राहुल के 'प्यार' पर मोदी, किसी ने मुझे कीड़ा कहा, किसी ने रावण तो किसी ने पागल कुत्ता

चंडीगढ़। राहुल गांधी के 'प्यार' पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कटाक्ष करते हुए बुधवार को कहा कि के नामदार जिस तरह अपने प्रेम की डिक्शनरी दिखा रहे हैं, उस पर कोई उन पर सवाल नहीं उठा रहा है। पर मुझे गाली देते हुए उन्होंने कितनी बार मर्यादा तार-तार की है, ये भी इनकी प्रेम वाली डिक्शनरी से ही पता चलता है।

हरियाणा में चुनावी सभा को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि मैं कांग्रेस और उसके साथियों को मनमानी नहीं करने देता हूं, उनके भ्रष्टाचार को रोकता हूं, उनके वंशवाद की बात करता हूं, इसलिए ये लोग बार-बार प्रेम का नकाब पहनकर मुझे गालियां देते रहते हैं। कांग्रेस के एक नेता ने मुझे गंदी नाली का कीड़ा कहा, तो दूसरा मुझे गंगू तेली कहने आ गया। इनके एक नेता ने मुझे पागल कुत्ता कहा, तो दूसरे नेता ने भस्मासुर की उपाधि दे दी।
मोदी ने आगे कहा कि इनके एक और मंत्री ने मुझे वायरस कहा तो दूसरे ने दाऊद इब्राहिम का दर्जा दे दिया। इनके एक नेता ने मुझे हिटलर, तो दूसरे ने मुझे बदतमीज नालायक बेटा कहा। इतना ही नहीं, मुझे रैबीज बीमारी से पीड़ित बंदर, चूहा और लहू पुरुष बोला गया। कांग्रेस वालों ने मुझे रावण, सांप, बिच्छू, गंदा आदमी, जहर बोने वाला तक बोला। कांग्रेस के नेता जिनके सामने नतमस्तक होते हैं, उन्होंने भी मुझे मौत का सौदागर कहा। ये इनका 'प्रेम' करने का तरीका है।
उन्होंने कहा कि इनके बड़े-बड़े नेताओं ने मुझे मानसिक तौर पर बीमार बताया, नीच किस्म का आदमी कहा, यहां तक कि ये भी पूछा गया कि मेरे पिता कौन थे, ये नहीं मालूम। मोदी ने कहा कि कांग्रेस के नामदार जिस तरह अपने प्रेम की डिक्शनरी दिखा रहे हैं, उस पर कोई उन पर सवाल नहीं उठा रहा है। मुझे गाली देते हुए उन्होंने कितनी बार मर्यादा तार-तार की है, ये भी इनकी प्रेम वाली डिक्शनरी से पता चलता है।
मोदी ने कहा कि इनकी गालियों की परवाह न करते हुए मैं पूरी शक्ति से देश की सेवा कर रहा हूं। हरियाणा भी बीते पांच वर्षों में बड़े परिवर्तन का गवाह रहा है। पानीपत से ही बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ का अभियान मैंने शुरू किया था। हरियाणा ने इन 5 वर्षों में बेटियों का बहुत ध्यान रखा है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि 1984 में हजारों सिखों की कांग्रेस परिवार और उसके दरबारियों के इशारे पर हत्या की गई थी। आपके इस चौकीदार ने देश से 1984 के गुनाहगारों को सजा दिलाने का वादा किया था। मुझे संतोष है कि सिखों के गुनहगारों को फांसी और उम्रकैद मिलने का सिलसिला शुरू हो चुका है।

मोदी ने कहा कि बालाकोट के बाद हमारे एक वीर सपूत को पाकिस्तान ने कब्जे में ले लिया था। 48 घंटे के भीतर पाकिस्तान को उसे छोड़ना पड़ा था। तब कांग्रेस और उसके दरबारियों ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री की तारीफ में कसीदे पढ़ना शुरू कर दिए। उनके लिए नोबेल पुरस्कार तक की मांग कर दी।

पीएम ने कांग्रेस पर कटाक्ष करते हुए कहा कि देश आजाद होने से लेकर अब तक हिंदुस्तान के किसानों के हक का पानी पाकिस्तान जा रहा है, लेकिन दशकों तक कांग्रेस के लोग इस पर एक शब्द नहीं बोले। ये चौकीदार भारत के हक का एक-एक बूंद पानी देश के किसानों तक पहुंचाने के लिए संकल्प करके बैठा है।

उन्होंने कहा कि इन्होंने भारत की संस्कृति को बदनाम करने का अभियान छेड़ा हुआ था। पानीपत के पास समझौता एक्सप्रेस में ब्लास्ट हुआ था, तो कांग्रेस ने हिन्दू आतंकवाद का झूठ गढ़ने के लिए निर्दोष लोगों को सालों तक जेल में रखा, लेकिन कांग्रेस के इस षड्यंत्र का पर्दाफाश हो गया।

 

और भी पढ़ें :