कांग्रेस को भारी पड़ सकता है, 84 के दंगे में 'हुआ तो हुआ'

Narendra Modi
नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 1984 के सिख जनसंहार पर कांग्रेस की ओवरसीज इकाई के अध्यक्ष सैम पित्रोदा के बयान 'हुआ तो हुआ' कांग्रेस के लिए आगामी दो चरणों में भारी पड़ सकता है। मोदी ने पित्रोदा के इस बयान को चुनावी हथियार बना लिया है और कांग्रेस पर करारा हमला कर रहे हैं।
मोदी ने शुक्रवार को हरियाणा के रोहतक में कहा कि देश पर सबसे ज्यादा समय तक राज करने वाली कांग्रेस कितनी असंवेदनशील रही है। उसका प्रतीक सिख दंगों पर पार्टी के तीन शब्द हैं- ‘हुआ तो हुआ’। वर्ष 1984 में पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्या पर गुरुवार को पित्रौदा ने कहा था कि अब क्या है 84 का। आपने (मोदी) पांच साल में क्या किया, उसकी बात करिए। वर्ष 84 में जो हुआ, वो हुआ।

मोदी ने 12 मई को लोकसभा के छठे चरण में हरियाणा की 10 सीटों पर मतदान के सिलसिले में रोहतक में भाजपा उम्मीदवारों के पक्ष में आयोजित रैली को लेकर पित्रौदा के इस बयान पर जमकर हमला किया। उन्होंने कहा कि देश पर सबसे ज्यादा समय तक राज करने वाली कांग्रेस कितनी असंवेदनशील रही है, उसका प्रतीक सिख दंगों पर कल बोले गए उसके नेता के तीन शब्द हैं- ‘हुआ तो हुआ’। ये शब्द कांग्रेस का चरित्र, मानसिकता और इरादे हैं।
गांधी परिवार के सबसे बड़े राजदार : उन्होंने कहा कि यह नेता गांधी परिवार के सबसे बड़े राजदार हैं। यह स्वर्गीय राजीव गांधी के अच्छे दोस्त और राहुल गांधी के गुरु हैं। इनके लिए जीवन का कोई मूल्य नहीं है। मोदी ने मतदाताओं से अपील की आपको कांग्रेस और उसके साथियों से सावधान रहने की जरूरत है। कांग्रेस ने 70 साल तक देश कैसे चलाया है, उनका दिमाग कैसे चलता है, उनकी खोपड़ी में कैसा अहंकार भरा है, ये कल केवल तीन शब्दों में उन्होंने खुद ही समेट दिया।
मोदी ने पूर्व प्रधानमंत्री श्रीमती गांधी की हत्या के बाद भड़के सिख विरोधी दंगों का जिक्र करते हुए कहा कि उस समय हजारों सिखों को घरों से बाहर निकालकर मारा गया, लेकिन आज कांग्रेस कह रही है, हुआ तो हुआ। इन दंगों में हजारों सिखों के घर-दुकानें जला दिए गए। सैकड़ों सिखों को पेट्रोल-डीजल डालकर जला दिया गया। गले में टायर डालकर आग लगा दी और कांग्रेस कह रही है कि 'हुआ तो हुआ'।

उन्होंने कहा कि 1984 के इन दंगों में दिल्ली, हरियाणा, हिमाचल, मध्यप्रदेश, उत्तरप्रदेश और देश के अन्य प्रदेशों में सिखों को निशाना बनाया गया और हमलावरों का नेतृत्व कांग्रेस ने किया। ये पाप कांग्रेस के हर छोटे-बड़े नेता ने किया, लेकिन आज कांग्रेस कह रही है 'हुआ तो हुआ'।
चुनाव में भाजपा उम्मीदवारों को विजयी बनाने की अपील करते हुए मोदी ने कहा कि कांग्रेस में सिर्फ एक परिवार को आगे बढ़ाने के लिए समर्थ लोगों का अपमान किया जाता है, उनकी पहचान को ऊपर नहीं उठने दिया जाता है। भाखड़ा नांगल बांध की सोच सर छोटूराम की थी, लेकिन उनको कभी इसका श्रेय ही नहीं दिया गया।

उन्होंने कांग्रेस पर हमला जारी रखते हुए कहा कि दिल्ली में जो कांग्रेस के नामदार हैं, उनके जो रिश्तेदार हैं, उन्होंने यहां के पूर्व मुख्यमंत्री के साथ मिलकर क्या-क्या गुल खिलाए हैं, ये भी पूरा देश जानता है। किसान की जमीन कौड़ियों के दाम पर हड़प ली और फिर उस पर भ्रष्टाचार की खेती की गई।
उन्होंने कहा कि खेल का मैदान हो, खेती हो या राष्ट्र रक्षा के यहां के जांबाज हमेशा आगे रहे हैं। राष्ट्र रक्षा के लिए हर पल तैयार रहने वाले, मिट्टी से सोना उगाकर देश का पेट भरने वाले और खेल के मैदान में देश को गौरव दिलाने वाले हरियाणा और रोहतक के सभी लोगों का अभिवादन करते हुए मोदी ने कहा आज पूरी दुनिया में भारत सबसे तेजी से आगे बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था बन गया है। वर्ष 2014 में देश आर्थिक ताकत के रूप में विश्व में ग्यारहवें स्थान पर था और आज छठे नंबर पर है और पांचवें स्थान पर आने के लिए प्रयासरत है।
मोदी ने कहा कि देश की सबसे तेज ट्रेन वंदे भारत हो या आपके हाथ में मोबाइल फोन, आज इन सबका देश में ही उतपादन हो रहा है। अब देश ने जल, थल, नभ के साथ-साथ अंतिरक्ष में भी सर्जिकल स्ट्राइक करने की क्षमता हासिल कर ली है।
उन्होंने कहा कि बीते पांच वर्ष में देश ने जो कुछ हासिल किया, वह आपके एक वोट ने किया है। यह आपके वोट की ताकत है, ये सब कुछ हरियाणा के मजबूत इरादों ने किया है। आपने 2014 में दिल्ली में एक मजबूत और ईमानदार सरकार नहीं बनाई होती तो यह संभव नहीं होता।

पाकिस्तानी आतंकियों को भगाया : उन्होंने कहा कि 2004 से 2014 के बीच पाकिस्तान के आतंकवादी देश पर हमले करते रहे और कांग्रेस की कमजोर सरकार रोती रही, लेकिन इस चौकीदार ने इस नीति को बदला है। सरकार ने सपूतों को खुली छूट दी है और सीमा में बांधकर नहीं रखा है।

मोदी ने कहा कि जब समझौता विस्फोट हुआ था तो पाकिस्तान के आतंकवादियों को भगा दिया गया और निर्दोष लोगों को फंसा दिया गया। कांग्रेस के दरबारियों ने जोर-जोर से चिल्लाना शुरू किया कि ये हिंदू आतंकवाद है।

 

और भी पढ़ें :