1. लाइफ स्‍टाइल
  2. सेहत
  3. हेल्थ टिप्स
  4. why should not eat raw vegetables
Written By

Raw Foods: इम्युनिटी के लिए कच्चा खा रहे हैं तो महंगा पड़ सकता है Health के लिए

कोरोना काल में इम्युनिटी को बढ़ाने के लिए लोगों ने अपने डाइट चार्ट में भी काफी बदलाव किया है। लोग सेहतमंद खाना ज्यादा पसंद करने लगे है। योग और एक्सरसाइज को अपनी लाइफस्टाइल का हिस्सा बना लिया है। लेकिन कहते अधूरा ज्ञान खतरनाक होता है। 
 
जी हां, सेहतमंद और इम्युनिटी को बढ़ाने के लिए फल और सब्जियों का सेवन जरूर कर रहे हैं लेकिन रॉ यानी कच्ची सब्जियों का सेवन भी कर रहे हैं। वैज्ञानिक और आयुर्वेदिक दोनों की दृष्टि से यह शरीर के लिए घातक है। कई लोगों का मानना है कि कच्चे फल और सब्जी खाने से शरीर को जरूरी पोषण मिलेगा। पकाने से उनके गुण नष्ट हो जाएंगे। 
 
क्या चीजें कच्ची खा सकते हैं? 
 
कच्चे फल, सलाद और नट्स खा सकते हैं। लेकिन सब्जियों को जरूर पका कर ही खाएं। कच्चे फल और सब्जी भी कम से कम तीन पानी से धुले हुए होना जरूरी है। आप चाहे तो फल और सब्जी को नमक के पानी से भी धो सकते हैं ताकि बारीक जानवर और चिपके हुए बैक्टीरिया निकल जाएं। 
 
पाचन तंत्र को खतरा! 
 
विशेषज्ञों द्वारा पके हुए भोजन की सलाह इसलिए दी जाती है क्योंकि वह आसानी से पच जाता है। पाचन तंत्र को नुकसान भी नहीं होता है। कच्ची सब्जी खाने से पाचन तंत्र पर अधिक प्रभाव पड़ता है। कच्ची सब्जियों को डाइजेस्ट करना मुश्किल होता है, कई बार पेट भी दुखने लग जाता है। आप चाहे तो सब्जी को थोड़ा सा पका कर उसमें हल्दी और थोड़ा सा नमक डालकर खा सकते हैं। 
 
अक्सर कच्ची सब्जियों को पानी में धोने के बाद भी बारीक कीड़े रह जाते हैं इसलिए डॉ. और विशेषज्ञ पकाकर खाने की सलाह देते हैं। कई बार कच्चे फूड आइटम्स में बैक्टीरिया होते हैं जिसके पेट में जाने से किसी भी प्रकार का इंफेक्शन हो सकता है। इतना ही नहीं स्टोन का खतरा भी हो सकता है। इसलिए सलाद, नट्स और फल के अलावा खाने को पकाकर और उबालकर ही खाना चाहिए। 

ये भी पढ़ें
सिलबट्टे पर पिसी चटनी, स्वाद के साथ हेल्थ को भी मिलेंगे लाभ