ब्रिटेन की अर्थव्यवस्था में आई 1709 के बाद की सबसे बड़ी गिरावट

Last Updated: शुक्रवार, 12 फ़रवरी 2021 (22:49 IST)
लंदन। ब्रिटेन की अर्थव्यवस्था को (Coronavirus) महामारी के चलते 2020 में 300 से अधिक वर्षों में सबसे बड़ी गिरावट का सामना करना पड़ा। पिछले साल ब्रिटेन की अर्थव्यवस्था में 9.9 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई। महामारी के चलते ब्रिटेन में दुकान और रेस्तरां बंद हो गए। इसके अलावा महामारी ने यात्रा और विनिर्माण को तबाह कर दिया।
राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय ने शुक्रवार को कहा कि 2020 में आई आर्थिक गिरावट वैश्विक वित्तीय संकट के दौरान 2009 की गिरावट की तुलना में दो गुने से अधिक है। यह गिरावट 1709 के बाद की सबसे बड़ी है, जब ग्रेट फ्रॉस्ट के रूप में प्रसिद्ध सर्दियां पड़ी थीं। तब ब्रिटेन मुख्यत: कृषि आधारित अर्थव्यवस्था था।

ब्रिटेन के वित्तमंत्री ऋषि सुनक ने एक बयान में कहा, आज के आंकड़े बताते हैं कि महामारी के परिणामस्वरूप अर्थव्यवस्था को गहरा झटका लगा है, जिसे दुनियाभर के देशों ने महसूस किया है। हालांकि सर्दियों के दौरान अर्थव्यवस्था के लचीलेपन के कुछ सकारात्मक संकेत हैं, लेकिन हम जानते हैं कि वर्तमान लॉकडाउन का कई लोगों और व्यवसायों पर महत्वपूर्ण प्रभाव पड़ रहा है।

सुनक ने कहा कि वह नौकरियों की सुरक्षा के लिए सालाना बजट भाषण में नई योजनाओं की घोषणा करेंगे। वह तीन मार्च को हाउस ऑफ कॉमन्स में बजट संबोधन देने वाले हैं।
ALSO READ:
TCS ब्रिटेन में 1,500 तकनीकी कर्मचारियों की करेगी भर्ती
ने अधिकांश अन्य औद्योगिक लोकतंत्रों की तुलना में ब्रिटेन की अर्थव्यवस्था को अधिक प्रभावित किया है। 2020 में फ्रांस के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में 8.3 प्रतिशत, जर्मनी की अर्थव्यवस्था में पांच प्रतिशत और अमेरिकी की जीडीपी में 3.5 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई।(भाषा)



और भी पढ़ें :