुंचाने का लक्ष्य रखा है।

19-उज्ज्वला योजना की शुरुआत- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गांव में महिलाओं को चूल्हे पर खाना बनाने से मुक्ति दिलाने के लिए 2016 में उज्जवला योजना की शुरुआत की। जिसके तहत लोगों को मुफ्त में एलपेजी कनेक्शन दिए गए।

20-‘गुजरात मॉडल' ने बढ़ाया मान-2001 में पहली गुजरात का मुख्यमंत्री बनने के बाद नरेंद्र मोदी ने 2003 से जिस ‘वाइब्रेंट गुजरात’ ग्लोबल इन्वेस्टर्स सम्मेलन की शुरुआत की वह उनकी आगे की यात्रा में एक मील का पत्थर साबित हुआ।गुजरात के मुख्यमंत्री रहते हुए उन्होंने कई ऐसी योजनाओं की शुरुआत की जिसको बाद में देश की अन्य राज्य सरकारों ने अपनाया।

गुजरात उनके नेतृत्य में देश ही नहीं दुनिया में विकास मॉडल के रूप में प्रस्तुत हुआ और गुजरात विकास मॉडल ने 2014 के चुनाव में ‘अबकी बार मोदी सरकार’ और ‘अच्छे दिन’ आने वाले है, जैसी छवि गढ़ने का काम किया और 2014 से आज तक उनका प्रधानमंत्री पद पर रहने का सफर जारी है।




और भी पढ़ें :