कांग्रेस सत्ता में आई तो रद्द कर देंगे कृषि कानून : प्रियंका गांधी

पुनः संशोधित बुधवार, 10 फ़रवरी 2021 (19:50 IST)
सहारनपुर (उत्तर प्रदेश)। तीनों नए कृषि कानूनों को लेकर पर हमला बोलते हुए महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने बुधवार को यहां कहा कि केंद्र में कांग्रेस की सरकार बनने पर तीनों नए कृषि कानूनों को रद्द किया जाएगा। उन्होंने कहा कि यह तीनों राक्षस रूपी हैं, जिनका मकसद किसानों को खत्म करना है।
प्रियंका ने कांग्रेस के 'जय जवान जय किसान' अभियान के तहत सहारनपुर के चिलकाना में आयोजित किसान महापंचायत में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी तथा अन्य भाजपा नेताओं पर कानूनों का विरोध कर रहे किसानों का ‘अपमान’ करने का आरोप लगाया।

प्रियंका गांधी ने कहा, ये कानून राक्षसी हैं। अगर कांग्रेस सत्ता में आई तो इन कानूनों को रद्द किया जाएगा।उन्होंने आरोप लगाया कि यह तीनों कृषि कानून इस तरह बनाए गए हैं कि मंडियां समाप्त हो जाएं और किसानों को न्यूनतम समर्थन मूल्य बिल्कुल भी ना मिले। कानून रद्द होने तक उनकी पार्टी इनके खिलाफ संघर्ष करती रहेगी।

कांग्रेस ने पश्चिमी में इस प्रकार की किसान बैठकों की योजना बनाई है और उसी श्रृंखला में यह पहली रैली थी। राज्य में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं और विपक्षी पार्टी खुद को साबित करने के लिए संघर्ष कर रही है।

कांग्रेस महासचिव ने कहा, पिछले विधानसभा चुनाव में प्रधानमंत्री ने वादा किया था कि गन्ना किसानों को उनका बकाया मिलेगा, लेकिन क्या किया उन्होंने? प्रियंका ने प्रधानमंत्री पर आरोप लगाया, उन्होंने अपने लिए 16 हजार करोड़ रुपए से दो हवाई जहाज खरीदे, जिससे दुनियाभर में घूम सकते हैं और दिल्ली में संसद भवन के सौंदर्यीकरण के लिए 20,000 करोड़ रुपए निकालकर रख लिए। मगर आपके 15000 करोड़ रुपए का बकाया आज तक आपको नहीं मिला।

प्रियंका ने किसानों से कहा, समझ लीजिए, बहुत देख लिया आपने इनकी बातों को। उनका 56 इंच का सीना देख लिया, जिसके अंदर छोटा दिल है, जो सिर्फ अपने खरबपति मित्रों के लिए धड़कता है। वह किसानों का दिल नहीं समझ रहे हैं।

उन्होंने कहा, किसानों का दिल इस देश की धरती के लिए धड़कता है क्योंकि इस धरती को वह सींचता है। इस धरती से उसकी जान जुड़ी हुई है। इस धरती से ही किसान ने देश को आत्मनिर्भर बनाया है। यही किसान का बेटा सीमा पर सुरक्षा करते हुए देश के लिए अपनी जान देता है। उसी किसान का बेटा एक जवान बनकर प्रधानमंत्री की सुरक्षा करता है, मगर हमारे प्रधानमंत्री को उनके दर्द का एहसास नहीं है।

कांग्रेस महासचिव ने सहारनपुर दौरे के दौरान शाकुंभरी देवी मंदिर में पूजा-अर्चना की और रायपुर खान की दरगाह की जियारत भी की। प्रदेश कांग्रेस द्वारा किए गए ट्वीट के मुताबिक, इस दौरान प्रियंका ने देश के किसानों के लिए प्रार्थना की।

किसान महापंचायत के दौरान प्रियंका को हल भेंट किया गया। इस दौरान पार्टी प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू और दल के वरिष्ठ नेता पीएल पुनिया भी मौजूद थे। इस बीच, प्रियंका के सहारनपुर किसान महापंचायत में हिस्सा लेने के बारे में प्रदेश सरकार के मंत्री अनिल राजभर ने बलिया में कहा कि किसानों के बहाने तमाशा खड़ा किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि देश में एक गैंग बन गया है और इस गैंग ने अंतरराष्ट्रीय शक्ल ले ली है। प्रदेश सरकार के कानून मंत्री बृजेश पाठक ने कहा कि भाजपा सरकार किसानों के हितों के लिए संकल्पबद्ध है और प्रियंका का सहारनपुर दौरा छलावा मात्र है।

उल्लेखनीय है कि तीनों नए कृषि कानूनों के विरोध में हजारों किसान दिल्ली की विभिन्न सीमाओं पर पिछले करीब दो महीने से प्रदर्शन कर रहे हैं। इनमें से अधिकतर किसान पंजाब और हरियाणा से हैं, लेकिन काफी सारे किसान पश्चिमी उत्तर प्रदेश से भी हैं, जिनके बीच यूनियन के नेता राकेश टिकैत प्रमुख भूमिका निभा रहे हैं।(भाषा)



और भी पढ़ें :