शुभमन के अर्धशतक से शुरु हुआ दिन जड़ेजा के 50 पर रुका, आज यह होगी रणनीति

Last Updated: शुक्रवार, 26 नवंबर 2021 (08:11 IST)
के में शुरु हुआ पहला टेस्ट भारत के लिए के अर्धशतक से शुरु हुआ और रविंद्र जड़ेजा के अर्धशतक पर खत्म हुआ। इस बीच अपना पहला टेस्ट खेल रहे ने भी पचास रन बनाकर अपने टेस्ट करियर की धुंआधार शुरुआत की।

भारत सिर्फ दूसरे सत्र में परेशानी में पड़ा जिसमें काइल जैमिसन ने भारत के दो बड़े चटकाए। इसमें शुभमन गिल और अजिंक्य रहाणे का विकेट शामिल था। इसके अलावा चेतेश्वर पुजारा का विकेट टिम साउदी ने चटकाया।

हालांकि अंतिम सत्र में बिना विकेट खोए 104 रन बनाकर टीम इंडिया इस मैच में बनी हुई है। अब आज का दिन टीम इंडिया ने अपने नाम कर लिया है। कल उसकी यह रणनीति होनी चाहिए।

पहला लक्ष्य- 350+

भारत न्यूजीलैंड मैच में पासा किसी भी ओर बहुत जल्दी पलटता है। इस कारण पहले भारत को सुबह बहुत जल्दबाजी से बचकर पहला सत्र जीतना होगा और अपने स्कोर को 350 रनों के ओर ले जाना होगा। इसमें थोड़ा और समय भी लग सकता है। शायद दूसरे सत्र तक भारत अपने आज के स्कोर में करीब 100 रन जोड़ पाए।

दूसरा लक्ष्य- एक बार बल्लेबाजी

गौरतलब है कि इस टेस्ट में ना ही रोहित शर्मा, ना ही केएल राहुल, ना ही हनुमा विहारी और ना ही विराट कोहली खेल रहे हैं। तो बल्लेबाजी का पूरा दारोमदार अब श्रेयस अय्यर और रविंद्र जड़ेजा पर ही है। ऋद्दिमान साहा भी बल्लेबाजी कर सकते हैं। लेकिन इसके बाद पूंछ शुरु हो जाएगी।

ऐसे में अगर 350 का स्कोर भारत पार कर लेती है तो उसे एक बार बल्लेबाजी करने पर ध्यान लगाना होगा। भारत अगर दिन के अंत से थोड़ा पहले 500 तक अपनी पारी घोषित कर देता है या फिर ऑल आउट भी हो जाता है तो भारतीय गेंदबाजों के सामने दो दिन के थके हुए कीवी सलामी बल्लेबाज पिच पर उतरेंगे।

उनमें से अगर 1 भी आउट हो गया तो फिर न्यूजीलैंड टीम अपने नाइटवाचमैन को क्रीज पर भेजने को मजबूर हो सकती है। ऐसे में यह मैच तीसरे या फिर चौथे दिन खत्म होने की संभावना हो सकती है। यह भारत की पारी से जीत की स्क्रिप्ट हो सकती है।

अश्विन पर रह सकता है ऑलराउंड प्रदर्शन करने का दबाव

रविचंद्रन अश्विन पर ज्यादा दबाव होने की संभावना है। अगर एक दो विकेट जल्दी गिर जाएं तो उनको बल्लेबाजी में वही कमाल दिखाना होगा जो इंग्लैंड के खिलाफ दिखाया था।

इसके बाद गेंदबाजी में तो उनसे घरेलू पिच पर हमेशा अच्छा करने की अपेक्षाएं रहती ही हैं। इस ही साल इंग्लैंड के भारत दौरे पर उन्होंने चेन्नई में खेले गए दूसरे टेस्ट में 5 विकेट लिए थे और एक शतक जड़ा था। इस से मिला जुला प्रदर्शन आर अश्विन को कल दोहराना पड़ सकता है।



और भी पढ़ें :