शुक्रवार, 12 जुलाई 2024
  • Webdunia Deals
  1. समाचार
  2. मुख्य ख़बरें
  3. मध्यप्रदेश
  4. Madhya Pradesh Police fails to arrest Congress MLA Umang Singhar
Written By Author विकास सिंह
Last Modified: मंगलवार, 22 नवंबर 2022 (19:31 IST)

रेप की FIR होने के 48 घंटे बाद भी कांग्रेस विधायक उमंग सिंघार को नहीं तलाश पाई पुलिस, बोले शिवराज, कानून करेगा अपना काम

रेप की FIR होने के 48 घंटे बाद भी कांग्रेस विधायक उमंग सिंघार को नहीं तलाश पाई पुलिस, बोले शिवराज, कानून करेगा अपना काम - Madhya Pradesh Police fails to arrest Congress MLA Umang Singhar
भोपाल। रेप के मामले में आरोपी कांग्रेस विधायक उमंग सिंघार अब तक पुलिस की गिरफ्त से बाहर है। कांग्रेस विधायक तलाश में पुलिस की लगातार छापा मार कार्रवाई कर रही है लेकिन उसे सफलता नहीं मिली है। एफआईआर दर्ज होने के बाद आज दूसरे दिन कांग्रेस विधायक की गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने भोपाल  के साथ धार स्थित कांग्रेस विधायक उमंग सिंघार के ठिकानों पर दबिश दी लेकिन पुलिस को कांग्रेस विधायक का कोई सुराग नहीं लगा। पुलिस की कई टीमें कांग्रेस विधायक की तलाश में जुटी है। 

वहीं दूसरी ओर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि पूरे मामले में कानून अपना काम करेगा। मुख्यमंत्री ने कांग्रेस के आरोपों पर पलटवार करते हुए कहा कि कांग्रेस के नेता भाजपा पर आरोप लगा रहे है जबकि अगर कोई पीड़िता है और कोई बात कह रही है तो उसकी फरियाद को सुनना और जांच करना पुलिस की ड्यूटी है। वहीं जरूरी होने हो तो कार्रवाई करना भी पुलिस की ड्यूटी है। न हम किसी को बचाएंगे, न हम किसी को फंसाएंगे लेकिन अगर शिकायत की है तो उसकी जांच करके आवश्यक कार्रवाई करना पुलिस की ड्यूटी है।

कांग्रेस विधायक पर रेप की FIR- धार के नौगांव थाने में कांग्रेस विधायक उमंग सिंघार के खिलाफ दुष्कर्म की शिकायत दर्ज कराई थी। जबलपुर की रहने वाली पीड़ित महिला ने अपनी शिकायत में विधायक पर भोपाल में अप्रैल 2022 में शादी करने का भी दावा किया है। वहीं पीड़िता न कांग्रेस विधायक पर मारपीट और मानसिक रूप से प्रताड़ित करने भी आरोप लगाया है।
महिला की शिकायत पर धार पुलिस ने कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव और गुजरात चुनाव में सह प्रभारी और विधायक उमंग सिंगार के खिलाफ रेप सहित अन्य धाराओं में केस दर्ज कर लिया है। पुलिस को की गई शिकायत में महिला ने आरोप लगाया है कि धार में पीडब्ल्यूडी कार्यालय के पीछे विधायक निवास में उमंग सिंघार ने नवंबर 2021 से नवंबर 2022 के बीच उसके साथ कई बार दुष्कर्म किया है। इसके साथ महिला ने विधायक पर अप्राकृतिक कृत्य किए जाने का भी आरोप लगाया है। नौगांव पुलिस ने कांग्रेस विधायक उमंग सिंघार के खिलाफ आइपीसी की धारा 376, 377 और 498 के तहत एफआईआर दर्ज की है।

कांग्रेस विधायक ने बताया राजनीतिक षडयंत्र- वहीं कांग्रेस विधायक उमंग सिंघार ने अपने उपर लगे आरोपों को राजनीतिक षडयंत्र बताया है। एक वीडियो संदेश में उमंग सिंघार ने महिला के आरोपों को निजी मामला बताते हुए आरोपों को झूठा बताया है। कांग्रेस विधायक ने कहा कि वह खुद महिला की प्रातड़ना से परेशान होकर सुसाइड की बात सोचने लगे थे। उमंग सिंघार ने आगे यह भी कहा कि महिला ब्लैकमेल कर पिछले कई दिनों से मुझसे दस करोड़ रुपए मांग कर रही थी और नहीं देने पर मेरे खिलाफ पुलिस में प्रकरण दर्ज कराने की धमकी दे रही थी।

इसके साथ महिला मुझे पिछले कई दिनों से मानसिक रूप से भी प्रताड़ित कर रही थी मेरे मारपीट कर गाली गलौज कर रही थी। कांग्रेस विधायक का दावा है कि उन्होंने महिला के खिलाफ 2 नवंबर को पुलिस में आवेदन दिया था लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। कांग्रेस विधायक ने कहा आदिवासी समाज से आने के कारण मुझे बदनाम करने के लिए वह मेरी प्रतिष्ठा खराब करने के लिए षड्यंत्र करके मुझे बदनाम किया जा रहा है।


 
ये भी पढ़ें
अपराधियों के खिलाफ कड़े रुख से प्रदेश में उद्योग के लिए आया सुरक्षा का भाव : योगी आदित्यनाथ