कप्तान कोहली ने की धोनी और लॉयड की बराबरी, कुल टेस्ट जीत में अब सिर्फ इन 3 कप्तानों से हैं पीछे

Last Updated: शनिवार, 6 मार्च 2021 (20:39 IST)
इंग्लैंड के खिलाफ चार टेस्ट मैचों की सीरीज में कप्तान के तौर पर कोहली ने पूर्व वेस्टइंडीज ऑलराउंडर की बराबरी कर ली है। सीरीज शुरु होने से पहले विराट ने अपनी कप्तानी में 56 मैचों में 33 मैच जीते थे जबकि लॉयड ने अपनी कप्तानी में 74 मैचों में 36 मैच जीते हैं। चौथा टेस्ट जीतकर विराट ने अपनी कप्तानी में कुल 60 टेस्ट मैचों में से 36 में जीत हासिल कर ली है।
कप्तान के तौर पर कुल टेस्ट जीतों में वह लॉयड के साथ चौथे स्थान पर खड़े हैं। कोहली से सिर्फ तीन कप्तान ही आगे हैं।

दक्षिण अफ्रीका के ग्रीम स्मिथ ने अपनी कप्तानी में 109 टेस्टों में 53 मैच, ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान ने 77 मैचों में 48 टेस्ट, ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान स्टीव वॉ ने 57 टेस्टों में 41 मैच जीते हैं। विराट कोहली एक टेस्ट और जीतकर लॉयड से आगे निकल सकते हैं हालांकि इसके लिए उनको इंतजार करना होगा।

बल्ले से भले ही विराट कोहली के लिए यह सीरीज उतनी अच्छी ना रही हो लेकिन उन्होंने कप्तानी में आज महेंद्र सिंह धोनी की भी बराबरी कर ली है। धोनी ने अपनी कप्तानी में 60 टेस्ट मैचों में 27 जीते, 18 हारे और 15 ड्रॉ ने 33 जीते हैं, 13 हारे हैं और 10 ड्रॉ खेले हैं। वहीं चौथे टेस्ट के बाद कप्तान विराट कोहली ने 60 टेस्ट मैचों की कप्तानी के बाद 36 जीते हैं, 14 हारे हैं और 10 टेस्ट ड्रॉ करवाए हैं।

हाल ही में विराट कोहली भारतीय पिच पर टीम इंडिया के सबसे सफल कप्तान भी बने थे। यह मकाम कोहली ने तीसरे टेस्ट के बाद हासिल किया। इंग्लैंड पर 10 विकेट से जीत से विराट कोहली ने कप्तान के रूप में घरेलू धरती पर सर्वाधिक टेस्ट जीतने के महेंद्र सिंह धोनी के रिकार्ड को तोड़ दिया था। धोनी की अगुवाई में भारत ने घरेलू धरती पर 30 टेस्ट मैचों में 21 जीत हासिल की थी। अब कोहली की कप्तानी में भारत ने अपनी सरजमीं पर जो 30 टेस्ट मैच खेले हैं उनमें से 23 में उसे जीत मिली है।

भारत इंग्लैंड के खिलाफ इस सीरीज के चार मैच खेलने के साथ ही अपने टेस्ट इतिहास के 550 टेस्ट मैच पूरे कर चुका है। भारत ने अबतक 550 टेस्ट खेले हैं जिनमें से उसने 162 जीते हैं, 169 हारे हैं, एक टाई खेला है और 218 ड्रॉ करवाए हैं। (वेबदुनिया डेस्क)



और भी पढ़ें :