टीम इंडिया को मिला बारिश का फायदा, पहली बार महिला T-20 विश्व कप के फाइनल में

indian women t20 team
Last Updated: गुरुवार, 5 मार्च 2020 (11:11 IST)
सिडनी। की वजह से गुरुवार को और के बीच होने वाला आईसीसी महिला टी20 विश्व कप का पहला सेमीफाइनल नहीं हो पाया। इसका फायदा भारतीय टीम को मिला और वह ग्रुप में टॉप रहने के कारण फाइनल में पहुंच गई।
भारतीय महिला क्रिकेट टीम ने ग्रुप 'ए' में अपने सभी चारों मैच जीते। उसने ऑस्ट्रेलिया, बांग्लादेश, न्यूजीलैंड और श्रीलंका की टीम को हराया। इंग्लैंड की टीम ग्रुप 'बी' में दूसरे स्थान पर रही थी, लिहाजा मैच रद्द होने पर उसे ही सबसे बड़ा नुकसान हुआ।

आईसीसी के नियमानुसार मैच रद्द होने की स्थिति में अपने ग्रुप की टॉप टीमें सीधे फाइनल में पहुंचती हैं। ग्रुप 'ए' में भारत सभी 4 मैच जीतकर शीर्ष पर रहा था, जबकि इंग्लैंड ग्रुप 'बी' में दूसरे स्थान पर थी।

टीम इंडिया अब तक फाइनल नहीं खेली : अब तक 6 वर्ल्ड कप खेले गए हैं। भारतीय टीम कभी फाइनल में नहीं पहुंच सकी। टीम इंडिया ने तीन बार 2009, 2010, 2018 में सेमीफाइनल में जगह बनाई थी। वहीं, ऑस्ट्रेलिया ने सबसे ज्यादा 4 बार खिताब जीता है। इंग्लैंड और वेस्टइंडीज ने एक-एक बार खिताब जीता है।
सबसे ज्यादा रन के मामले में शेफाली तीसरे नंबर पर : इस टूर्नामेंट में इंग्लैंड की नताली स्काइवर ने 4 मैच में 67.37 की औसत से सबसे ज्यादा 202 रन बनाए हैं। दूसरे नंबर पर इंग्लैंड की ही कप्तान हीदर नाइट हैं, जिन्होंने 4 मैच में 64.33 की औसत से 193 रन बनाए। भारतीय ओपनर 16 साल की शेफाली वर्मा 161 रन के साथ तीसरे नंबर पर काबिज हैं। उनका औसत 40.25 का रहा है। इस प्रदर्शन की बदौलत शेफाली आईसीसी टी-20 रैंकिंग में 19 स्थान की छलांग लगाकर टॉप पर पहुंच गईं। उनके 761 पॉइंट हैं।
पूनम यादव के सबसे ज्यादा विकेट : टूर्नामेंट में भारतीय स्पिनर पूनम यादव 4 मैच में 9 विकेट लेकर शीर्ष पर हैं। इस दौरान उनका औसत 9.88 का रहा है। इंग्लैंड की आन्या स्रब्सोल दूसरे और तीसरे नंबर पर सोफी एक्लेस्टोन हैं। दोनों गेंदबाजों ने 4 मैच में 8-8 विकेट हासिल किए हैं। दोनों में आन्या का औसत सबसे अच्छा 10.62 और सोफी का 6.12 का रहा है।


और भी पढ़ें :