IPL 2020 : अमित मिश्रा के दिल का दर्द सामने आया, मैं जिसका हकदार था वो मुझे कभी नहीं मिला

Last Updated: सोमवार, 28 सितम्बर 2020 (18:49 IST)
अबु धाबी। के अमित मिश्रा ने इंडियन प्रीमियर लीग (2020) में जैसी सफलता हासिल की वैसे भारतीय टीम के साथ उनका करियर कभी परवान नहीं चढ़ा लेकिन इस लेग स्पिनर ने इस बारे में सोचना छोड़ दिया है।
उनके दिल का दर्द सामने आया और इस दर्द को उन्होंने साझा भी किया। अमितमिश्रा ने में 148 मैचों में 157 विकेट लिए है और वह इस लीग में सबसे ज्यादा विकेट लेने वालों की सूची में लसित मलिंगा के बाद दूसरे स्थान पर हैं।
मिश्रा ने सोमवार को कहा, ‘मुझे नहीं पता कि मैं दूसरे से कमतर हूँ या नहीं। मैं पहले इस बारे में बहुत ज्यादा सोचता था, इसलिए दिमाग भटक जाता था, अब मैं सिर्फ अपने खेल पर ध्यान देता हूं’।
उन्होंने सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ मैच से पहले ऑनलाइन संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘ईमानदारी से कहूं तो मुझे वह नहीं मिला, जिसका मैं हकदार था। लोग जानते हैं कि अमित मिश्रा कौन है। मेरे लिए इतना ही काफी है। मुझे अपने क्रिकेट और गेंदबाजी पर ध्यान देना होता है जो मैं कर रहा हूं।’
ALSO READ:
में दूसरी बार मना 'Super Sunday', पंजाब की तश्तरी से राजस्थान ने छीना 'जीत का निवाला'
इस 37 साल के गेंदबाज ने हरियाणा के अपने साथी गेंदबाज राहुल तेवतिया की तारीफ की। उन्होंने कहा आईपीएल की किवदंतियों में जगह बनाने वाली पारी खेलकर राहुल तेवतिया ने आशातीत प्रदर्शन किया है। तेवतिया और अमित मिश्रा दोनों हरियाणा से हैं और 2018 में दिल्ली कैपिटल्स के लिए साथ खेले थे।
के लिए खेलते हुए तेवतिया ने किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ 18वें ओवर में 5 छक्के जड़कर मैच का पासा पलट दिया। उन्होने 31 गेंदों में 7 छक्कों की मदद से 53 रनों की 'मैच विनिंग' पारी खेली।
मिश्रा ने सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ मैच से पहले कहा, ‘राहुल अपनी बल्लेबाजी पर फोकस कर रहे थे। जिस तरह वे कल खेले, यह हरियाणा क्रिकेट के भविष्य के लिए अच्छा है। मैं चाहता हूं कि वह आगे भी ऐसे ही खेलते रहे।’
उन्होंने कहा, ‘मुझे लगा था कि वह अच्छा खेल सकते हैं लेकिन जिस तरह से वह कल खेले, मैंने सोचा भी नहीं था। कई बार आप इतना फोकस कर पाते हो कि हालात को अपने अनुरूप मोड़ सकते हो। इस तरह की पारी बार बार देखने को नहीं मिलती। यह उनके जीवन की सर्वश्रेष्ठ पारियों में से होगी।’
मिश्रा ने कहा कि अबु धाबी की पिच बल्लेबाजों की मददगार है। उन्होंने कहा,‘हमने इस विकेट पर अभ्यास नहीं किया है लेकिन यह बल्लेबाजों की मददगार है। थोड़ी धीमी है और बल्लेबाज को शॉट खेलने के लिए समय मिल रहा है।’
दिल्ली के कोच रिकी पोंटिंग के बारे में उन्होंने कहा, ‘वह इतने लंबे समय तक खेले हैं कि उन्हें खिलाड़ियों की मनोदशा के बारे में पता है। किसी में आत्मविश्वास की कमी या अति आत्मविश्वास है तो उन्हें पता है कि क्या कहना है। वह हमेशा सकारात्मक बात करते हैं और उनसे खिलाड़ियों के साथ तालमेल के बारे में काफी कुछ सीखा है।’



और भी पढ़ें :