गुरुवार, 23 मार्च 2023
  1. धर्म-संसार
  2. धर्म-दर्शन
  3. मंगल देव
  4. amalner temple mangal dev
Written By

अमलनेर के मंगलग्रह मंदिर के स्टीकर अब शिरडी में वाहनों पर चमकेंगे

पांच साल में देश-विदेश के 61 हजार 200 वाहनों पर स्टीकर लगे

शिरडी : श्री मंगलग्रह मंदिर को देश के साथ-साथ पूरी दुनिया के भक्तों से परिचित कराने के उद्देश्य से मंगल ग्रह सेवा संस्थान अब शिरडी में वाहनों पर मंदिर के लोगो वाले स्टीकर लगा रहा है। अभियान की शुरुआत गुरुवार को शिरडी में की गई।
 
देश में सबसे प्राचीन, अत्यधिक जागृत और दुर्लभ मंदिरों में से एक होने की वजह से मांगलिक और कृषि, मिट्टी और रेत से जुड़े कई भक्त जलगाँव जिले के अमलनेर में श्री मंगल मंदिर में बड़ी संख्या में दर्शन व पूजा करने हेतु पहुंचते हैं। विगत पांच वर्षों से देश-विदेश के 61 हजार 200 वाहनों पर मंदिर के लोगो के साथ स्टिकर चिपकाए गए हैं ताकि भक्तों को मंदिर का महत्व बताया जा सके और मांगलिक की वैवाहिक समस्याओं को दूर किया जा सके। इसलिए देश के साथ-साथ विदेशों में भी कई वाहनों को देखें तो अमलनेर के मंगलग्रह मंदिर का लोगो स्पष्ट रूप से दिखाई देता है। इसके लिए दोपहिया और चौपहिया वाहनों पर स्टीकर का आकार, रंग और स्टीकर लगाने की जगह तय कर ली गई है। 
 
पिछले पांच सालों में मुंबई, नासिक, पुणे, दिल्ली के साथ-साथ राजस्थान, जयपुर, मध्य प्रदेश, कर्नाटक आदि मंदिरों में दर्शन और पूजा-अर्चना के लिए आए श्रद्धालुओं ने अपने वाहनों पर स्टिकर लगा रखे हैं। अन्य स्थानों पर भी मंदिर की जानकारी फैलाने के लिए अब शिरडी, शनिशिंगनापुर, त्र्यंबकेश्वर, नासिक, कोल्हापुर, अकोट, अहमदनगर जैसे महत्वपूर्ण शहरों में वाहन चालकों की अनुमति से वाहनों पर मंदिर के स्टीकर लगाए जा रहे हैं। इसके साथ ही मंगलग्रह देवता के बारे में श्रद्धालुओं को जागरूक करने के लिए होटलों, मंदिरों, श्रद्धालुओं के आवास, टूर और ट्रेवल कंपनियों के कार्यालयों में मंगलग्रह देवता की प्रतिमा स्थापित की जा रही है.
 
शिरडी में गुरुवार को 39 रिक्शों पर मंदिर के लोगो वाले स्टीकर लगाकर अभियान की शुरुआत की गई। इस मौके पर रिक्शाचालक साधन पाटिल, नंदू सुरसे, सुनील नरोदे, अरुण अहिरे, सचिन सावले, दिलीप इनामके, माधव इनामके, मंदिर के जनसंपर्क अधिकारी शरद कुलकर्णी, चंद्रकांत सोनार, प्रबंधक गणेश सपकाले व परिचारक नितिन सोनवणे मौजूद रहे।
ये भी पढ़ें
18 मार्च को अद्भुत संयोग बन रहे हैं शनिवार को शिव योग में मनेगी पापमोचनी एकादशी