Health Insurance नहीं कराने वाले Immigrants को नहीं मिलेगा वीजा

पुनः संशोधित शनिवार, 5 अक्टूबर 2019 (10:25 IST)
वॉशिंगटन। अमेरिका ने स्वास्थ्य बीमा और चिकित्सा संबंधी अपने खर्चों का वहन नहीं उठा सकने वाले अप्रवासियों को वीजा नहीं देने का निर्णय लिया है। यह नियम 3 नवंबर से प्रभावी हो जाएगा। यह कदम अप्रवासियों के अमेरिकी स्वास्थ्य सेवा पर बोझ बनने से बचने के लिए उठाया गया है।

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने इस संबंध में एक आदेश पर हस्ताक्षर भी कर दिया है। शुक्रवार को व्हाइट हाउस की तरफ से जारी घोषणा-पत्र में कहा गया है कि इसका प्रभाव शरणार्थी के रूप में शरण पाने वाले किसी व्यक्ति पर नहीं होगा।

अमेरिकी वेबसाइट वोक्स की रिपोर्ट के अनुसार ट्रंप ने कहा कि अमेरिका में उन विदेशी अप्रवासियों के प्रवेश को निलंबित या सीमित कर दिया गया है जो देश के स्वास्थ्य व्यवस्था पर वित्तीय बोझ डालते हैं।
अमेरिकी राष्‍ट्रपति ने कहा कि अप्रवासी अमेरिकी स्वास्थ्य व्यवस्था पर तब तक वित्तीय बोझ बने रहेंगे जब तक कि अमेरिका में उनके प्रवेश के 30 दिनों के भीतर उनका स्वास्थ्य बीमा नहीं हो जाता या देश में मौजूदा चिकित्सा खर्चों का वहन करने में वे समर्थ न हो जाएं।

ट्रंप ने कहा कि आंकड़ें बताते हैं कि वैध अप्रवासी अमेरिकी नागरिकों की तुलना में बहुत कम स्वास्थ बीमा कराते हैं। प्रवासियों को अमेरिकी करदाताओं के बल पर अब और आगे नहीं ढोया जाना चाहिए।
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने इस संबंध में एक आदेश पर हस्ताक्षर भी कर दिया है। शुक्रवार को व्हाइट हाउस की तरफ से जारी घोषणा-पत्र में कहा गया है कि इसका प्रभाव शरणार्थी के रूप में शरण पाने वाले किसी व्यक्ति पर नहीं होगा।

अमेरिकी वेबसाइट वोक्स की रिपोर्ट के अनुसार ट्रंप ने कहा कि अमेरिका में उन विदेशी अप्रवासियों के प्रवेश को निलंबित या सीमित कर दिया गया है जो देश के स्वास्थ्य व्यवस्था पर वित्तीय बोझ डालते हैं।
अमेरिकी राष्‍ट्रपति ने कहा कि अप्रवासी अमेरिकी स्वास्थ्य व्यवस्था पर तब तक वित्तीय बोझ बने रहेंगे जब तक कि अमेरिका में उनके प्रवेश के 30 दिनों के भीतर उनका स्वास्थ्य बीमा नहीं हो जाता या देश में मौजूदा चिकित्सा खर्चों का वहन करने में वे समर्थ न हो जाएं।

ट्रंप ने कहा कि आंकड़ें बताते हैं कि वैध अप्रवासी अमेरिकी नागरिकों की तुलना में बहुत कम स्वास्थ बीमा कराते हैं। प्रवासियों को अमेरिकी करदाताओं के बल पर अब और आगे नहीं ढोया जाना चाहिए।


और भी पढ़ें :