कोरोनाकाल में सिर्फ डेढ़ घंटे चला मध्यप्रदेश विधानसभा का सत्र,पहली बार वुर्चअल तरीके से जुड़े विधायक

डेढ़ घंटे चले सत्र में बजट समेत आठ विधेयक हुए पास

Author विकास सिंह| पुनः संशोधित सोमवार, 21 सितम्बर 2020 (15:26 IST)
भोपाल। में बुलाया गया विधानसभा का एक दिन का सत्र महज डेढ़ घंटे की कार्यवाही के बाद अनिश्चिकाल के लिए स्थगित कर दिया गया। सत्र की कार्यवाही शुरु होते ही सबसे पहले दिवंगत नेताओं को श्रदांजालि देते हुए दो मिनट का मौन रखकर कार्यवाही को पांच मिनट के लिए स्थगित किया गया।
इसके बाद सदन की कार्यवाही शुरु होते हुए संसदीय कार्यमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने विनियोग विधेयक सदन में प्रस्तुत किया। कांग्रेस ने विधेयक पर चर्चा की मांग की लेकिन सरकार ने सर्वदलीय बैठक का हवाला देते हुए चर्चा से मना कर दिया। इसके बाद विनियोग विधेयक-2020 सदन ने पास कर दिया। इसके बाद संसदीय कार्यमंत्री ने
सात अन्य विधेयक सदन के पटल पर रखे और फिर सभी विधेयक तेजी से पास हो गए। डेढ़ घंटे चले सदन की कार्यवाही में विपक्ष की तरफ रोक-टोक भी जारी रही लेकिन सदन की कार्यवाही तेजी से चलती रही।
सदन में विधेयक पारित होने के बाद नेता प्रतिपक्ष कमलनाथ ने कोरोना का मुद्दा उठाते हुए मुख्यमंत्री से स्थिति साफ करने की मांग की। इसके बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सदन में कोरोना को लेकर अपनी बात रखी। इसके बाद सदन की कार्यवाही अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दी गई।


कोरोनाकाल में बुलाए गए एक दिन के सत्र में सदन में कोविड-19 से जुड़े प्रोटोकाल का पालन किया गया। सदन में सत्ता और विपक्ष की तरफ से केवल चुनिंदा सदस्य ही मौजूद रहे। सदन में प्रवेश से पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान समेत सभी मंत्री और सदस्यों की थर्मल स्क्रीनिंग की गई। सदन की कार्यवाही के दौरान सदस्य दूर-दूर और मास्क
लगाकर बैठे नजर आए।




और भी पढ़ें :