मार्क जुकरबर्ग ने फेसबुक की सेंसरशिप का किया बचाव

पुनः संशोधित बुधवार, 11 अप्रैल 2018 (20:56 IST)
वॉशिंगटन। के संस्थापक और मु्ख्य कार्यकारी अधिकारी मार्क जुकरबर्ग ने इस प्रमुख सोशल मीडिया साइट में कुछ खास तरह की ‘सेंसरशिप’ का बचाव किया है। अमेरिका के एक सांसद ने फेसबुक के पूर्वाग्रह आधारित और राजनीतिक के व्यापक स्वरूप पर चिंता जताई थी।

इस पर जुकरबर्ग ने कहा कि आतंकवादी संगठन अपने अभियान के प्रचार-प्रसार के लिए इस मंच का इस्तेमाल नहीं कर पाएं इसके लिए इस तरह की सेंसरशिप की जरूरत है। रिपब्लिकन पार्टी के सांसद टेड क्रूज ने 2016 के विवाद का हवाला देते हुए बताया कि कैसे फेसबुक ने ट्रेंडिंग टॉपिक फीचर में कंजर्वेटिव झुकाव वाली खबरों से व्यवहार किया।

इस पर जवाब देते हुए जुकरबर्ग ने में सांसदों से कहा, मुझे लगता है कि आप इस बात से सहमत होंगे कि फेसबुक से आतंकी प्रचार-प्रसार से जुड़ी सामग्री को हटा देना चाहिए। मैं, इससे सहमत हूं, मेरा मानना है कि यह स्पष्ट रूप से बुरी गतिविधि है जिसे हमें हटा देना चाहिए। कैंब्रिज एनालिटिका डेटा लीक मामले के बीच जुकरबर्ग अमेरिकी संसद में बयान दे रहे थे।

उन्होंने कहा कि वह यह सुनिश्चित करने के लिए 'प्रतिबद्ध' हैं कि फेसबुक सभी प्रकार के विचारों के लिए एक मंच है। क्रूज ने कहा, 'बहुत से अमेरिकियों के लिए यह राजनीतिक पूर्वाग्रह का व्यापक स्वरूप है। क्या आप इस आकलन से सहमत हैं?

क्रूज ने जुकरबर्ग से पूछा, ‘क्या आप महसूस करते हैं कि उपयोगकर्ताओं का आकलन करना अपनी जिम्मेदारी है, चाहे उनके अच्छे और सकारात्मक संपर्क हों? फेसबुक सीईओ ने कहा, ‘मैं महसूस करता हूं कि कई चीजें ऐसी हैं, जिस पर हम सब सहमत होंगे कि वे बुरी चीजें हैं। इनमें हमारे चुनावों में विदेशी हस्तक्षेप, आतंकवाद सहित अन्य शामिल हैं। (भाषा)



और भी पढ़ें :