गुरुवार, 2 फ़रवरी 2023
  1. लाइफ स्‍टाइल
  2. सेहत
  3. हेल्थ टिप्स
  4. Health Benefits of Dates
Written By

छुहारा उबाल कर खाने से मिलेंगे 6 बेहतरीन फायदे

Chuhara benefits 
 
छुहारे या खारक का सेवन अधिकतर ठंड के दिनों में ज्यादा किया जाता है, क्योंकि इसका प्रयोग मेवा के रूप में किया जाता है। यह उलटी, खांसी, कफ, बुखार, अतिसार, भूख, प्यास, श्वास, दमा, पित्त आदि रोगों को नष्ट करने वाला माना जाता है। इसको उबाल कर खाने के कई फायदे हैं।

आइए जानते हैं यहां-
 
1. ठंड के दिनों में 4 छुहारे लेकर 1 गिलास दूध में अच्छे से उबाल कर ठंडा होने दें, तत्पश्चात प्रातः या रात्रि में सोते समय दूध में से छुहारें निकाल कर अच्छे से चबा-चबाकर खाएं तथा  गरमा-गरम दूध पी लें। 3-4 महीने इसका सेवन करने से शरीर का हष्ट-पुष्ट होगा तथा और सुंदरता बढ़ जाएगी।
 
2. छुहारे खाने से पेशाब का रोग दूर होता है। छुहारे वाला दूध भी लाभकारी है। यदि बच्चा बिस्तर पर पेशाब करता हो तो उसे भी रात को छुहारे वाला दूध पिलाएं। यह शक्ति पहुंचाते हैं। साथ ही बुढ़ापे में पेशाब बार-बार आता हो तो दिन में दो छुहारे खाने से लाभ होगा। 
 
3. 3-4 खजूर गर्म पानी में धोकर उसकी गुठली निकाल कर उसे गाय के दूध के साथ उबाल लें तथा उबले हुए दूध को सुबह-शाम पीएं। कुछ ही दिनों में लो ब्लड प्रेशर रोगियों को कम रक्तचाप छुटकारा मिल जाएगा।
 
4. छुहारे खाकर गर्म दूध पीने या छुहारे वाला दूध पीने से कैल्शियम की कमी से होने वाले रोग, दांतों की कमजोरी, हड्डियों का गलना आदि रोगों में आराम मिलता हैं।
 
5. छुहारे को घी में भूनकर दिनभर में 2-3 बार सेवन करने से छुहारे को दूध में उबाल कर रात में सोने से पूर्व पीने से खांसी, छींक आना, जुकाम, बलगम में आराम मिलता है।
 
6. इसके अलावा प्रात:सायंकाल में 3 छुहारे खाकर गर्म पानी पीने से कब्जियत दूर होती है तथा यदि दमा रोगी प्रतिदिन सुबह-शाम 2-2 छुहारे खूब चबाकर खाते हैं तो फेफड़ों को शक्ति मिलने के साथ ही कफ और सर्दी में आराम मिलता है। यदि आप इन्हें चबाकर नहीं खाना चाहते हैं तो दूध में उबाल लें और फिर इन्हें खाकर गरम दूध पी लें। 

अस्वीकरण (Disclaimer) : चिकित्सा, स्वास्थ्य संबंधी नुस्खे, योग, धर्म, ज्योतिष आदि विषयों पर वेबदुनिया में प्रकाशित/प्रसारित वीडियो, आलेख एवं समाचार सिर्फ आपकी जानकारी के लिए हैं। इनसे संबंधित किसी भी प्रयोग से पहले विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।

ये भी पढ़ें
सर्दियों में हीमोग्लोबिन बढ़ाने के सटीक उपाय