महेंद्र सिंह धोनी बने सर्वश्रेष्ठ गौ-पालक, किसान मेले में मिला अवॉर्ड

Last Updated: मंगलवार, 9 मार्च 2021 (00:07 IST)
रांची: क्रिकेट जगत में कई आसीसी ट्रॉफी जीतने के बाद और कई रिकॉर्ड्स अपने नाम करने के बाद अब महेंद्र सिंह धोनी ने खेती में भी सफलता के परचम लहराना शुरु कर दिए हैं। बिरसा कृषि महाविद्यालय में आयोजित एक किसान मेला में उन्हें पूर्वी भारत का सर्वश्रेष्ठ चुना गया।

इस आयोजन में के स्पीकर रविंद्रनाथ महतो ने धोनी का फार्म हाउस संभालने वाले कर्मचारी कुनाल गौरव को यह अवार्ड दिया जो इस कार्यक्रम में धोनी का प्रतिनिधित्व कर रहे थे।

धोनी को है गायों से बड़ा लगाव
कुनाल गौरव ने कहा कि यह अवार्ड मिलना उनके लिए गर्व की बात है। उन्होंने यह भी कहा कि धोनी को गायों से बेहद लगाव है। अगर वह रांची में होते हैं तो वह हर दिन गायों को देखने और उनकी स्थिती का जायजा लेने जरूर आते हैं।

उन्होंने बताया कि कि फार्म हाउस में कुल 73 हैं और इसमें सेहवाल और फ्रीजैन प्रजाति की गाय भी शामिल है जो पंजाब से मंगाई गई है। गौरव ने बताया कि डेयरी में हर रोज करीब 400 लीटर दूध का उत्पादन होता है जो काउंटर्स से बेचा जाता है।

उन्होंने जानकारी दी कि इज्जा फार्म के लालपुर सेंटर से इस दूध की बिक्री की जाती है। कुनाल ने बताया कि फ्रैजान प्रजाति की गाय का दूध 55 रुपए प्रति लीटर की दर से बेचा जाता है वहीं सेहवाल प्रजाति की गाय का दूध 85 रुपए प्रति लीटर की दर पर घर घर भिजवाया जाता है।
माही रखते हैं गायों का पूरा ध्यान
कुनाल ने यह भी बताया कि धोनी सिर्फ गायों को ऊपरी तौर पर नहीं देखते हैं बल्कि उनके खाने और उनकी दवाई का भी ध्यान रखते हैं। उन्होंने यह भी बताया कि फार्महाउस में कुल 300 गायों को रखने की व्यवस्था है।

भविष्य में धोनी की योजना है कि एक अलग प्रजाति की गाय प्रजनन के माध्यम से फार्म हाउस से निकाली जाए जिसे बाद में राज्य के किसानों को भी बांटा जा सकते।

दूध के अलावा धोनी ने जैविक सब्जियां उगाने में भी दिलचस्पी दिखायी। उनके फार्म हाउस पर ब्रोकली, पपीता, आलू. टमाटर, लीची उगाई जाती है। इन सब्जियों को जल्द ही विदेशों में बेचा जाएगा।


गौरतलब है कि आईसीसी वनडे विश्वकप के सेमीफाइनल के बाद धोनी कभी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में नहीं दिखे। इसके बाद उन्होंने भारतीय थल सेना में लेफ्टिनेंट की उपाधि ली और कश्मीर में अपनी ड्यूटी को बखूबी अंजाम दिया।

कभी देश सेवा तो कभी गौ सेवा, यही कारण है कि पिछले साल 15 अगस्त पर क्रिकेट से संन्यास लेने वाले महेंद्र सिंह धोनी की फैन फॉलोइंग कम होने का नाम नहीं ले रही। हाल ही में राजस्थान में जालौर जिले के सांचौर उपखंड में एक स्कूल का लोकार्पण करने आये महेंद्र सिंह धोनी के कार्यक्रम में प्रशंसकाें के बेकाबू होने पर पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ गया था।(वेबदुनिया डेस्क)




और भी पढ़ें :