गलत आउट मिलने के बाद भड़के मैथ्यू वेड, ड्रेसिंग रूम में जाकर फेंका हेलमेट और बैट (वीडियो)

बल्ले से लगी गेंद फिर भी LBW आउट हुए वेड, मैदानी नहीं तीसरा अंपायर भी नहीं सुधार पाया गलती

Last Updated: शुक्रवार, 20 मई 2022 (15:20 IST)
हमें फॉलो करें
मुम्बई:अंपायर के फ़ैसले पर नाराज़गी जताने के कारण मैच रेफ़री ने को औपचारिक रूप से फटकार लगाई है।गुजरात टाइटंस और रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के बीच गुरुवार को हुए मैच में मैथ्यू वेड हमवतन की एंगल से अंदर आती एक गेंद पर पगबाधा करार दिए गए।

हालांकि वेड को एकदम विश्वास था कि गेंद पैड पर लगने से पहले बल्ले का अंदरूनी किनारे से लग कर गई है, इसलिए उन्होंने रिव्यू भी लिया। रिप्ले में भी ऐसा लगा कि गेंद ने बल्ले का किनारा लेकर अपनी दिशा बदली है, लेकिन अल्ट्रा एज में ऐसा कुछ नहीं दिखा।

कॉमेंटेटर मैथ्यू हेडन, ग्रीम स्वान और साइमन डूल भी इस निर्णय को लेकर आश्चर्यचकित थे। उन्हें भी नंगी आंखों और फिर बार-बार रिप्ले देखने से यह लग रहा था कि गेंद ने बल्ले को ज़रूर छुआ है। वेड इस निर्णय से भौचक्का थे। वह सिर हिलाते हुए पवेलियन वापस पहुंचे। ड्रेसिंग रूम में उन्होंने बल्ला और हेल्मेट फेंक अपनी नाराज़गी जाहिर की।
मैच के बाद रेफ़री ने उन्हें आईपीएल कोड ऑफ़ कंडक्ट के धारा 2.5 के तहत लेवल-1 का दोषी माना है और उन्हें कड़ी फटकार लगाई है। वेड ने भी अपने दोष को मान कर सज़ा स्वीकार कर ली है।

जब अंपायर ने उंगली उठाई तो मैथ्यू वेड 13 गेंदो में 16 रन बनाकर 2 चौके और 1 छक्के की मदद से 16 रन बनाकर लय प्राप्त कर चुके थे। लेकिन इस गलती के कारण वह अपनी पारी को आगे नहीं बढ़ा सके और इसका खामियाजा गुजरात टीम को भी भुगतना पड़ा। इसके अलावा टीम ने 2 में से 1 रिव्यू भी गंवा दिया।

गुजरात के कप्तान हार्दिक पांड्या ने मैच के बाद कहा, "बहुत हल्का किनारा था और यह बड़ी स्क्रीन पर ठीक से दिख भी नहीं रहा था। अगर तकनीक इसमें हमारी मदद नहीं कर रही है तो हमें नहीं पता कि और कौन मदद कर सकता है। आप इसमें किसी को दोषी भी नहीं ठहरा सकते हो। हालांकि यही तकनीक अधिकतर समय बहुत अच्छे ढंग से काम करती है।"

इस मैच में गुजरात को आठ विकेट से बड़ी हार मिली। हालांकि वह पहले ही शीर्ष दो में जगह बना चुके हैं और उन्हें फ़ाइनल में पहुंचने के लिए कम से कम दो मौक़े मिलेंगे।



और भी पढ़ें :