0

श्री कृष्ण जन्माष्टमी के दिन पढ़ना चाहिए श्री कृष्ण जन्म की यह पवित्र कथा

गुरुवार,अगस्त 18, 2022
0
1
Teja Dashami Festival 2022 तेजा दशमी पर्व इस बार 6 सितंबर 2022 को मनाया जा रहा है। यह पर्व लोकदेवता वीर तेजाजी के याद में मनाया जाता है। आइए जानते हैं क्यों और कब मनाया जाता है यह पर्व, कैसे हुई इस पर्व की शुरुआत। जानिए इस त्योहार के बारे में खास ...
1
2
Janmashatmi 2022 भगवान श्री कृष्ण श्रीहरि विष्णु के आठवें अवतार हैं और जन्माष्‍टमी के दिन कृष्ण का जन्मोत्सव मनाया जाता है। इस दिन मंदिरों में झांकियां सजाई जाती हैं और भगवान श्री कृष्ण को झूले में झुलाया जाता है। इस दिन कृष्ण मंत्रों का जाप करने का ...
2
3
Hal shashthi 2022 हल षष्ठी की व्रत को बलराम जयंती के नाम से जानते हैं। द्वापर युग में भगवान बलराम सृजन के देवता थे। उत्तर भारत में इसे ललही छठ या हल छठ तो गुजरात में राधन छठ तथा चंद्रषष्ठी, बलदेव छठ और रंधन षष्ठी भी कहा जाता हैं। बृज क्षेत्र में इसे ...
3
4
Goga Panchami 2022 : इस वर्ष गोगा पंचमी पर्व 16 अगस्त को मनाया जा रहा है। वीर गोगा देव के संबंध प्रचलित लोककथाओं के अनुसार गोगा देव को सांपों के देवता के रूप में पूजा जाता है। उनको जाहिर वीर, गोगा जी, गुग्गा वीर, राजा मंडलिक तथा जाहर पीर के नामों से ...
4
4
5
19 अगस्त 2022 को कृष्‍ण जन्माष्टमी का पर्व मनाया जाएगा। हालांकि अष्टमी तिथि 18 अगस्त को प्रारंभ होगी और 19 अगस्त को समाप्त होगी। आओ जानते हैं श्रीकृष्‍ण से संबंधित 13 ऐसा खास मंदिर जहां पर हर कृष्‍ण भक्त को जाना ही चाहिए।
5
6
krishna janmashtami : अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार इस बार श्री कृष्ण जन्माष्टमी का पर्व 19 अगस्त 2022 शुक्रवार को मनाया जाएगा। पंचांग भेद से कुछ लोग 18 अगस्त को भी मनाएंगे। श्रीकृष्ण का जन्म भाद्रपद के कृष्ण पक्ष की रात्रि के 8वें मुहूर्त में हुआ था। ...
6
7
Chanakya Niti: आचार्य चाणक्य की नीति के अनुसार यदि व्यक्ति को तरक्की करना हो, परेशानियों से बचना हो और सुखपूर्वक जीवन यापन करना हो तो उसे कुछ जगहों पर नहीं रहना चाहिए।
7
8
Chanakya niti: चाणक्य नीति के अनुसार दांपत्य जीवन में खुश रहने और उन्नति करने के लिए पति और पत्नी का गुणी होना जरूरी है। यदि पत्नी में 3 खास गुण और पति में 5 खास गुण रहे तो समझो जीवन तर गया।
8
8
9
Bhadrapada 2022: भाद्र मास प्रारंभ हो गया है। यह हिन्दू कैलेंडर के अनुसार वर्ष का छठा महीना और चतुर्मास का दूसरा महीना है। इसे भादो भी कहते है। आओ जानते हैं भाद्रपद मास के नियम और सावधानियां। इस माह में क्या करें और क्या नहीं करें।
9
10
Bhadrapada maas ke tyohar : 12 अगस्त 2022 से भाद्र मास प्रारंभ हो गया है जो 10 सितंबर 2022 तक रहेगा। हिन्दू माह का यह छठा महीना है। इस माह कई खास तीज-त्योहार, व्रत, दिवस, शुभ तिथियां रहती हैं। खास त्योहार में हरतालिका तीज, गणेश चतुर्थी, जन्माष्टमी, ...
10
11
Pandit dhirendra krishna garg : आजकल बागेश्वर धाम के पंडित धीरेंद्र गर्ग बहुत चर्चा में है। कहते हैं कि वह लोगों के मन की बात जानकर उनकी समस्या का समाधान कर देते हैं। ऐसा दावा है कि रामकथा के साथ ही वे दिव्य दरबार लगाते हैं, जिसमें वे चमत्कारिक रूप ...
11
12
Bhojan ki thali me Teen Roti: हिन्दू धर्म के साथ ही ज्योतिष और वास्तु शास्त्र की मान्यता के अनुसार भोजन करने के कुछ नियम है। उन नियमों को हम फॉलो नहीं करते हैं तो परेशानी में पड़ते हैं। कई नियमों में एक नियम यह भी है कि भोजन की थाली भोजन परोसते वक्त ...
12
13
Bhadrapada maas ke tyohar : 12 अगस्त 2022 से भाद्र मास प्रारंभ हो गया है जो 10 सितंबर 2022 तक रहेगा। यूं तो इस माह कई व्रत और त्योहार रहते हैं परंतु उनमें से 5 त्योहार प्रमुख रहते हैं जिसकी देशभर में धूम रहती है। आओ जानते हैं कि कौनसे वे पर्व है।
13
14
घर के पूजाघर या मंदिर में घी, तेल, सरसो, ‍तिल या चमेली के तेल का दीपक जलाने के प्रचलन है। सभी को जलाने का अलग-अलग महत्व होता है। घी का दीपक जलाना महंगा पड़ता है इसलिए लोग तेल का दीप ही ज्यादा जलाते हैं। आओ जानते हैं तेल या घी के दीपक में से कौनसा ...
14
15
हर दिन की रंगोली का अपना-अपना महत्व है। यदि आप श्रद्धा से रंगोली बनाते हैं,तो उससे क्या लाभ मिलता है? उसका क्या महत्व है? आइए उसके बारे में जानकारी लें-
15
16
महर्षि अरविन्द घोष (Aurobindo Ghosh) को दार्शनिक एवं क्रांतिकारी के नाम से जाना जाता है, वे बंगाल के महान क्रांतिकारियों में से एक थे। उनका जन्म 15 अगस्त को हुआ था और इसी दिन भारत को आजादी मिली थी, अत: स्वतंत्रता दिवस के दिन महान योगी अरविन्द घोष का ...
16
17
Satudi Teej 2022: भाद्रपद यानी भादो मास के कृष्‍ण पक्ष की तीज को सातुड़ी तीज और कजली या कजरी तीज कहते हैं। इस दिन महिलाएं अपने पति की लंबी उम्र के लिए पूजा पाठ करती हैं। मान्यताके अनुसार इस दिन व्रत रखने से सभी कष्ट दूर हो जाते हैं और परिवार में ...
17
18
Chanakya niti: दुनियाभर में चाणक्य नीति प्रसिद्ध है। आचार्य चाणक्य ने धर्म, अर्थ, राजनीति, नीति और युद्ध ‍नीति पर बहुत सी बातों को जिक्र किया है जिसमें से अधिकतर आज भी प्रासंगिक है। चाणक्य नीति ने अनुसार 8 तरह के लोग हैं जिन्हें आपके सुख और दु:ख से ...
18
19
Don't take enmity with 8 people even by forgetting: आचार्य चाणक्य की नीति के अनुसार यदि व्यक्ति को तरक्की करना हो, परेशानियों से बचना हो और सुखपूर्वक जीवन यापन करना हो तो उसे इन 8 लोगों से कभी भी शत्रुता नहीं रखना चाहिए। यदि आपने शत्रुता मोल ली तो ...
19