IPL 2021 : विराट कोहली का एक और बड़ा फैसला, छोड़ेंगे RCB की कप्तानी

Virat Kohli
Last Updated: रविवार, 19 सितम्बर 2021 (23:58 IST)
दुबई। विराट कोहली (Virat Kohli) इंडियन प्रीमियर लीग (Indian Premier League) के मौजूदा सत्र के बाद रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर (RCB) की कप्तानी छोड़ेंगे।
ALSO READ:
MI vs CSK: चेन्नई सुपर किंग्स ने मुंबई को 20 रन से हराया, प्वाइंट्स टेबल में टॉप पर पहुंचीं
अगले महीने टी- 20 विश्व कप के बाद राष्ट्रीय टीम की कप्तानी छोड़ने का फैसला करने के 2 दिन बाद रविवार को कोहली ने आरसीबी की कप्तानी छोड़ने का ऐलान किया।

सभी प्रारूपों में टीम इंडिया की कप्तानी को लेकर पड़ने वाले काम के बोझ को देखते हुए 32 साल के कोहली ने भारत की टी-20 टीम की कप्तानी छोड़ने का फैसला किया और फ्रेंचाइजी क्रिकेट में कप्तानी छोड़ने का उनका फैसला इन्हीं प्रयासों का हिस्सा है। फ्रेंचाइजी के सबसे सफल खिलाड़ियों में से एक 32 साल के कोहली हालांकि आरसीबी की टीम का हिस्सा बने रहेंगे।
कोहली ने आरसीबी द्वारा जारी वीडियो बयान में कहा कि यह आरसीबी के कप्तान के रूप में मेरा आखिरी आईपीएल होगा। मैं अपने अंतिम आईपीएल मैच तक आरसीबी का खिलाड़ी बना रहूंगा। मैं मेरे ऊपर विश्वास और मेरा समर्थन करने के लिए आरसीबी के प्रशंसकों को धन्यवाद देता हूं।

उन्होंने कहा कि यह शानदार और प्रेरणादायी यात्रा रही, आरसीबी टीम के प्रतिभावान खिलाड़ियों के समूह की कप्तानी करना। मैं इस मौके पर आरसीबी प्रबंधन, कोच, सहयोगी स्टाफ, खिलाड़ियों और पूरे आरसीबी परिवार को धन्यवाद देना चाहता हूं जिन्होंने फ्रेंचाइजी की प्रगति में अहम भूमिका निभाई।
उन्होंने कहा कि यह आसान फैसला नहीं था लेकिन काफी सोच विचार के साथ यह फैसला किया गया और इस शानदार फ्रेंचाइजी के सर्वश्रेष्ठ हित में है।

कोहली ने कहा कि मैंने टीम से बात की। यह मेरे दिमाग में था, क्योंकि हाल में मैंने टी-20 कप्तानी छोड़ने का फैसला किया जिससे कि अपने ऊपर पड़ रहे काम के काफी बोझ का प्रबंधन कर सकूं।

उन्होंने कहा कि मैं स्पष्ट होना चाहता था कि मुझे आगे कैसे बढ़ना है। मैंने प्रबंधन को साफ कर दिया है कि मैं आरसीबी के अलावा किसी और टीम का हिस्सा बनने के बारे में नहीं सोच सकता।
कोहली को 2008 में लीग के शुरू होने पर आरसीबी में शामिल किया गया था। उन्हें 2013 में टीम की कप्तानी सौंपी गई। उनकी अगुआई में टीम कभी आईपीएल खिताब नहीं जीत पाई लेकिन उनकी ब्रांड कीमत के कारण उन्हें कभी कप्तानी से नहीं हटाया गया।



और भी पढ़ें :