गाबा के गब्बर: गिल, पंत और सिराज

Last Updated: मंगलवार, 19 जनवरी 2021 (17:43 IST)
ऑस्ट्रेलिया को उसकी जमीन पर गाबा जैसे मैदान पर वह टीम ही हरा सकती है जिसके पास खोने के लिए कुछ ना हो। युवा खिलाड़ियों से सजी टीम इंडिया के इन खिलाड़ियों के पास भूतपूर्व का कुछ नहीं था। यही कारण रहा कि यह तीन गाबा के गब्बरों ने कंगारुओं का शिकार किया।
:
पृथ्वी शॉ की जगह टीम में चयन किए गए शुभमन गिल ने दूसरे टेस्ट से ही प्रभावित करना शुरु कर दिया था। शुभमन गिल ने 3 मैचों में 259 रन बनाए और चौथे टेस्ट की दूसरी पारी में सर्वाधिक 91 रन बनाए। यह सीरीज में किसी भी सलामी बल्लेबाज का सर्वाधिक स्कोर रहा। 146 गेंदो में खेली गई इस पारी में गिल ने 8 चौके और 2 छक्के लगाए।
अपना शतक चूकने का मलाल उन्हें रहा होगा पर सुबह से गिल ने ही टीम इंडिया को सुरक्षित किया तभी आने वाले बल्लेबाज टीम को जीत की और ले गए।

:
आज जिस बल्लेबाज के सिर जीत का सेहरा बंध रहा है वह है ऋषभ पंत। पंत सिडनी में भी इस तरह की पारी खेल रहे थे लेकिन वह अपना शतक चूक गए और मैच ड्रॉ हो गया। आज फिर उनके सामने एक वही स्थिती थी और आज वह नहीं चूके।

दूसरी पारी में उन्होंने 118 गेंदो में 89 रन बनाए जिसमें 9 चौके और 1 छक्का शामिल था। विजयी चौका पंत ने ही लगाया। हालांकि कई बार गैरजिम्मेदाराना शॉट खेलकर वह फैंस की दिल की धड़कने बढ़ाते रहे। लेकिन पंत भला तो सब भला।

:
ब्रिस्बेन टेस्ट में मोहम्मद सिराज ने जो किया उसे वह काफी लंबे समय तक याद रखने वाले हैं। चौथे दिन सिराज ने टेस्ट क्रिकेट में अपना पहला 5 विकट हॉल लिया। सिराज ने कठिन समय में यह उपलब्धि हासिल की। 3 मैच में 13 विकेट लेने वाले सिराज के खिलाफ दर्शकों ने उन से तीन बार बद्तमीजी की लेकिन सिराज ने संयम नहीं खोया।

बल्ले से थोड़ा गुस्सा दिखाने के बाद गेंद से तो सिराज को आज कहर ढाना ही था। उन्होंने पहले लाबुशेन को और फिर स्टीव स्मिथ को आउट किया। स्मिथ ने जाते जाते बताया कि वह कैसे गेंद पर चकमा खा गए। इसके बाद उन्होंने वेड, हेजलवुड और स्टार्क को अपना शिकार बनाया।। (वेबदुनिया डेस्क)



और भी पढ़ें :