चुनाव में हो सकता है तस्करी के सोने का इस्तेमाल, कस्टम विभाग ने कसा शिकंजा

नई दिल्ली| पुनः संशोधित बुधवार, 8 मई 2019 (15:34 IST)
नई दिल्ली। दिल्ली में के दौरान तस्करी के सोने के इस्तेमाल की आशंका के बीच सीमाशुल्क विभाग ने अपनी निगरानी बढ़ा दी है। अधिकारियों ने बुधवार को बताया कि सीमा शुल्क विभाग ने सोने की जब्ती का ब्योरा और चुनाव अधिकारियों से साझा करना शुरू कर दिया है।

दिल्ली के मुख्य निर्वाचन अधिकारी (सीईओ) ने इस बारे में सीमा शुल्क विभाग, केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ), आयकर विभाग तथा नागर विमानन सुरक्षा ब्यूरो (बीसीएएस) को निर्देश दिया था, जिसके बाद यह कदम उठाया गया है।

अधिकारियों ने बताया कि सीमा शुल्क विभाग खाड़ी क्षेत्र से सोने की तस्करी कर लाने वाले लोगों की कड़ी निगरानी कर रहा है, जिससे सोने या नकदी की किसी तरह की संदिग्ध गतिविधि को रोका जा सके। एक अन्य अधिकारी ने कहा कि विदेशी मुद्रा की तस्करी के मामलों पर भी हमारी निगाह है।

दिल्ली के इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर सोने की तस्करी के काफी मामले सामने आए हैं। दिल्ली की सात लोकसभा सीटों के लिए मतदान 12 मई को होगा। उसी दिन गुड़गांव सहित हरियाणा की सभी दस लोकसभा सीटों के लिए भी मतदान होगा।

अधिकारी ने कहा कि चुनाव में इस्तेमाल के लिए सोने और नकदी की तस्करी का प्रयास हो सकता है। सीमा शुल्क अधिकारियों ने हवाई अड्डे पर कड़ी चौकसी बरती हुई है।

सीमा शुल्क विभाग एक किलोग्राम या उससे अधिक सोना जब्त किए जाने संबंधी सूचना आयकर विभाग और चुनाव अधिकारियों से साझा कर रहा है।

मुख्य चुनाव अधिकारी के निर्देशानुसार सीआईएसएफ और सीमा शुल्क विभाग को दस लाख रुपए से अधिक की नकदी तथा इतने ही मूल्य के अन्य सामान तथा एक किलोग्राम या अधिक मात्रा में कीमती धातुओं की जब्ती की जानकारी आयकर विभाग से साझा करने को कहा गया है।

दिल्ली हवाई अड्डे पर 2018 में सोने की तस्करी के 340 मामले पकड़े गए। यह 2017 में दर्ज मामलों की तुलना में 58 प्रतिशत अधिक है। इन मामलों में 113.83 करोड़ रुपए मूल्य का 402.48 किलोग्राम सोना पकड़ा गया और 262 लोगों को गिरफ्तार किया गया। (भाषा)

 

और भी पढ़ें :