पाकिस्तान में भारतीय मुसलमानों पर कहर, MQM के दफ्तर ढहाये

कराची| Last Updated: सोमवार, 29 अगस्त 2016 (08:08 IST)
भारत से पाकिस्तान गए मुसलमानों की पार्टी मुत्ताहिदा कौमी मूवमेंट (एमक्यूएम) के कराची स्थित तकरीबन 19 दफ्तरों को सिंध सरकार ने ढहा दिया है। इतना ही नहीं एमक्यूएम मुख्यालय सहित उसके 219 कार्यालयों को भी सील कर दिया गया है। इससे पहले पार्टी के सैंकड़ो कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर उन्हें जेल भेज दिया था।
 
 
अधिकारियों ने बताया कि सिंध प्रांत की सरकार और कानून प्रवर्तन एजेंसियों ने कराची के विभिन्न इलाकों में स्थित एमक्यूएम के कार्यालयों को इसलिए ढहा दिया, क्योंकि वे स्कूलों, खेल के मैदानों के लिए चिन्हित भूखंडों पर अवैध रूप से बनाए गए थे। एसएसपी राव अनवर ने कहा कि एमक्यूएम ने सरकारी जमीन जबरन हथियाने के बाद इन इमारतों का निर्माण कराया था। कराची की सबसे बड़ी पार्टी पर कानूनी कार्रवाई इस सप्ताह शुरू हुई। एमक्यूएम नेता ने कराची के भूख हड़ताल शिविर में अपने टेलीफोन संबोधन और अमेरिका में एक कार्यक्रम के दौरान पाकिस्तान विरोधी टिप्पणी की थी। पाकिस्तान ने भड़काऊ भाषणों के लिए हुसैन पर देशद्रोह का मामला दर्ज किया है।
उल्लेखनीय है कि बीते दिनों बलूचिस्तान की आजादी की मांग कर रहे लोगों ने बलूच रिपब्लिकन पार्टी (बीआरपी) ने प्रांत के कई हिस्सों में मोदी की तस्वीर के साथ तिरंगा फहाराया। पिछले चार दिनों से ब्लूचिस्तान के सुई डेरा बुगती, जाफराबाद और नसीराबाद समेत कई अन्य जगहों पर पाकिस्तान के खिलाफ प्रदर्शन जारी है। इस दौरान लोगों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भारत का झंडा तथा ब्लूच स्वतंत्रता सेनानी अकबर बुग्ती की तस्वीरें हाथों में लेकर पाकिस्तान के खिलाफ प्रदर्शन किया। नकाबपोश प्रदर्शनकारियों ने पाकिस्तान के झंडे को पैर से रौंदा और ‘बंद करो बलूच नरसंहार’ की तख्तियां भी दिखाईं। (एजेंसी)



और भी पढ़ें :