खिसियाने कंगारु नोच रहे खंभा, डीआरएस में निकाल रहे खामियां (वीडियो)

पुनः संशोधित सोमवार, 28 दिसंबर 2020 (17:36 IST)
मेलबर्न:के खिलाफ चल रहे की दूसरी पारी में कप्तान के आउट होने से नाखुश ऑस्ट्रेलिया के सलामी बल्लेबाज ने सोमवार को फैसला समीक्षा प्रणाली (डीआरएस) में एकरूपता लागू करने की मांगी की।
मैच के तीसरे दिन रविन्द्र जडेजा की गेंद को विकेटकीपर ऋषभ पंत के द्वारा लपकने के बाद मैदानी अंपायर पॉल रीफेल के फैसले के खिलाफ भारतीय कप्तान ने लिया जिसके बाद तीसरे अंपायर पॉल विल्सन ने उन्हें आउट करार दिया।
आउट होने के बाद मैदान से बाहर जाते समय पेन भी इस फैसले से निराश दिखे। वेड ने इसकी तुलना रविवार को चेतेश्वर पुजारा के खिलाफ इस्तेमाल किये गये ऑस्ट्रेलियाई डीआरएस से की।
उन्होंने कहा, ‘‘ मैंने जैसा देखा है यह कल की पहली गेंद की तरह है। तब हमने डीआरएस का इस्तेमाल किया था। मुझे लगता है वह पुजारा के खिलाफ था।’’

वेड ने मैच के बाद ऑनलाइन संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘ दोनों में मैंने जो देखा उसमें स्निको (आवाज नापने वाली मशीन) में एक जैसी चीज दिखाई दी लेकिन एक को आउट नहीं दिया गया जबकि दूसरे को दे दिया गया।’’

उन्होंने कहा, ‘‘मैंने पुजारा के बल्ले से गेंद लगने की आवाज सुनी थी। मैं उस समय स्लिप में था। हमने और आपने आज जो मैदान में हुआ उसे भी देखा, ऐसे में या तो सभी को आउट दिया जाए या नहीं , इसमें एक समानता होना चाहिए।’’
श्रृंखला में 1-0 की बढ़त लेने के बाद ऑस्ट्रेलियाई टीम दूसरे टेस्ट में की दूसरी पारी में छह विकेट पर 133 रन बनाकर संघर्ष कर रही है। टीम के पास दो रन की बढ़त और उसके चार विकेट बचे हुए है। हरफनमौला कैमरून ग्रीन (नाबाद 17) और पैट कमिंस (नाबाद 15) क्रीज पर मौजूद है।

पारी में 137 गेंद में 40 रन बनाने वाले वेड ने टीम के बल्लेबाजों की आलोचना करते हुए कहा, ‘‘ इस स्थिति के लिए हम खुद दोषी है। भारतीय टीम शुरुआत से ही दबाव बनाने में सफल रही है।’’उन्होंने कहा, ‘‘हमने भारतीय गेंदबाजों को थकाने के लिए ज्यादा कुछ नहीं किया।’’(भाषा)



और भी पढ़ें :