Thailand के मॉल में मौत का तांडव, 17 घंटे तक गोलीबारी कर सनकी सैनिक ने ली 30 लोगों की जान

Last Updated: सोमवार, 10 फ़रवरी 2020 (00:07 IST)
बैंकॉक। (Thailand) के एक ने 17 घंटे तक मौत का तांडव किया, जिसकी वजह से हो गई। इस तांडव में अभी भी कई लोग घायल हैं। बाद में सुरक्षाबलों की विशेष इकाई ने इस 32 वर्षीय सैनिक को ढेर कर दिया, जो मशीनगन से मौत परोस रहा था। इस सैनिक की पहचान सार्जेन्ट मेजर जकरापंत थोम्मा के रूप में हुई।
मौत का नंगा नाच खेलने वाला सार्जेन्ट मेजर जकरापंत थोम्मा सेना के अपने अधिकारियों से परेशान था। उसने शनिवार को पहले अपने एक कमांडिंग ऑफिसर से मशीनगन छीनी और सै‍न्य शिविर में गोलीबारी की। फिर वह चोरी की गाड़ी से एक बौद्ध मंदिर और पहुंचा जहां उसने अंधाधुंध गोलीबारी की।
जकरापंत थोम्मा की गोलीबारी से 26 लोगों ने अस्पताल पहुंचने से पहले ही दम तोड़ दिया जबकि खून से लथपथ लोग जिंदगी बचाने के लिए अस्पताल पहुंचे जहां देर रात 4 लोगों की मौत हो गई। इस तरह 30 बेकसूर लोग इस सनकी सैनिक की गोलियों का शिकार होकर मौत के मुंह में समा गए।
17 घंटे तक मौत का तांडव करने वाले जकरापंत थोम्मा इस गोलीबारी का फेसबुक पर 'लाइव टेलीकास्ट' करता रहा। उसने बीच में अपनी तस्वीर के साथ 2 संदेश भी भेजे। पहले संदेश में उसने कहा 'कोई भी मौत से बच नहीं सकता।' दूसरे संदेश में वह कहता है, 'क्या मुझे आत्मसमर्पण करना चाहिए।'
थाईलैंड के नखोन रत्चासिमा शहर के एक शॉपिंग मॉल में थोम्मा ने सबसे ज्यादा तबाही मचाई। उसके सामने जो आया, वह गोलियों से भूनता चला गया।
फेसबुक वीडियो में (बाद में जिसे हटा दिया गया) हमलावर सेना का हेलमेट पहने हुए खुली जीप में सवार दिख रहा था और कह रहा था, ‘ मैं थक गया हूं...मैं अब उंगलियों को और नहीं दबा सकता।’

फेसबुक के एक प्रवक्ता ने इस पूरे वाकये पर कहा, ‘हमने अपनी सेवा से बंदूकधारी का अकाउंट हटा दिया है और हम इस घटना संबंधी हर सामग्री को जल्द से जल्द हटाने के लिए लगातार काम करेंगे।’
हमलावर जवान के पास अपने सैन्य शिविर से चुराये कई हथियार थे। उसके पास एक स्वचालित हथियार, एक स्नाइपर राइफल, पिस्तौल और ग्रेनेड जैसे खतरनाक हथियार भी थे। उसने मॉल में कई लोगों को बंधक भी बना लिया था।
निजी परेशानी से परेशान था सैनिक : थाईलैंड के प्रधानमंत्री प्रयुत चान-ओ-चा ने बताया कि एक मॉल में भीषण गोलीबारी करने वाला हमलावर ने किसी ‘निजी परेशानी’ के चलते यह हमला किया। पूर्व सेनाध्यक्ष रह चुके प्रयुत चान-ओ-चा ने बताया कि मृतकों में 13 वर्षीय एक बच्चे सहित कई सुरक्षा कर्मी भी शामिल हैं।
प्रयुत ने कहा, यह थाईलैंड में अप्रत्याशित है और मैं चाहता हूं कि ऐसा दोबारा कभी ना हो। उन्होंने यह बयान उस अस्पताल के बाहर दिया, जहां घायलों का इलाज जारी है। घायलों में से कम से कम दो के मस्तिष्क की सर्जरी की जा रही है। प्रयुत ने बताया कि बंदूकधारी के हमले का मकसद एक घर की बिक्री से जुड़ा है।

स्थानीय मीडिया ने सेना के प्रवक्ता कर्नल विंताई सुवरी के हवाले से कहा कि इस घटना के मद्देनजर देश भर की सुरक्षा बलों एवं सैन्य शिविरों में अतिरिक्त सुरक्षा उपाय किए जा रहे है। उन्होंने कहा, जब स्थिति बेहतर होगी, हम घटनाओं की श्रृंखला का अध्ययन करेंगे... अधिक प्रभावशीलता के लिए मौजूदा उपायों को समायोजित करने पर भी विचार होगा।


और भी पढ़ें :