Kisan Andolan : दिल्ली पुलिस ने मंगाए ट्रैक्टर परेड के दौरान हुई हिंसा के वीडियो

Last Updated: शनिवार, 30 जनवरी 2021 (18:04 IST)
हमें फॉलो करें
नई दिल्ली। ने लोगों से राष्ट्रीय राजधानी में गणतंत्र दिवस पर के दौरान हुई हिंसा के सबूत या जानकारी साझा करने की अपील की है। अधिकारियों ने शुक्रवार को यह जानकारी दी।

अपील में कहा गया है कि मीडियाकर्मियों समेत वे लोग जो घटनाओं के गवाह हैं या जिनके पास घटना संबंधी कोई जानकारी है या जिन्होंने अपने मोबाइल फोन या कैमरे में कोई गतिविधि कैद की है, उनसे अपील की जाती है कि वे आगे आएं और कामकाजी घंटों के दौरान आईटीओ स्थित पुलिस मुख्यालय की दूसरी मंजिल पर कमरा नंबर 2015 में अपने बयान दर्ज कराएं या फुटेज एवं तस्वीर जमा कराएं या फिर पुलिस को फोन या ईमेल के जरिए इसकी जानकारी दें।
के तीन नए कृषि कानूनों के विरोध में प्रदर्शन कर रहे किसान संगठनों की मांग को रेखांकित करने के लिए मंगलवार को हुई ट्रैक्टर परेड उस समय हिंसक हो गई थी, जब प्रदर्शनकारी निर्धारित मार्ग छोड़कर अन्य मार्गों पर चले गए, उन्होंने पुलिसकर्मियों पर हमला किया, वाहन पलट दिए और लाल किले की प्राचीर पर एक धार्मिक झंडा लगाया।
पुलिस ने गुरुवार को किसान नेताओं के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी किए और इस हिंसा के पीछे के षड्यंत्र की जांच शुरू करने की घोषणा की। पुलिस ने इस मामले में अब तक 33 प्राथमिकी दर्ज की है और 44 लोगों के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी किए हैं।

पुलिस के अनुसार दोपहर बाद प्रदर्शनकारी किसानों और बाहर से आए कुछ लोगों के बीच हिंसक झड़प हुई। हालात पर काबू पाने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज किया है और आंसू गैस के गोले छोड़े हैं। बताया जा रहा है स्थानीय लोगों का दावा करने वाले समूह किसानों को सिंघु बॉर्डर से हटाने की मांग कर रहे थे। इस दौरान दोनों समूह आपस में भीड़ गए। दोनों तरफ से पथराव भी हुआ।
गौरतलब है पिछले दो महीने से अधिक समय से सिंघु बॉर्डर पर को वापस करने की मांग को लेकर बड़ी संख्या में किसान आन्दोलन कर रहे हैं।(भाषा)



और भी पढ़ें :