एक्टर मैं रह चुकी हूं, प्रियंका जी नाटक न ही करें तो अच्छा है-स्मृति ईरानी

नई दिल्ली। अमेठी में जूते बांटने के मुद्दे पर केन्द्रीय मंत्री एवं अमेठी लोकसभा सीट से भाजपा की उम्मीदवार स्मृति ईरानी ने कहा कि एक्टर मैं रह चुकी हूं। प्रियंका जी नाटक न ही करें तो बेहतर है।

दअरसल, प्रियंका ने स्मृति ईरानी पर अमेठी इलाके में जूते बांटने का आरप लगाया था। उन्होंने कहा कि जहां तक बात उन गरीब नागरिकों की है, जिनके पास पहनने को जूता नहीं है, तो कृपा करके उनमें थोड़ी भी शर्म है तो खुद जाकर देख लें कि सच क्या है।

क्या कहा प्रियंका वाड्रा ने : केन्द्रीय मंत्री और भाजपा प्रत्याशी स्मृति ईरानी पर जूते बांटकर जनता का अपमान करने का आरोप लगाते हुए कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने सोमवार को कहा कि गांधी परिवार के दिल में अमेठी और रायबरेली बसता है। कुछ बाहरी लोग अमेठी में जगह बनाने के लिए झूठ का सहारा लेने आ गए हैं। उन्हें नहीं पता अमेठी और रायबरेली किसके दिलों में बसता है।
उन्होंने कहा कि स्मृति इरानी यहां आईं और जूते बांटे। यह कहने के लिए कि इनके पास जूते नहीं हैं। ये सोच रही हैं कि वे राहुल का अपमान कर रही हैं मगर उन्हें यह नहीं पता कि वह अमेठी की जनता का अपमान कर रही हैं। अमेठी और रायबरेली की जनता ने कभी किसी से भीख नहीं मांगी। जो उनके सामने खड़ा है, वह प्रेम के साथ खड़ा है।

अमेठी की जनता के साथ अपनत्व का इजहार करते हुए कांग्रेस महासचिव ने कहा कि मेरे परिवार को पूरा अहसास है कि वे राजनीति में जो कुछ हैं, आपकी बदौलत है। आपने तो हमारी कई पीढ़ियां देखी हैं। राजीव गांधी जब यहां आते थे तो गांव-गांव घूमकर जनता की समस्याएं पूछते हैं। आज के प्रधानमंत्री क्या ऐसा कर सकते हैं?

 

और भी पढ़ें :