अगले 5 सालों तक भारत पाकिस्तान के द्विपक्षीय सीरीज में आमने सामने होने के आसार नहीं

पुनः संशोधित बुधवार, 17 अगस्त 2022 (17:03 IST)
हमें फॉलो करें
नई दिल्ली: भारतीय पुरूष टीम आईसीसी के भावी दौरा कार्यक्रम (FTP) के तहत अगले पांच साल में यानी मई 2023 से अप्रैल 2027 के बीच 138 द्विपक्षीय अंतरराष्ट्रीय मैच खेलेगी।भारतीय टीम पांच साल में 38 टेस्ट, 39 वनडे और 61 टी20 मैच खेलेगी। इसमें पाकिस्तान के खिलाफ कोई द्विपक्षीय श्रृंखला नहीं खेली जायेगी।

इस दौरान 12 सदस्य देश 777 अंतरराष्ट्रीय मैच खेलेंगे जिनमें 173 टेस्ट, 281 वनडे और 323 टी20 मैच शामिल है। मौजूदा सत्र में टीमों ने 694 मैच खेले हैं।इस चक्र में आईसीसी की दो पुरूष टेस्ट चैम्पियनशिप, आईसीसी टूर्नामेंट और द्विपक्षीय और तीन देशों की श्रृंखलायें शामिल हैं।

2023-27 के दौरान इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दो टेस्ट शृंखलाएं खेलेगा भारत

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने बुधवार को 2023-27 की अवधि के लिये पुरुषों के भविष्य दौरा कार्यक्रम (एफटीपी) की घोषणा की जिसके तहत भारत आगामी चार सालों में इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दो-दो टेस्ट शृंखलाएं खेलेगा।

आईसीसी द्वारा जारी होने वाला एफटीपी एक निश्चित समयावधि के दौरान होने वाले तीनों प्रारूपों के मुकाबलों की पुष्टि करता है, जबकि टीमें अपनी सहूलत के अनुसार इन मुकाबलों की तिथियां सुनिश्चित कर सकती हैं।

भारत अगले चक्र में अपने अभियान की शुरुआत जुलाई 2023 में वेस्ट इंडीज़ दौरे से करेगा। सीमित ओवर शृंखला में ऑस्ट्रेलिया की मेज़बानी करने के बाद भारतीय टीम दिसंबर 2023 में दक्षिण अफ्रीका जाएगी।

आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप 2019-21 में दूसरे स्थान पर रहने वाली भारतीय टीम इस चक्र में अपनी पहली पांच टेस्ट मैचों की शृंखला इंग्लैंड के खिलाफ जनवरी 2024 में खेलेगी।

इसके अलावा भारत ऑस्ट्रेलिया में (नवंबर-जनवरी 2025), इंग्लैंड में (जून 2025) और घर पर (जनवरी-फरवरी 2027) ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पांच मैचों की टेस्ट शृंखला में हिस्सा लेगा।जून 2018 में बेंगलुरू में टेस्ट में पदार्पण करने वाली अफगानिस्तान टीम 2026 में एक बार फिर भारत में अपना एकलौता टेस्ट मैच खेलेगी।

आईसीसी क्रिकेट के महाप्रबंधक वसीम खान ने कहा, "अगले चार वर्षों के लिए इस एफ़टीपी को बनाने में किए गए प्रयासों के लिए मैं अपने सदस्यों को धन्यवाद देना चाहता हूं। हम अविश्वसनीय रूप से भाग्यशाली हैं कि हमारे पास खेल के तीन जीवंत प्रारूप हैं। आईसीसी वैश्विक कार्यक्रमों और मजबूत द्विपक्षीय और घरेलू क्रिकेट के उत्कृष्ट कार्यक्रम के साथ और यह एफ़टीपी हर तरह के क्रिकेट को फलने-फूलने के लिए डिज़ाइन किया गया है।"भारत और आस्ट्रेलिया के बीच बॉर्डर गावस्कर ट्रॉफी चार मैचों की बजाय पांच मैचों की हो गई है।



और भी पढ़ें :