शुक्रवार, 12 जुलाई 2024
  • Webdunia Deals
  1. चुनाव 2023
  2. विधानसभा चुनाव 2023
  3. मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव 2023
  4. Will Hardiya win for fifth time or will Sattu take revenge for previous defeat?
Written By Author वृजेन्द्रसिंह झाला

क्या हार्डिया लगाएंगे जीत का पंजा या सत्तू लेंगे पिछली हार का बदला?

क्या हार्डिया लगाएंगे जीत का पंजा या सत्तू लेंगे पिछली हार का बदला? - Will Hardiya win for fifth time or will Sattu take revenge for previous defeat?
Madhya Pradesh Assembly Election 2023: वर्ष 2003 से लगातार चुनाव जीतते आ रहे प्रदेश के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री और वर्तमान भाजपा विधायक महेन्द्र हार्डिया एक बार ‍फिर इंदौर क्षेत्र क्रमांक 5 से चुनाव मैदान में हैं। उनके सामने कांग्रेस ने सत्यनारायण पटेल को उतारा है, जो पिछले चुनाव में करीब 1100 वोटों से चुनाव हार गए थे। हालांकि पटेल 1998 में एक बार फिर इस सीट से 10 हजार से ज्यादा वोटों से चुनाव जीत चुके हैं। 
 
दोनों ही उम्मीदवारों के जीत के अपने अपने दावे हैं, लेकिन पिछले परिणाम के आधार पर देखें तो इस बार मुकाबला कड़ा है।  परिणाम कहीं भी जा सकता है। इस क्षेत्र से चार बार विधायक रह चुके हैं हार्डिया का मानना है कि उनके क्षेत्र में एंटी-इनकम्बेंसी जैसा कुछ भी नहीं है। वहीं, सत्यनारायण पटेल का दावा है कि क्षेत्र के लोग अब भी मूलभूत समस्याओं से जूझ रहे हैं। 
 
हार्डिया भले ही ‍पिछला चुनाव 1100 वोटों से जीते हों, लेकिन क्षेत्र में सबसे ज्यादा वोटों से जीतने का रिकॉर्ड भी उनके नाम ही दर्ज है। उन्होंने अपने पहले ही चुनाव में भाजपा की शोभा ओझा को करीब 23000 वोटों से हराया था। 1977 में अस्तित्व में आए इस विधानसभा के इतिहास में यह सबसे बड़ी जीत थी। 
इस क्षेत्र में अब तक हुए चुनाव में 5 बार भाजपा जीत चुकी है, जबकि 4 बार कांग्रेस ने यहां से जीत दर्ज की। एक बार कांग्रेस के ही बागी सुरेश सेठ निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में चुनाव जीते थे। 1985 में सेठ 418 वोटों से जीते थे। यह इस क्षेत्र की सबसे छोटी जीत थी। 

इस चुनाव में जनता जनार्दन के मन में क्या है, अभी कोई नहीं जानता। लेकिन, यह तय है कि मुकाबला रोमांचक है। परिणाम कुछ भी हो सकते है। हालांकि 3 दिसंबर को पता लगेगा कि हार्डिया जीत का पंजा लगाएंगे या फिर सत्तू पटेल पिछली हार का बदला चुकाएंगे। 
क्या कहते हैं उम्मीदवार?
वर्तमान विधायक और क्षेत्र क्रमांक 5 से भाजपा प्रत्याशी महेन्द्र हार्डिया उर्फ बाबा ने कहा कि 20 साल पहले 5 नंबर में सड़कों और गटरों की हालत बहुत खराब थी। लोगों को बहुत तकलीफ होती थी। क्षेत्र में मूलभूल सुविधाओं का ही अभाव था। मेरे कार्यकाल में फोरलेन सड़कें, तीन फ्लाई ओवर बन गए हैं।

पानी की टंकियां और अंतरराष्ट्रीय स्तर का स्वीमिंग पुल भी क्षेत्र में बन गया है। 2 फ्लाईओवर का काम शुरू हो गया है। इतना ही नहीं हमने प्रधानमंत्री और मुख्‍यमंत्री की योजनाओं को कार्यकर्ताओं के माध्यम से घर-घर तक पहुंचाया है। बड़ी संख्‍या में इन योजनाओं का लाभ लोगों ने उठाया है।
कांग्रेस प्रत्याशी सत्यनारायण पटेल ने कहा कि हम मध्यप्रदेश की भाजपा सरकार की निष्क्रियता, भ्रष्टाचार, बेरोजगारी आदि मुद्दों पर चुनाव लड़ रहे हैं। क्षेत्र में ढेरों समस्याएं हैं। गटर छोटे तालाबों में तब्दील हो गई हैं। लोगों के घरों में पानी घुस रहा हैं। छोटी गलियों में सड़कों की हालत बहुत खराब है। शिक्षा और स्वास्थ्य से जुड़ी कई समस्याएं हैं। 
 
ये भी पढ़ें
तेलंगाना चुनाव में परिवारवाद हावी, इन चेहरों की चांदी