रविवार, 10 दिसंबर 2023
  • Webdunia Deals
  1. खेल-संसार
  2. क्रिकेट
  3. वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल
  4. The first ever centurian of WTC Final Travis Head was adjudged Man of the match
Written By
पुनः संशोधित: सोमवार, 12 जून 2023 (18:51 IST)

WTC Final में सबसे पहला शतक जड़ने वाला बल्लेबाज बना मैन ऑफ द मैच

WTC Final में सबसे पहला शतक जड़ने वाला बल्लेबाज बना मैन ऑफ द मैच - The first ever centurian of WTC Final Travis Head was adjudged Man of the match
Australia ऑस्ट्रेलिया को दुनिया में टेस्ट का सरताज बनाने में महती भूमिका निभाने वाले बल्लेबाज Travis Head ट्रेविस हेड को भारत के खिलाफ आईसीसी विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप के फाइनल में प्लेयर ऑफ द मैच के सम्मान से नवाजा गया है।

हेड ने टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में दोनों पारियों में क्रमश: 163 और 18 बनाए। उन्होंने स्टीव स्मिथ और एलेक्स केरी के दमदार प्रदर्शन को पीछे छोड़ते हुए प्लेयर ऑफ द मैच पुरस्कार जीता। फाइनल मैच में ऑस्ट्रेलिया ने भारत को ​​​​209 रन के साथ विशाल जीत हासिल की थी।

मैच के पहले दिन द ओवल मैदान में ऑस्ट्रेलिया ने 76 रन पर अपने तीन विकेट गंवा दिए थे और मध्य क्रम के बल्लेबाजों पर पूरा दारोमदार आ गया था और स्मिथ के (121) रन के साथ आस्ट्रेलिया 285 रन की मजबूत स्थिति में आ गया। बाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने भारतीय गेंदबाजों को बुरी तरह से परेशान किया।

ट्रेविस हेड किसी भी आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल में शतक जड़ने वाले पहले खिलाड़ी भी बने। इससे पहले किसी भी बल्लेबाज ने साल 2021 में खेले गए भारत बनाम न्यूजीलैंड के फाइनल में शतक नहीं बनाया था।
हेड ने कहा “ भारत के खिलाफ मेरा प्रदर्शन कड़ी मेहनत का फल है। यह आश्चर्यजनक है। आप यहां एक हफ्ते के लिए आते हैं, आप तैयारी करते हैं और इसकी कल्पना करना बहुत मुश्किल है, लेकिन दो साल में हमने टेस्ट मैच के लिए काफी मेहनत की थी। पूरी पारी के दौरान मेरी यह कड़ी परीक्षा थी, मै एक योजना के साथ मैदान में उतरा था और मुझे पता था कि भारतीय टीम क्या करने वाली हैं। कुछ समय पिच पर डटे रहने रहना और स्मिथ के साथ बल्लेबाजी करना बहुत अच्छा अनुभव था। यह सप्ताह मेरे लिए शानदार रहा।”

गौरतलब है कि हेड के लिए पिछले कुछ महीने अच्छे नहीं रहे हैं। उन्हें फरवरी में भारत के खिलाफ पहले टेस्ट मैच के लिए ऑस्ट्रेलिया की टीम से बाहर रखा गया था और जब विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप फाइनल में उनकी जगह सुनिश्चित नहीं थी, लेकिन हेड ने दिल्ली में दूसरे टेस्ट में वापसी की और बाद में भारत में उत्कृष्ट प्रदर्शन कर द ओवल में फाइनल के लिए अपनी दावेदारी मजबूत की। इस 29 वर्षीय बल्लेबाज ने फाइनल में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन दिखाया।

हेड ने कहा, “मुझमें हमेशा आत्मविश्वास भरा है और यह पल मैच के दौरान अपना दमदार प्रदर्शन करना था जिसे मैंने बखूबी अपनी जिम्मेदारी निभायी।”
ये भी पढ़ें
राहुल द्रविड़ की कोचिंग में क्यों लगातार मिल रही है असफलताएं?