चंडीगढ़ में भाजपा-जजपा विधायकों से मिलीं द्रौपदी मुर्मू, शिअद ने किया समर्थन

Last Updated: शुक्रवार, 1 जुलाई 2022 (20:39 IST)
हमें फॉलो करें
चंडीगढ़। भाजपा के पूर्व सहयोगी (शिअद) ने शुक्रवार को कहा कि वह राष्ट्रपति चुनाव में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू का समर्थन करेगा। वे शुक्रवार को पहुंचीं और इस बीच उन्‍होंने हरियाणा के भाजपा-जजपा विधायकों तथा सांसदों से की। वे 18 जुलाई को होने वाले राष्ट्रपति चुनाव के प्रचार अभियान के सिलसिले में यहां आई हैं।
भारतीय जनता पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने मुर्मू के समर्थन के लिए शिअद के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल से संपर्क किया था, जिसके एक दिन बाद पार्टी ने यह फैसला किया। शिअद ने कृषि कानूनों को लेकर भाजपा से नाता तोड़ लिया था, जिन्हें वापस लिया जा चुका है।

बादल ने यहां मीडिया को संबोधित करते हुए कहा, हमने सर्वसम्मति से राष्ट्रपति पद के लिए द्रौपदी मुर्मू का समर्थन करने का फैसला किया है। कृषि कानूनों और सिख कैदियों की रिहाई के मुद्दों का हवाला देते हुए बादल ने कहा कि उनकी पार्टी के 'भाजपा के साथ कई मतभेद' हैं, लेकिन शिअद ने हमेशा समाज के गरीब व कमजोर वर्ग के लिए काम किया है।

उन्होंने कहा, यह मुद्दा एक गरीब परिवार से ताल्लुक रखने वाली महिला का है और उन्हें राष्ट्रपति बनने का मौका मिल रहा है। बादल ने कहा, अपने राजनीतिक मतभेदों को अलग रखते हुए हमने सही रास्ता चुनने का फैसला किया है।

शिअद का इतिहास बताता है कि उसने हमेशा गरीबों, अल्पसंख्यकों और कमजोर वर्ग के लिए लड़ाई लड़ी। लगभग तीन घंटे तक (कोर कमेटी की बैठक में) विचार करने के बाद हमने सर्वसम्मति से फैसला किया कि हम मुर्मूजी का समर्थन करेंगे।

भाजपा-जजपा विधायकों से की मुलाकात : राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) की ओर से राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू शुक्रवार को चंडीगढ़ पहुंचीं और हरियाणा के भाजपा-जजपा विधायकों तथा सांसदों से मुलाकात की। वे 18 जुलाई को होने वाले राष्ट्रपति चुनाव के प्रचार अभियान के सिलसिले में यहां आई हैं।

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर, उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला, भाजपा की राज्य इकाई के अध्यक्ष ओपी धनखड़ और भाजपा की पंजाब इकाई के अध्यक्ष अश्विनी शर्मा ने यहां हरियाणा भवन में मुर्मू का स्वागत किया।

अधिकारियों ने बताया कि इस अवसर पर केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर, अर्जुन राम मेघवाल, हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष ज्ञानचंद गुप्ता, राज्य के कैबिनेट मंत्री और भारतीय जनता पार्टी व जननायक जनता पार्टी (जजपा) के विधायक मौजूद थे। इस मौके पर चंडीगढ़ की सांसद किरण खेर भी मौजूद थीं।

अठारह जुलाई को होने वाले राष्ट्रपति चुनाव के लिए नामांकन पत्रों की जांच के बाद ओडिशा की आदिवासी नेता मुर्मू और उनके प्रतिद्वंद्वी यशवंत सिन्हा के रूप में दो उम्मीदवार बचे हैं। राजग के सभी घटक दलों के अलावा, शिरोमणि अकाली दल, वाईएसआर कांग्रेस, बीजू जनता दल और बहुजन समाज पार्टी ने भी मुर्मू को समर्थन देने की बात कही है।(एजेंसियां)



और भी पढ़ें :