0

भारतीय भाषाओं के बीच अंतर-संवाद में रुकावट कारण अंग्रेजी:अच्‍युतानंद मिश्र

सोमवार,सितम्बर 14, 2020
0
1
भाषा व्यक्ति-व्यक्ति के मध्य अथवा दो समूहों के मध्य केवल संपर्क का ही माध्यम नहीं होती। वह संपर्क से आगे बढ़कर उनके मध्य स्नेह का सूत्र भी सुदृढ़ करती है,
1
2
आईआईएमसी के महानिदेशक ने बताया कि यह पखवाड़ा 14 से 28 सितम्बर 2020 तक आयोजित किया जा रहा है।
2
3
हिन्दी का बिगाड़ भारत माता के रूप की लालिमा का बिगाड़ है, उसकी सिन्दूरी आभा का बिगाड़ है, उसके माथे की बिंदी का बिगाड़ है। बिगाड़ तो अंग्रेजों ने भरपूर किया पर उनके बिगाड़ को सम्मान से स्वीकार किया चापलूसों ने।
3
4
देश में पहली बार 14 सितंबर 1953 को हिन्दी दिवस मनाया गया था... अन्य त्योहारों की तरह ही लोग इस दिन भी अपने जानने वालों को शुभकामनाओं वाले संदेश भेजते हैं। आप भी दोस्तों को हिन्दी दिवस की शुभकामनाएं भेज सकते हैं -
4
4
5
हिन्दी की अपनी लय है, अपनी चाल और अपनी प्रकृति‍। इन्‍हीं के भरोसे वो चलती है और अपनी राह बनाती रहती है। सतत प्रवाहमान किसी नदी की तरह। कभी अपने बहाव में तरल है तो कहीं उबड़-खाबड़ पत्‍थरों से टकराती बहती रहती है और वहां पहुंच जाती है, जहां उसे जाना ...
5
6
मैं वह भाषा हूं, जिसमें तुम जीवन साज पे संगत देते मैं वह भाषा हूं, जिसमें तुम, भाव नदी का अमृत पीते मैं वह भाषा हूं, जिसमें तुमने बचपन खेला और बढ़े हूं वह भाषा, जिसमें तुमने यौवन, प्रीत के पाठ पढ़े...
6
7
14 सितंबर को हिन्दी दिवस है... हमारी हिन्दी भाषा नि‍त नवीन प्रगति के परचम लहरा रही है, सफलता के सोपान रच रही है, सुयश के प्रतिमान गढ़ रही है लेकिन इस बीच अवरोधों का सिलसिला भी जारी है। इस अवरोधों में सबसे पहला नाम आ रहा है वेब सीरीज का, हमने पूर्व ...
7
8
अंग्रेजी की किताब थोड़ी सहज हुई और इतराना छोड़कर अबकी बार हिंदी में बोली, बहन तुम खुद को कम मत समझो। सच तो ये है कि तुम संस्कृत और संस्कृति की बेटी हो।
8
8
9
मंच पर बड़े-बड़े अक्षरों में कार्यक्रम का विषय लिखा था अपनी मातृभाषा हिन्दी को कैसे बचाएं। उसका मन कह रहा था कि हिन्दी हमारी मातृभाषा है या मात्र एक भाषा....!
9
10
अब सोशल मीडि‍या पर बमुश्‍क‍िल ही कोई पोस्‍ट अंग्रेजी भाषा में नजर आती है।
10
11
‍‍पिछले दिनों सोशल मीडिया पर यह विषय लगातार सामने आया कि वेब सीरीज की भाषा से बच्चों की भाषा पर नकारात्मक प्रभाव पड़ रहा है। हिन्दी दिवस(14 सितंबर) के अवसर पर हमने बात की इंदौर शहर की कुछ जानी-मानी संवेदनशील कथाकारों से... प्रस्तुत है इस ज्वलंत विषय ...
11
12
वहीं हिन्दी अपनी अनगिनत विशेषताओं के साथ रोजगार के वर्तमान प्रतिस्पर्धी मैदान में पहुंचती है। ऐसे में हमने बात कर युवाओं से जाना हिन्दी भाषा रोजगार दिलाने में सक्षम है या नहीं आइए जानते है क्या कहते है युवा..
12
13
हिन्दी दिवस आजकल हमारे देश में एक औपचारिकता मात्र रह गया है लेकिन आज भी कुछ संस्थानों में हिन्दी पखवाड़ा, हिन्दी सप्ताह और हिन्दी दिवस जोर-शोर से मनाया जाता है। ज्यादातर संस्थानों में प्रतियोगिताएं आयोजित की जाती है। प्रस्तुत है कुछ सरलतम पंक्तियां ...
13
14
इस प्रश्न को अनदेखा नहीं किया जा सकता कि व्यवस्थापक हिंदी विरोधी हो रहे हैं।
14
15
आप जिस तरह बोलते हैं, बातचीत करते हैं, उसी तरह लिखा भी कीजिए। भाषा बनावटी नहीं होनी चाहिए।
15
16
हिन्दी हमारे दिलों में रचती-बसती है। आइए हिन्दी दिवस पर जानते हैं क्या कहते हैं साहित्यकार, राजनेता और अन्य विद्वान। पढ़ें 25 अमूल्य विचार:-
16
17
हिंदी विश्व में बोली जाने वाली प्रमुख भाषाओं में से एक है। विश्व की प्राचीन, समृद्ध और सरल भाषा होने के साथ-साथ हिंदी हमारी 'राष्ट्रभाषा' भी है।
17
18
हर साल हम 14 सितंबर को हिन्दी दिवस के रूप में मनाते हैं। यहां आपके लिए प्रस्तुत हैं कुछ छोटे-छोटे और प्रभावी नारे जो हर किसी के लिए भी उपयोगी हो सकते हैं...
18
19
हमारा प्रिय हिन्दी दिवस आ रहा है। आइए हिन्दी दिवस के दिन हम प्रतिज्ञा करें कि राष्ट्रभाषा हिन्दी का प्रचार कर राष्ट्रीय भावना को हम सुदृढ़ करेंगे। जानिए 14 बड़ी बातें...
19