नस्लवाद विरोधी प्रदर्शनों पर आपराधिक प्रवृत्ति के लोगों का कब्‍जा : बोरिस जॉनसन

पुनः संशोधित सोमवार, 8 जून 2020 (17:35 IST)
लंदन। के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने कहा कि उनके देश में लगातार दूसरे दिन जारी नस्लवाद विरोधी प्रदर्शनों पर आपराधिक प्रवृत्ति के लोगों ने कब्जा कर लिया है। अमेरिका में अश्‍वेत नागरिक जॉर्ज फ्लॉयड की पुलिस हिरासत में मौत के बाद कई अमेरिकी शहरों और ब्रिटेन समेत कई देशों में 'कालों का जीवन मायने रखता है' नाम से नस्लवाद विरोधी प्रदर्शन हो रहे हैं।
इस दौरान लगातार दूसरे दिन हजारों प्रदर्शनकारियों के जमा होने से नियमों का उल्लंघन हुआ है।
जॉनसन ने प्रदर्शनों के हिंसक होने के बाद पुलिस अधिकारियों पर हुए हमलों की भी निंदा की है।

ब्रिटेन के प्रधाननमंत्री ने रविवार को सोशल मीडिया पर कहा कि मेट्रोपॉलिटन पुलिस ने मध्य लंदन में कानून व्यवस्था के उल्लंघन और स्मारकों को नुकसान पहुंचाने के लिए 12 लोगों को गिरफ्तार किया है। लिहाजा इन प्रदर्शनों पर आपराधिक प्रवृत्ति के लोगों का कब्जा हो गया है।

जॉनसन ने कहा, लोगों को शारीरिक दूरी के नियमों का पालन करते हुए शांतिपूर्ण प्रदर्शन करने का अधिकार है, लेकिन पुलिस पर हमले का कोई हक नहीं है। उन्होंने कहा, प्रदर्शनों पर आपराधिक प्रवृत्ति के लोगों का कब्जा हो गया है। वे सेवा का बहाना बनाकर विश्वासघात करते हैं।

जॉनसन ने कहा,इसके लिए जिम्मेदार लोगों को बख्शा नहीं जाएगा।पुलिस ने कहा कि प्रदर्शनकारियों के एक छोटे से समूह ने हिंसा शुरू की और लोगों को अधिकारियों पर हमले के लिए उकसाया तथा उन पर कांच की बोतलें तथा पटाखे जैसी वस्तुएं फेंकीं।
प्रदर्शनों के दौरान हमले में कुल आठ पुलिस अधिकारियों को चोटें आई हैं। इसके अलावा पार्लियामेंट स्क्वायर पर ब्रिटेन के पूर्व प्रधानमंत्री विंस्टन चर्चिल की प्रतिमा और डाउनिंग स्ट्रीट के निकट कई स्मारकों को नुकसान पहुंचाया गया है, जिसमें युद्ध स्मारक भी शामिल हैं।(भाषा)



और भी पढ़ें :