किसे कहें अपना पक्का दोस्त?

जनकसिंह झाला|
हमें फॉलो करें
WD
WD
'मेरा तो एक भी पक्का नहीं है' अगर कोई व्यक्ति ऎसा बोल रहा है तो समझ लेना चाहिए कि वह अपनी ज़िंदगी का एक अमूल्य हिस्सा गवाँ रहा है। बिना पक्के दोस्त की यह ज़िंदगी मानो गरम अंगारों पर नंगे पैर चलने जैसी है।


मैंने अनेक लोगों से सुना है, वह कहते रहते हैं कि, 'मेरे पास बहुत ही कम दोस्त हैं इतने कम जिसे आप आसानी से अपनी उँगलियों पर भी गिन सकते हो। तो कुछ लोग ऎसा भी कहते-फिरते हैं कि 'भाई साहब हम नाम ले लेकर थक जाएँगे और आप सुनते-सुनते थक जाएँगे फिर भी हमारे पक्के दोस्तों की सूची खत्म नहीं होगी।'

खैर, अगर आप इस द्वितीय श्रेणी के लोगों में से एक हैं तो समझ लीजिए कि आप दुनिया के सबसे भाग्यशाली व्यक्ति हैं। आप कुछ खास हैं लेकिन यहाँ पर एक बात जरूर गौर करने लायक है कि आप अपना पक्का दोस्त किसे मानते हैं। आपके अनुसार पक्के दोस्त की परिभाषा क्या है?

ND
ND
कई लोगों के ढेर सारे दोस्त होते हैं लेकिन जब उन्हें अपने किसी एक दोस्त को पक्के दोस्त का ट्रेडमार्क देने के लिए कहा जाए तो वह सिर खुजलाने लगते हैं, वह तय नहीं कर पाते कि यह ट्रेडमार्क किसको दिया जाए। आखिर में घूम-फिरकर और थक-हारकर उन लोगों के सामने एक ही सवाल खड़ा होता है कि आखिर पक्का दोस्त कहें तो किसको कहें?

क्या आप उस व्यक्ति को तो अपना पक्का दोस्त नहीं मानते हैं जो हमेशा फेविकॉल की तरह आपके पीछे चिपका रहता है? जो अपना फालतू समय आपके पीछे खर्च करता रहता है, अगर आपके घर की छत का एक कबेलु भी टूट जाए तो वह खुद ऊपर चढ़कर उसे बदल देता है। या फिर आप उस शख्स को तो अपना पक्का दोस्त नहीं कहते ना जो पूरे सप्ताह के दौरान आपसे मिलने से कतराता रहता है।
जब भी आप उसे मिलने बुलाते हैं तो वह कोई न कोई बहाना करके आपको टाल देता है। या फिर उस शख्स को अपना सच्चा दोस्त कहते ना जो हमेशा घर के कबेलु के ठीक हो जाने के बाद आपके पास आकर खड़ा हो जाता है और गर्व से बोलता है 'यार तुम्हें मुझे पहले बताना चाहिए था, अगर मुझे मालूम होता तो मैं खुद ही कबेलु को बदल देता, खैर कोई बात नहीं अगली बार जब भी कबेलु टूट जाए तब मुझे पहले बुला लेना।'
भाई साहब कहीं आप उन लोगों को तो अपना पक्का दोस्त नहीं मानते ना जिनका चेहरा आपको न चाहते हुए भी हर दिन देखना पड़ता है। ऑफिस के बॉस की तरह जो हर दिन आपके सामने रहता है और आपको अच्छे-बुरे की नसीहत देता रहता है। आपके साथ पार्टियों में घूमता है, हर दिन आपको फोन करता रहता है।

WD
WD
वह लोग तो आपके पक्के दोस्त नहीं है ना जो ऑफिस से छूटने से लेकर घर पहुँचने तक आपके साथ जाते हैं और पूरे रास्ते में आर्थिक मंदी की बातें करते-करते आपका सिर पकाते रहते हैं। खुद का वाहन न होने पर भी जो पेट्रोल में रुपए 2 और डीजल में 1 रुपए की बढ़ोतरी से चिंतित है और आपको भी चिंता में डालते रहते हैं। जो कभी-कभी आपको देखकर रास्ता बदल लेते हैं, जिसके लिए आप महज एक ऑफिस का एयरकूलर है जिसकी और देखने की उन्हें फुरसत नहीं।
WD
WD
मेरी यह सब बातें सुनकर आप जरूर यह सोचने पर मजबूर हो गए होंगे कि, आपके सभी दोस्तों में से आप अपना पक्का दोस्त कहें तो भी किसको कहें? मैंने सही कहा ना? चलो अब आपको ज्यादा सोचने की जरूरत नहीं है। मैं एक ही वाक्य में यह बता देता हूँ कि पक्का दोस्त किसको कहते हैं?
'जीवन के सुख-दुख भरे रास्तों में साथ चलने वाले तो कई लोग मिलते हैं लेकिन जो शख्स अपने कदमों के निशान आपके ह्रदय में दूर-दूर तक छोड़ जाए' मेरे अनुसार वही है आपका पक्का दोस्त।



और भी पढ़ें :