0

उगादी पच्चड़ी प्रसाद से करें हिन्दू नववर्ष का स्वागत, स्वास्थ्य होगा बेहतर

मंगलवार,अप्रैल 13, 2021
0
1
गुड़ी पड़वा के पावन पर्व पर हम आपके लिए लेकर आए हैं कुछ खास तरह की पारंपरिक रेसिपीज, इन डिशेस से करें स्वागत गुड़ी पड़वा का और बने रहे सेहतमंद और खुश-
1
2
माता के पूजन के बाद इन पकवानों को भोग लगाकर परिवारसहित इन शीतल भोजन को ग्रहण करने से माता प्रसन्न हो‍कर संतान की रक्षा करने के साथ-साथ सभी मनोकामनाएं भी पूर्ण करती हैं।
2
3
गुलाब पत्ती, काली मिर्च व इलायची दाने अलग-अलग भिगो दें। जब बादाम-पिस्ता भीग जाए
3
4
सबसे पहले सूजी और मैदा छानकर उसमें नमक, मीठा रंग व तेल मिलाकर दूध की सहायता से सख्त गूंथ लें। तत्पश्चात आलू में सभी मसाले मिलाएं और मिश्रण को एकसार कर लें।
4
4
5
मैदा और रवा मिक्स करके तेल का मोयन, नमक, बेकिंग पावडर और अजवायन डालकर मिक्स कर लें। अब गरम पानी से कड़ा गूंथ लें। और थोड़ी देर कपड़े से ढंककर रख दें।
5
6
लिट्टी चोखा बिहार राज्‍य का राष्‍ट्रीय व्यंजन है जिसमें लिट्टी तथा चोखे - दो अलग-अलग व्यंजनों के साथ-साथ खाने को कहते हैं। यह बिहार, झारखंड और उत्तरप्रदेश के विशेषकर ज्‍यादा लोकप्रिय है।
6
7
अगर आपकी प्रतिरोधक क्षमता में कमी आ गई है और आप बार-बार सर्दी, खांसी, जुकाम या बुखार से पीड़ित हो रहे हैं तो आपको जरूरत है इस खास आयुर्वेदिक चाय की। तुलसी और अन्य मसालों से बनी ये चाय तेजी से आपकी प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाएगी......
7
8
पाणिनी के 'अष्‍टाध्‍यायी' में भाषा-व्‍याकरण के साथ ही तत्‍कालीन लोकाचार का भी संक्षिप्त वर्णन मिलता है। इसके अलावा उसमें विभिन्‍न पकवानों का भी जिक्र है। पाणिनी के काल में 25 मन का बोझ 'आचित' कहलाता था और जो रसोइया इतने अन्‍न का प्रबंध संभाल सके, ...
8
8
9
आप क्रिस्पी पोटैटो-पनीर बड़ा बनाना चाहती है तो सबसे पहले आलू को उबालें, छिले और मसल लें। अब बेसन में स्वादानुसार नमक व कॉर्नफ्लोर मिलाकर
9
10
सबसे पहले घी गर्म करके प्याज महीन काटकर हल्के-हल्के 5 मिनट भूनें। अब गाजर छीलकर कद्दूकस कर लें।
10
11
इन दिनों गुलाबी ठंड का दौर जारी हैं। इन दिनों गरमा-गरम चाय-कॉफी पीने का मजा ही कुछ अनोखा होता है। थोड़ी-थोड़ी देर बाद ऐसा लगता है कि चलो! कुछ देर
11
12
सबसे पहले एक कड़ाही में तेल गरम करके जीरा भून लें, अब कटे प्याज, हरी मिर्च और टमाटर डालकर पकाएं। फिर आलू और टमाटर प्यूरी मिला कर कुछ देर चलाएं। बारीक कटी पत्ता गोभी, नमक, मिर्च मिला दें। गलने तक पका लें।
12
13
सर्दी के मौसम में ताजे-ताजे हरे छोड, मटर, गाजर सभी कुछ बहुत मात्रा में बाजार में बिकते दिखाई देते हैं। अत: यह कहा जा सकता हैं कि अभी छोड यानी हरे चने का मौसम चल रहा है।
13
14
अगर आप घर आए मेहमान को नया स्वाद चखाना चाहती हैं तो मटर के छोले आप भले ही बना लें। मगर कुलचे बनाने की वास्तविक विधि का ज्ञान न होने से आप रिस्क नहीं लेना चाहेंगी
14
15
काबुली चने को मीठा सोडा मिलाकर 8 घंटे भिगोएं फिर कुकर में गलने तक पकाएं। जब चने गल जाएं तो उसमें नमक, इमली का गाढ़ा पानी व छोले का आधा मसाला मिला
15
16
लिट्टी चोखा बिहार राज्‍य का राष्‍ट्रीय व्यंजन है जिसमें लिट्टी तथा चोखे - दो अलग-अलग व्यंजनों के साथ-साथ खाने को कहते हैं।
16
17
चावल को साफ करके आधा-एक घंटे के लिए पानी में भिगो कर रख दें। एक चौड़े मुंह वाले बर्तन में पानी उबालें और नमक डालकर चावल पका लें।
17
18
एक समतल जगह पर एक ब्रेड रखें, उस पर हरी चटनी लगाएं, उस पर दूसरी ब्रेड रखकर आलू का मिश्रण फैलाएं, उस पर तीसरी ब्रेड रखकर टमाटर सॉस लगाकर चौथी ब्रेड
18
19
ककड़ी को लंबे-लंबे स्लाइस में काटकर रख लें। अब गाजर और मूली को छिलकर लंबी स्लाइस में काट लें। इसके बाद एक बड़ी-सी प्लेट में पहले गाजर
19