सोमवार, 15 अप्रैल 2024
  • Webdunia Deals
  1. खेल-संसार
  2. क्रिकेट
  3. समाचार
  4. ata Group bags 5 year IPL sponsorship rights for 2500 Crores
Written By WD Sports Desk
Last Updated : शनिवार, 20 जनवरी 2024 (18:12 IST)

Tata Group ने फिर ख़रीदे IPL Title Rights, जानें किस ग्रुप को पीछे पछाड़ा

टाटा समूह ने इसके लिए 2500 करोड़ रूपए में समझौता किया है। समझौते के तहत समूह प्रति सीजन 500 करोड़ रूपए का भुगतान करेगा। ये IPL के इतिहास में स्पांसरशिप के लिए अभी तक की सबसे बड़ी रकम है।

Tata Group ने फिर ख़रीदे IPL Title Rights, जानें किस ग्रुप को पीछे पछाड़ा - ata Group bags 5 year IPL sponsorship rights for 2500 Crores
TATA IPL


Tata Group bags 5 year IPL sponsorship rights : BCCI ने शनिवार को IPL की टाइटल Sponsorship का पांच साल का कांट्रैक्ट टाटा समूह (TATA Group) को दिया है। 
 
टाटा समूह ने इसके लिए 2500 करोड़ रुपये में समझौता किया है। समझौते के तहत समूह प्रति सीजन 500 करोड़ रुपए का भुगतान करेगा। ये IPL के इतिहास में स्पांसरशिप के लिए अभी तक की सबसे बड़ी रकम है। 
 
इससे पहले टाटा समूह के पास साल 2022 और 2023 के लिए IPL की Title Sponsorship थी। 
 
TATA Sons ने कथित तौर पर Indian Premier League IPL 2024-2028 Cycle के प्रायोजन के लिए आदित्य बिड़ला समूह की प्रति वर्ष 500 करोड़ रुपए (कुल 2500 करोड़ रुपए) की भारी बोली की बराबरी कर ली है। टाटा संस ने पिछले दो आईपीएल 2022 और 2023 के लिए 670 करोड़ रुपए का भुगतान किया था। आईपीएल 2024 में 74 मैच होंगे, जबकि BCCI की योजना लीग में खेलों की संख्या 2025 और 2026 में 84 और 2027 में 94 तक बढ़ाने की है।
 
यही नहीं Women Premier League (WIPL), जो क्रिकेट की दुनिया में सबसे बड़ा महिला टी-20 लीग भी है, की स्पांसरशिप भी TATA के पास है.

समाचार एजेंसी ANI के मुताबिक़, BCCI के मानद सचिव जय शाह (Jay Shah) ने एक बयान में कहा है, “हम टाटा समूह के साथ आईपीएल की टाइटल स्पांसरशिप की पार्टनरशिप को लेकर उत्साहित हैं.”
 
उन्होंने कहा, "अभूतपूर्व वित्तीय प्रतिबद्धता अंतरराष्ट्रीय खेल मंच पर आईपीएल के विशाल पैमाने और वैश्विक प्रभाव को दर्शाती है।
 
टाटा समूह के पास अब 2024 से 28 तक आईपीएल की टाइटल स्पांसरशिप रहेगी।  
 
 
इन्व‍िटेशन टू टेंडर (ITT) डॉक्युमेंट के नियमों के अनुसार, TATA IPL के टाइट्ल राइट्स अपने पास ही रिटेन कर सकता था, यद‍ि कोई अन्य इकाई द्वारा ऑफर किए गए हाइएस्ट ऑफर से मेल खाते हों। टाटा ग्रुप ने राइट-टू-मैच (Right to Match) का प्रयोग करने और उसी कीमत पर अधिकार बरकरार रखने का फैसला किया।

टाटा ग्रुप को किसी भी विनिंग सबमिशन का मुकाबला करने का अधिकार था। TATA Sons ने Aditya Birla Group's (ABG) की 2500 करोड़ रूपए की बोली की बराबरी करने के बाद 2024 से 2028 तक इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) टाइटल प्रायोजन अधिकार बरकरार रखा है, यानी प्रति वर्ष 500 करोड़ रूपए।
 
कुछ IPL franchise मालिकों ने United Arab Emirates, South Africa, West Indies और USA में T-20 Leagues में टीमें खरीदी हैं। 
 
आईपीएल फ्रेंचाइजियों द्वारा आकर्षक मल्टी-लीग अनुबंधों की पेशकश के साथ, जिसकी तुलना अधिकांश क्रिकेट बोर्ड नहीं कर सकते, IPL की वृद्धि से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट पर टी20 लीग को प्राथमिकता देने वाले खिलाड़ियों के बारे में चिंताएं गहरा सकती हैं। आज कल कई बार ऐसा देखा गया कि खिलाड़ियों ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से ज़्यादा टी20 लीग को प्राथमिकता दी। 
ये भी पढ़ें
U19 World Cup: आदर्श और उदय के अर्थशतक, भारत के 7 विकेट पर 251 रन