नक्सलियों का खतरनाक एजेंडा, 2050 तक लोकतंत्र का खात्मा...

संदीपसिंह सिसोदिया|
FILE
भारत में वर्तमान में माओवाद-एक बहुत बड़ी समस्या बनकर उभर रहा है। विदेशी मीडिया भी इसे एक ज्वलंत और बड़ी समस्या मानते हुए इस मुद्दे को सुलझाने में भारत सरकार के नाकाफी प्रयासों की काफी आलोचना कर रहा है।

इस विषय पर पढ़े खास रिपोर्ट : भारत में फैलता लाल गलियारा

हां, की आग से डरे पश्चिमी देश जरूर इस मुद्दे पर भारत के साथ कुछ हद तक हमदर्दी जता रहे हैं और साथ ही चेता भी रहे हैं कि अगर सही समय पर इस समस्या का हल नहीं निकला तो परिणाम न केवल भारत बल्कि पूरे विश्व के लिए घातक सिद्ध हो सकते हैं। इसकी वाजिब वजह भी है, पशुपतिनाथ से लेकर कन्याकुमारी तक 'लाल गलियारा' अब पूरे दक्षिण एशिया पर प्रभुत्व जमाने का ख्वाब देख रहा है। आखिर क्या है माओवा‍दियों का गुप्त एजेंडा... आगे पढ़ें...



और भी पढ़ें :