फ्लोरिडा नदी में दो मुंह वाला घड़ियाल

FILE
अमेरिका में फ्लोरिडा नदी के पास एक दो मुंह वाला देखा गया है। इस प्राणी की तस्वीरों को देखकर लोग यह सोचने के लिए विवश हैं कि क्या वास्तव में घड़ियाल के दो मुंह हैं या फिर यह कोई मजाक के तौर पर झांसा देने की कोशिश है।


'हफिंगटन पोस्ट' में छपी एक खबर के अनुसार जस्टिन आर्नोल्ड ने दावा किया है कि वे बीते सप्ताहांत में सेमिनल हाइट्‍स में अपने कुत्ते के साथ घूम रहे थे तभी उन्हें एक स्थान पर लोगों की भीड़ देखने को मिली। हिल्सबरो नदी के पास जमा भीड़ के पास जाकर उन्होंने देखा कि वहां एक जीवित मौजूद था।
इसकी तस्वीर भी उन्होंने पर पोस्ट कर दी थी। अब तक इस फोटो को 4,300 से ज्यादा लोगों ने शेयर की है। लेकिन इस बात की आशंका भी जाहिर की जाने वाली है कि क्या यह प्राणी वास्तव में घड़ियाल ही है और क्या वास्तव में जीवित है?

अपनी पोस्ट में आर्नोल्ड ने दावा किया है कि फ्लोरिडा फिश एंड गेम के अधिकारियों ने भी इस दोमुंह वाले घड़ियाल के बारे में सुना है। लेकिन फ्लोरिडा के ही फिश एंड वाइल्डलाइफ कंजरवेशन कमीशन ने एक टीवी चैनल से कहा कि उन्हें इस क्षेत्र में दो मुंह वाले घड़ियाल के बारे में कोई जानकारी नहीं मिली है। इस बारे में यूनिवर्सिटी ऑफ फ्लोरिडा में वाइल्ड लाइफ इकोलॉजी के प्रोफेसर फ्रेंक मैजोटी का कहना है कि हालांकि यह बात असंभव नहीं है कि इस तरह का जानवर जंगल में पैदा नहीं हो सकता है, लेकिन फिर भी इसकी संभावना बहुत कम है। मैजोटी को 'क्रॉक डॉक' भी कहा जाता है।

उनका कहना है कि इस तरह के मामलों में परंपरागत ज्ञान यह है कि जब इस तरह की विकृति सामने आती है तो पैदा होने वाले बच्चे जीवित ही नहीं रह पाते हैं। यह तभी संभव है कि आदमी उनकी देखरेख करे और कभी-कभी तो ऐसा करने के बाद भी इनका बचना संभव नहीं होता है।

लुत्ज, फ्लोरिडा के एक गैर-साइंटिस्ट जैसे आरोन कोनरॉड का भी कहना है कि जब 'टैम्पा बे टाइम्स' में उन्होंने आर्नोल्ड का भेजा दो मुंह वाले घड़ियाल का फोटो देखा था, तभी उन्होंने इस पर गड़बड़ होने का आरोप लगाया था।
उन्होंने लिखा था कि घड़ियाल पूरी तरह से सूखा लगता है और ऐसा लगता है कि उसे किसी टूरिस्ट शॉप से खरीदा गया है। इसके आगे और पीछे के पैर जमीन छूते नजर नहीं आ रहे हैं और इसकी पूंछ मृतप्राय लगती है। इसकी त्वचा ऐसी दिखती है, मानो इस पर रंग-रोगन किया गया हो। मैं सोचता हूं कि आपको इसे और अधिक करीब से देखने की जरूरत है। मैं सोचता हूं कि आपने इसे करीब से देखा भी होगा।
समाचार-पत्र का कहना है कि उन्होंने यह तस्वीर इस बात के साथ प्रकाशित की है कि इस प्राणी की एक तस्वीर उन्हें एंडी स्टर्न नाम के सज्जन ने भी भेजी है, लेकिन उन्होंने पाठकों द्वारा भेजी गई तस्वीरों को लेकर कुछ गलत होने की संभावना दर्शाई थी।

यह पता नहीं चल सका है कि क्या स्टर्न भी आर्नोल्ड से मिले हुए हैं लेकिन जब म‍ीडिया ने इस प्राणी के बारे में जानकारी चाही तो उन्होंने इसका कोई जवाब नहीं दिया।
हालांकि इस मामले में माइ फॉक्स टैम्पा बे का कहना है कि आर्नोल्ड एक कलाकार हैं, जो कि असामान्य प्राणियों की तस्वीरें और मूर्तियों को बनाना पसंद करते हैं और वे इन्हें टम्बलर ब्लॉग पर पोस्ट करते हैं।

इस बीच वन्य प्राणी विभाग के अधिकारियों ने दो मुंह वाले घड़ियाल को पकड़ने के आदेश दिए हैं। साउथ टैम्पा पैच की रिपोर्ट में कहा गया है कि ऐसा तभी हो सकता है ‍जबकि ऐसा कोई प्राणी वास्तव में मौजूद हो।



और भी पढ़ें :