डि कॉक और राहुल के बीच हुई IPL इतिहास की सबसे बड़ी सलामी साझेदारी, कोलकाता के खिलाफ बनाए 210 रन

Last Updated: बुधवार, 18 मई 2022 (23:28 IST)
हमें फॉलो करें
के शानदार शतक और कप्तान केएल राहुल के अर्धशतक की बदौलत ने बिना कोई विकेट खोए के सामने जीत के लिए 211 रनों का लक्ष्य रखा।

यह सिर्फ इस आईपीएल की ही नहीं बल्कि आईपीएल इतिहास की पहले विकेट के लिए सबसे बड़ी साझेदारी है। इससे पहले इस सत्र में चेन्नई के लिए डेवॉन कॉन्वे और ऋतुराज गायकवाड़ ने पहले विकेट के लिए 182 रनों की साझेदारी निभाई थी।
इससे पहले साल 2019 में हैदराबाद के लिए जॉनी बेरेस्टो और डेविड वॉर्नर ने पहले विकेट के लिए 185 रनों की साझेदारी की थी।
इसके अलावा अगर किसी भी विकेट की साझेदारी पर नजर डाली जाए तो यह तीसरी सबसे बड़ी साझेदारी है। पहले और दूसरे पर बैंगलोर के पूर्व कप्तान विराट कोहली और एबीडीविलियर्स की 229 और 215 रनों की साझेदारी है।

टी20 क्रिकेट में यह केवल चौथी बार हुआ है जब किसी टीम ने पहले बल्लेबाज़ी करते हुए कोई भी विकेट नहीं गंवाया है। आज के सलामी जोड़ीदारों को वर्षों तक याद रखा जाएगा। यह बल्लेबाज़ी करने के लिए मुश्किल विकेट है। हालांकि राहुल और डिकॉक ने एक मुश्किल विकेट को अपनी समझदारी से आसान बना दिया।

क्विंटन डी कॉक (नाबाद 140) के शानदार शतक और उनकी कप्तान लोकेश राहुल (नाबाद 68) के साथ 210 रन की रिकॉर्ड अविजित साझेदारी की बदौलत लखनऊ सुपर जायंट्स ने कोलकाता नाईट राइडर्स के खिलाफ आईपीएल मुकाबले में बुधवार को 20 ओवर में बिना कोई विकेट खोये 210 रन का विशाल स्कोर बना लिया।

टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए डी कॉक ने 12 रन के निजी स्कोर पर मिले जीवनदान का पूरा फायदा उठाते हुए शानदार शतक ठोक दिया। डी कॉक ने 70 गेंदों पर नाबाद 140 रन में 10 चौके और 10 छक्के उड़ाए। राहुल ने अर्धशतक बनाया और लगातार पांचवीं बार आईपीएल में 500 रन पूरे किये। राहुल ने 51 गेंदों पर 68 रन में तीन चौके और चार छक्के लगाए।

आखिरी पांच ओवरों में उन्होंने कोलकाता के गेंदबाजों का धुंआ निकाल दिया।कोलकाता के टिम साउदी चार ओवर में 57 रन लुटाकर सबसे महंगे साबित हुए। आंद्रे रसेल ने तीन ओवर में 45 रन लुटाये जबकि सुनील नारायण चार ओवर में 27 रन देकर सबसे सटीक रहे।



और भी पढ़ें :