अनंतनाग में मंगलवार को होगा मतदान, चुनाव आयोग और सुरक्षा बलों के लिए चुनौती

सुरेश डुग्गर| Last Updated: रविवार, 21 अप्रैल 2019 (22:27 IST)
जम्मू। मंगलवार को कश्मीर के उस संसदीय क्षेत्र में मतदान होना है जो हिज्ब के पोस्टर बॉय बुरहान वानी का इलाका रहा है। अनंतनाग संसदीय निर्वाचन क्षेत्र के लिए तीन चरणों में पहले जिला अनंतनाग में 23 अप्रैल को सुबह 7 बजे से 4 बजे तक मतदान होने जा रहा है। यह जिला 6 विधानसभा क्षेत्रों में फैला हुआ है, जिसमें अनंतनाग, डुरु, कोकरनाग, शांगस, बिजबिहाड़ा और पहलगाम शामिल हैं।
दक्षिण कश्मीर के चार जिलों के 16 विधानसभा क्षेत्रों में फैले अनंतनाग संसदीय क्षेत्र में चुनाव प्रक्रिया को शांतिपूर्ण और स्वतंत्र रूप से संपन्न कराना सुरक्षाबलों, और चुनाव लड़ रहे राजनीतिक दलों के लिए बड़ी चुनौती है।

सुरक्षाबलों के लिए सिर्फ एक सुरक्षित वातावरण तैयार करने की जिम्मेदारी है, लेकिन उससे भी ज्यादा राजनीतिक दलों और चुनाव आयोग के लिए ज्यादा से ज्यादा संख्या में मतदाताओं को मतदान केंद्र तक पहुंचाकर चुनाव बहिष्कार के असर को कम करने की चुनौती है।

अनंतनाग, कुलगाम, पुलवामा और शोपियां जिले में फैले इस संसदीय क्षेत्र में पूर्व मुख्यमंत्री मुफ्ती, प्रदेश कांग्रेस प्रमुख जीए मीर, नेकां के हसनैन मसूदी और भाजपा के सोफी मोहम्मद यु़सूफ समेत 20 उम्मीदवार अपना भाग्य आजमा रहे हैं। सबसे पहले 23 अप्रैल को जिला अनंतनाग में, 29 अप्रैल को कुलगाम में और 6 मई को पुलवामा व शोपियां में मतदान होगा। पूरे क्षेत्र में सिर्फ 10 फीसद मतदान केंद्र ही संवेदनशील हैं, अन्य सभी अत्यंत संवेदनशील हैं।
जम्मू कश्मीर में अल-कायदा की पहचान बने आतंकी संगठन अंसार उल गजवात-ए-हिन्द का कमांडर जाकिर मूसा और हिज्ब का दुर्दांत आतंकी रियाज भी इसी इलाके से हैं। पूरे दक्षिण कश्मीर में लगभग 200 स्थानीय आतंकी सक्रिय हैं।

इसके अलावा कोई गांव या मोहल्ला ऐसा नहीं है, जहां आतंकियों का ओवरग्राउंड नेटवर्क सक्रिय नहीं है। क्षेत्र में आतंकियों का दबदबा साफ नजर आता है। पूरे क्षेत्र में पुलिस, सेना और सीआरपीएफ के शिविरों की मौजूदगी, दिन-रात सुरक्षाबलों की गश्त के बावजूद लोग शाम होते ही घरों से बाहर निकलने से कतराते हैं। यह वही इलाका है, जहां आतंकियों ने पुलिस अधिकारियों व कर्मियों के परिजनों को अगवा करते हुए संदेश दिया कि अगर हमारे परिजनों पर बात आई तो हम जवाबी कार्रवाई करेंगे।
इस दक्षिण कश्मीर के इस जिले में 529256 मतदाता हैं, जिनमें 269603 पुरुष, 257540 महिलाएं, 2102 सर्विस मतदाता और 11 ट्रांसजेंडर मतदाता हैं। सुगम मतदान के लिए चुनाव आयोग ने जिले में 714 मतदान केंद्र स्थापित किए हैं।

इस बीच ऑल पार्टीज हुर्रियत कॉन्फेंस के चेयरमैन सैयद अली गिलानी ने 23 अप्रैल को अनंतनाग सीट पर होने वाले लोकसभा चुनाव के मद्देनजर अनंतनाग बंद का आह्वान किया है।

उन्होंने सभी से आह्वान किया है कि वे चुनाव का बहिष्कार करें और श्रीनगर की तरह अनंतनाग चुनाव में किसी भी तरह की भागीदारी न करें। उन्होंने कहा कि सत्ता के भूखे लोग अपने निजी स्वार्थों के लिए लोकसभा चुनावों में भाग लेकर इसका प्रचार कर रहे हैं।

 

और भी पढ़ें :